सर्दियां आने को हैं और कई लोगों के लिए सेहत बनाने का मौका भी सर्दियों में आता है और अगर इनमें ध्यान न रखा जाए तो कई लोगों की सेहत सर्दियों में बिगड़ भी सकती है। सर्दियों में हमेशा ये समस्या होती है कि आम सर्दी-खांसी-बुखार हमें जकड़ लेता है और कोरोना के इस टाइम में ऐसी समस्या सही नहीं है। ऐसे में ये बहुत जरूरी होता है कि हम अपनी डाइट का पूरा ख्याल रखें। कई बार हमारी डाइट हमें इन बीमारियों के खतरे से बचा सकती है। 

सर्दियों की आम समस्याएं जैसे विटामिन डी की कमी, जोड़ों का दर्द, सर्दी, खांसी, बुखार आदि दिक्कत तो देती ही हैं और कोरोना के साथ-साथ ये समस्याएं और भी विकराल लगने लगी है। ऐसे में सेलेब न्यूट्रिशनिस्ट रुजुता दिवेकर ने अपने इंस्टाग्राम अकाउंट पर 10 सुपर फूड्स की जानकारी दी है जो सर्दियों की कई समस्याओं से छुटकारा दिला सकते हैं और इतना ही नहीं ये स्किन और बालों की सेहत को भी ठीक कर सकते हैं। 

1. बाजरा

रुजुता के मुताबिक बाजरा ऐसा अनाज है जिसमें फाइबर, विटामिन बी और अन्य प्रोटीन भरपूर है जो आपको मसल वेट बढ़ाने में मदद कर सकता है। अगर ब्यूटी के एंगल से देखा जाए तो ये फ्रिजी बालों को स्वस्थ और शाइनी बना सकते हैं और साथ ही बालों की वॉल्यूम भी बढ़ा सकते हैं। बाजरे को अपनी डाइट में शामिल करने के लिए आप भाकरी, बाजरे के लड्डू, बाजरे की खिचड़ी, भाजानी थालीपीठ आदि को ले सकते हैं। सर्दियों के लिए ये बहुत अच्छा विकल्प साबित होगा। 

bajra superfood

इसे जरूर पढ़ें- रुजुता दिवेकर की इस खास डाइट से मिलेगी ग्लोइंग स्किन और शाइनी हेयर

2. गोंद

गोंद का इस्तेमाल अपनी डाइट में किया जाए क्योंकि इससे ज्वाइंट पेन काफी हद तक कम होता है। ये हमारे ज्वाइंट्स को ल्यूब्रिकेट करता है और साथ ही साथ अगर आपकी हड्डियों में कुछ समस्याएं हो रही हैं तो उसे भी ठीक कर सकता है। अगर किसी को गैस की समस्या है या फिर मेंस्ट्रुअल प्रॉबलम है तो भी गोंद काफी मददगार साबित हो सकता है। इसे अक्सर लोग अपनी डाइट में शामिल नहीं करते हैं, लेकिन इससे न सिर्फ सेक्स ड्राइव अच्छी हो सकती है बल्कि डाइजेशन की समस्या भी कम होगी। इसे गोंद के लड्डू के फॉर्म में लेना बेहतर होगा। 

3. हरी सब्जियां

रुजुता के मुताबिक इस मौसम में हरा लहसुन सबसे बेहतर हो सकता है। जिन्हें हाथ और पैरों में जलन हो रही है या फिर वर्क फ्रॉम होम से जुड़ी कुछ समस्याएं हो रही हैं तो आपके लिए बेहतर होगा कि हरा लहसुन लें। ये पूरे साल में इसी वक्त मिलेगा और इसकी भाजी को चटनी, सब्जि आदि में इस्तेमाल किया जा सकता है। इसी के साथ, पालक, मेथी, सरसों, पुदीना आदि तो अपनी डाइट में शामिल जरूर करें।  

gree veges super food

4. कंद और जड़ों वाली सब्जियां 

यहां जड़ों वाली सब्जियों से हम सिर्फ आलू से ही नहीं है। यहां कंद आदि की बात हो रही है जो न सिर्फ हमारी बॉडी में गुड बैक्टीरिया को प्रमोट करेगा बल्कि इससे फाइबर आदि की पूर्ति भी शरीर में होगी। कंद को अपनी डाइट में शामिल करने से वेट लॉस भी होता है और आंखों की हेल्थ भी बेहतर होती है। आप इसके लिए टिक्की आदि बना सकते हैं। सब्जियां रख सकते हैं और साथ ही साथ उंदियो जैसी कोई डिश या सिर्फ इसे रोस्ट करके भी अपनी डाइट में शामिल कर सकते हैं।  

5. सीजनल फल 

रुजुता ने सीजनल फलों का महत्व बताया और यकीनन हमारे घरों में भी हम सुनते आ रहे होंगे कि किस तरह से सीजनल फल सेहत के लिए अच्छे होते हैं। सीताफल, पेरू, सेब, खुर्मानी आदि सर्दियों के फल कई सारे माइक्रोन्यूट्रिएंट्स और फाइबर के साथ होते हैं और ये स्किन को काफी हाइड्रेटिंग बना सकते हैं।  

 
 
 
View this post on Instagram

1. Bajra - as bhakri, laddoo, Khichdi, bhajani thalipeeth, etc. Rich in B vitamins, promotes muscle gain, boosts hair growth. 2. Goond - as laddoo or goond paani, roasted in ghee and sprinkled with sugar. Great for bones, improves sex drive, good digestive aid. 3. Green vegetables - Palak, methi, sarson, pudina and especially green lasun - anti-inflammatory, reduces burning in hands & feet. 4. Kand - root veggies of all kinds - as tikkis, sabzis, speicality dishes like undhiyo, roasted and eaten with seasoning of salt & chilli powder. Prebiotic, aids weight loss, improves digestion & assimilation of nutrients. 5. Seasonal fruits - Sitaphal, Peru, Apple, Khurmani. Enjoy them ripe, eat fresh & whole after washing. Good mid meal. Rich in micronutrients and fibre, helps with hydration of skin. 6. Til - as chiki, laddoo, chutney, seasoning. Rich in essential fatty acids, Vit E. Good for bones, skin, hair. 7. Peanuts - Have them boiled or roasted, turn them into a chutney, use them for seasoning salads & sabzis. Amongst world’s healthiest foods, rich in Vit B, amino acids, polyphenols. Good for heart. 8. Ghee - Cook in ghee, add ghee to dals, rice, bhakri, bhatis, rotis. Helps with assimililation of Vit D, taste enhancer. 9. White butter - Dollop on bhakri or bhajani thalipeeth, added to saags & dals in winters. Helps with joint lubrication, skin hydration, bone health, critical for #wfh induced load on neck & spine, reduces gas. 10. Kulith - Made into a paratha, soup, dal etc. Prevents kidney stones, beats bloating, good source of protein, fibre & micro-nutrients.

A post shared by Rujuta Diwekar (@rujuta.diwekar) onOct 20, 2020 at 8:59pm PDT

 

इसे जरूर पढ़ें- रुजुता दिवेकर के इन 5 फूड टिप्स को अपनाने से बच्चे और टीनएज किड्स रहेंगे स्वस्थ 

6. तिल 

तिल और गुड़ खाने का महत्व तो हमें पता ही होगा। सर्दियों में तिल के लड्डू और गजक आदि को अपनी डाइट में हम वैसे भी शामिल करते हैं और ये फैटी एसिड्स, विटामिन ई आदि से भरपूर रहते हैं। ये स्किन के लिए, हड्डियों के लिए और बालों के लिए बहुत अच्छे साबित हो सकते हैं।  

Recommended Video

7. मूंगफली 

मूंगफली के फायदों के बारे में तो आपको पता ही होगा। इन्हें आप स्नैक्स की तरह, चटनी की तरह या अपनी कई रेसिपीज में शामिल कर सकते हैं। ये प्रोटीन से भरपूर होती हैं और विटामिन बी भी बहुत ज्यादा होता है इनमें। मूंगफली में अमीनो एसिड और पोलिफेनोल्स होते हैं जो सेहत को बेहतर रखने में मदद करते हैं।  

8. घी 

सर्दियों में घी खाने के बहुत फायदे हैं और दाल, चावल, रोटी आदि के साथ घी को अपनी डाइट में जरूर शामिल करना चाहिए। घी को गुड फैट माना जाता है और ये विटामिन और मिनरल्स का बहुत अच्छा सोर्स है।

ghee superfood

9. सफेद मक्खन 

जी यहां पर बाज़ार में मिलने वाले मक्खन की बात नहीं हो रही है। सफेद मक्खन जिसमें कोई केमिकल नहीं एड होता है और इसे घर पर बनाया जा सकता है। इसे साग आदि के साथ खाया जाए तो ये वर्क फ्रॉम होम की वजह से होने वाले गले और पीठ के दर्द में भी राहत दे सकता है और साथ ही साथ ज्वाइंट ल्यूब्रिकेशन और स्किन हाइड्रेशन में भी मददगार साबित हो सकता है।  

10. कुलीथ 

कुलीथ एक तरह की दाल होती है जिसे हॉर्सग्राम भी कहा जाता है। इस दाल का पराठा, सूप, आटा, दाल आदि बनाएं। ये प्रोटीन और फाइबर में बहुत ही बेहतर होती है और इससे किडनी स्टोन्स या ब्लोटिंग जैसी समस्याओं में भी राहत मिलती है। तो अपने किचन में इस दाल को भी जरूर शामिल करें।  

तो न्यूट्रिशनिस्ट की सलाह मानिए और इन सुपरफूड्स को अपनी डाइट में शामिल करिए। अगर आपको ये स्टोरी अच्छी लगी तो इसे शेयर जरूर करें। ऐसी ही अन्य स्टोरी पढ़ने के लिए जुड़े रहें हरजिंदगी से।