आप सभी ने कभी न कभी व्रत के दौरान सामक चावल का इस्तेमाल जरूर किया होगा। चावल की तरह दिखने वाली यह सामग्री वास्तव में अनाज न होकर एक फलाहार के रूप में ग्रहण की जाती है। सामक चावल का इस्तेमाल व्रत के दौरान एनर्जी देता है और पूरे दिन शरीर को एक्टिव रखने में मदद करता है। यही नहीं विभिन्न पोषक तत्वों से भरपूर ये खाद्य पदार्थ शरीर की कई समस्याओं से निजात दिलाने में भी मदद करता है।

कभी हड्डियों को मजबूत बनाना, तो कभी वजन को नियंत्रित करने जैसी खूबियों से भरपूर इस सामक चावल में कई पोषक तत्व मौजूद होते हैं। आइए नई दिल्ली की जानी मानी डॉक्टर आकांक्षा अग्रवाल (B.H.M.S) से जानें व्रत के दिनों में इस्तेमाल किए जाने वाले इस चावल के स्वास्थ्य के लिए कुछ बेहतरीन फायदों के बारे में।  

आयरन से भरपूर 

samak rice benefits

सामक चावल में भरपूर मात्रा में आयरन तत्व मौजूद होते हैं। इसी वजह से इसका सेवन व्रत के अलावा भी करने से शरीर में आयरन की कमी की आपूर्ति होती है। अनीमिया से ग्रस्त लोगों को इस चावल को अपनी नियमित डाइट में जरूर शामिल करना चाहिए। 

Recommended Video

पाचन में सहायक 

लोकप्रिय भारतीय उपवास खाद्य उत्पाद सामक चावल प्रतिरोधी स्टार्च का एक समृद्ध स्रोत है, जो पाचन स्वास्थ्य को बेहतर बनाने में मदद करता है। इसमें फाइबर की भरपूर मात्रा पाई जाती है जो शरीर की पाचन क्रिया को दुरुस्त रखती है। इसे अपनी डाइट में शामिल करने से कब्ज की समस्या से छुटकारा मिलता है। यह चावल स्वस्थ आंत बैक्टीरिया के विकास को बढ़ावा देने में मदद करता है। उच्च फाइबर तत्व होने की वजह से यह मल त्याग की प्रक्रिया को आसान बनाने में मदद करता है।

मधुमेह नियंत्रण में सहायक 

diabetes control samak rice

सामक चावल की कार्बोहाइड्रेट सामग्री स्वास्थ्य के लिए लाभप्रद है और ये धीरे-धीरे डाइजेस्ट होती है। सामक में कार्बोहाइड्रेट के लिए एक कम ग्लाइसेमिक इंडेक्स बनता है जो एमिलेज के प्रतिगामी कार्रवाई की एक उच्च डिग्री को दर्शाता है जो प्रतिरोधी स्टार्च की उच्च मात्रा के गठन की सुविधा प्रदान करता है। इसलिए इसे मधुमेह रोगियों के लिए संभावित रूप से ग्रहण करने का सुझाव दिया जाता है। आज के परिदृश्य में कार्डियो वैस्कुलर रोग और मधुमेह के लिए  सामक चावल एक आदर्श भोजन की तरह एक बन गया है। मधुमेह नियंत्रण और इस समस्या को कम करने के लिए आप भी इसे अपने नियमित आहार में शामिल कर सकते हैं। 

वजन नियंत्रित करे 

weight control diet

कैलोरी में कम होने और पचने की उच्च क्षमता की वजह से सामक चावल वजन नियंत्रण में सहायक है। यह पचने योग्य प्रोटीन का एक अच्छा स्रोत है और एक ही समय में अन्य सभी अनाजों  की तुलना में कम से कम कैलोरी वाला है। यह शरीर को लम्बे समय तक हल्का और ऊर्जावान महसूस करता है। इसके उपभोग के बाद शरीर को 75 कैलोरी और 1.5 ग्राम प्रोटीन की मात्रा मिलती है। इसके सेवन के बाद काफी देर तक पेट भरा हुआ महसूस होता है। जिसकी वजह से अतिरिक्त भोजन और मोटापा का खतरा कम हो जाता है। 

इसे जरूर पढ़ें:दुबली-पतली महिलाएं वजन बढ़ाने के लिए खाएं ये फूड्स, जल्‍द दिखेगा असर

फाइबर से भरपूर 

फाइबर में समृद्ध यह घुलनशील और अघुलनशील दोनों प्रकार के अनाज की एक अच्छी मात्रा के साथ आहार फाइबर का एक उत्कृष्ट स्रोत है। अन्य अनाजों  की तुलना में यह फाइबर की उच्चतम मात्रा को संकुचित करता है। इसके थोड़ी मात्रा में उपभोग करने से 2.4 ग्राम फाइबर प्रदान करने वाली सेवा के साथ काम करता है। एक रिसर्च के अनुसार सामक की आहार फाइबर सामग्री घुलनशील और अघुलनशील अंश सहित शरीर को स्वस्थ रखने में मदद करती है। 

हड्डियों को मजबूत बनाए 

bones health samak

सामक चावल में मौजूद प्रोटीन और कैल्शियम की भरपूर मात्रा हड्डियों सम्बन्धी कई समस्याओं से निजात दिलाने में मदद करती है। इसके सेवन से ऑस्ट्रिओपोरोसिस जैसी हड्डियों सम्बन्धी बीमारियों का खतरा काफी हद तक कम हो जाता है। इस सामग्री को नियमित आहार का हिस्सा बनाने से हड्डियों को मजबूती मिलती है। बच्चों के लिए भी इसका सेवन लाभदायक है। 

विभिन्न गुणों से भरपूर सामक चावल का इस्तेमाल व्रत के अलावा भी करना लाभदायक है। लेकिन स्वास्थ्य संबंधी कोई अन्य समस्या होने पर इसके सेवन से पहले विशेषज्ञ की सलाह जरूर लें। 

अगर आपको यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे शेयर जरूर करें। इसी तरह के अन्य रोचक लेख पढ़ने के लिए जुड़ी रहें आपकी अपनी वेबसाइट हरजिन्दगी के साथ।

Image Credit:pintrest and freepik