सर्दियों में सलाद, पराठे और सब्‍जी के रूप में लगभग हर घर में मूली खाई जाती है। क्‍या आप जानते हैं कि मूली सिर्फ खाने में ही स्‍वादिष्‍ट नहीं होती बल्कि आपकी हेल्‍थ के लिए भी बहुत फायदेमंद है। मूली में क्लोरीन, फास्फोरस, सोडियम और मैग्नीशियम पाया जाता है। इसके अलावा इसमें विटामिन ए, बी और सी भी होता है। जी हां दिखने में मामूली लगने वाली मूली औषधीय गुणों से भरपूर होती है। अगर आप रोजाना इसे अपनी डाइट में शामिल करेंगी तो आप डायबिटीज, पेट की प्रॉब्‍लम्‍स, ब्‍लड प्रेशर, कैंसर आदि कई बीमारियों से कोसों दूर रहेंगी। आइए जानें मूली हमारी हेल्‍थ के लिए कितनी फायदेमंद होती है।

पौष्टिक तत्वों से भरपूर

10 ग्राम मूली में 0.1 ग्राम फैट, 4.1 ग्राम कार्बोहाइड्रेट, 1.6 ग्राम डाइट्री फाइबर, 2.5 ग्राम शुगर, 0.6 ग्राम प्रोटीन, 36 प्रतिशत विटमिन सी, 2 प्रतिशत कैल्शियम, 2 प्रतिशत आयरन, 4 प्रतिशत मैग्नीशियम होता है। जी हां मूली में बहुत सारे पौष्टिक तत्‍व होते हैं जो आपकी पूरी बॉडी के लिए बेहद ही फायदेमंद होते है।

Read more: सर्दियों में महिलाओं की हेल्‍थ का पहरेदार है तिल का तेल, जानें इसके 9 फायदे

पाचक का काम करती है मूली
mooli for stomach inside

पेट के लिए मूली बहुत फायदेमंद होती है। मूली एक पाचक की तरह काम करती है। पेट की कई बीमारियों में मूली का रस बहुत फायदेमंद होता है। अगर पेट में भारीपन महसूस हो रहा हो तो मूली के रस को नमक में मिलाकर पीने से आराम मिलता है। ताजी मूली खाने से पाचन शक्ति बढ़ती है। इसके अलावा, मूली पित्त उत्पादन को बढ़ावा देने के लिए जानी जाती है। पित्त पाचन के सबसे महत्वपूर्ण भागों में से एक है। इससे आपकी पाचन क्रिया सही रहती है। पेट संबंधी रोगों में अगर मूली के रस में अदरक का रस और नींबू मिलाकर पिएं तो भूख बढ़ती है।

बॉडी डिटॉक्‍स करें

मूली किडनी हेल्‍थ के लिए बहुत अच्छी होती है क्‍योंकि इसे खाने से बॉडी आसानी से डिटॉक्‍स हो जाती है। इसमें डाइयूरेटिक गुण होने के कारण इसे नेचुरल क्लिंजर कहा जाता है। इसके अलावा मूली में फाइबर ज्यादा होता है, जो कब्ज के लिए रामबाण है। यह आंतों को हेल्‍दी रखता है।

बीपी में फायदेमंद है मूली
mooli for blood pressure inside

मूली में एंटी हाइपरटेंसिव गुण पाया जाता है, जो ब्‍लड प्रेशर को कंट्रोल करने में हेल्‍प करती है। इसके अलावा मूली में पर्याप्त मात्रा में पोटैशियम भी होता है, जो बॉडी में सोडियम और पोटैशियम के अनुपात को बैलेंस करते हुए ब्लड प्रेशर बिगड़ने नहीं देता। अगर आप भी बीपी से परेशान हैं तो अपनी डाइट में मूली को शामिल करें।

Read more: रोजाना करी पत्ता खाएं- वजन घटाएं, तेज आंखें और काले बाल पाएं

लिवर के लिए फायदेमंद

मूली खाने से लिवर की क्रिया बेहतर होती है। लिवर की परेशानी होने पर रेगुलर अपने भोजन में मूली का सेवन करना चाहिए। साथ ही पीलिया रोग में भी ताजी मूली का प्रयोग बहुत ही उपयोगी होता है। रेगुलर रूप से 1 कच्ची मूली सुबह खाने से कुछ ही दिनों में पीलिया रोग ठीक हो जाता है।

पाइल्स में फायदेमंद

पाइल्स के मरीजों को कच्ची मूली का ही सेवन करना चाहिए। आप चाहें तो इसे घिसकर खा सकती हैं। या फिर इसका रस निकालकर भी पी सकती हैं। लेकिन मूली के रस का सेवन करने से पहले एक बार डॉक्टर की सलाह जरूर ले लें। पाइल्‍स के रोगियों को अक्‍सर मूली खाने की सलाह दी जाती है क्‍योंकि इसमें बहुत अधिक मात्रा में घुलनशील फाइबर पाए जाते हैं जो मल को मुलायम करने और डाइजेशन को सही रखने में हेल्‍प करती है। यह पाइल्‍स के दौरान पैदा होने वाले दर्द और सूजन को कम करती है। इसके अलावा मूली ठंडक देने का काम करती है, जिससे जलन में भी राहत मिलती है। पाइल्स के मरीजों को कच्ची मूली का सेवन ही करना चाहिए।
तो देर किस बात की इन सर्दियों आप भी अपनी डाइट में इसे शामिल करें और हेल्‍दी रहें।

 

  • Pooja Sinha
  • Her Zindagi Editorial