कोरोना वायरस महामारी से बचने के लिए हममें से ज्‍यादातर लोग रेगुलर सैनिटाइज और मास्‍क के साथ सोशल डिस्टेंसिंग को अपना रहे हैं। साथ ही वायरस और इन्‍फेक्‍शन्‍स से लड़ने के लिए इम्‍यून सिस्‍टम को मजबूत बनाना बेहद जरूरी होता है। एक हेल्‍दी इम्‍यूनिटी का निर्माण करके आंतरिक सुरक्षा को सुनिश्चित किया जा सकता है और इसके लिए आपको अपनी किचन में कुछ हेल्‍दी बदलाव करने होंगे। छोटे बदलावों से बड़े परिणाम देखने को मिल सकते हैं। लॉकडाउन के दौरान अपने शरीर को अच्छी स्थिति में रखना और स्वास्थ्य को प्राथमिकता देना बेहद जरूरी है। गेहूं से लेकर बाजरा, चीनी से लेकर लो-कैलोरी स्वीटनर, मिल्क से लेकर वेजिटेबल जूस या स्मूदी तक, आप कुछ बदलाव करके बेहतर हेल्‍थ पा सकती हैं। आइए जानें हेल्‍दी रहने के लिए किचन में कौन से बदलाव करने चाहिए।

इसे जरूर पढ़ें: महिलाओं की कुकिंग को आसान बना देंगे ये 7 बेस्‍ट किचन टिप्‍स

चीनी की जगह शहद या ब्राउन शुगर लें

regular  kitchen  staples inside

बहुत कैलोरी से बचने के लिए अपनी डाइट में चीनी की जगह लो कैलोरी स्‍वीटनर जैसे शहद, ब्राउन शुगर या गुड का सेवन करें। ब्राउन शुगर में कई प्रकार के लवण मौजूद होते हैं जो इम्यूनिटी को बढ़ाने का काम करते हैं। ये बीमारियों से भी बचाते हैं। साथ ही शहद न केवल दिल के लिए अच्छा होता है बल्कि यह वजन कम करने में भी मदद करता है। इसके अलावा चीनी का सबसे बेहतरीन विकल्प गुड़ है। आप चाहें तो गुड़ को हर चीज में मि‍ठास के लिए इस्तेमाल कर सकती हैं। यह खून बढ़ाने में मददगार होता है। साथ ही इसके इस्तेमाल से पाचन क्रिया भी बेहतर होती है। चीनी की जगह इन चीजों के इस्‍तेमाल से आपकी इम्‍यूनिटी भी मजबूत होती है। 

ऑयल की जगह घी

regular  kitchen  staples inside

अपने रेगुलर ऑयल की जगह जैतून या अलसी के तेल जैसे हेल्‍दी विकल्पों को बदलें और आज़माएं। ट्रेडिशनल घी भी आपके लिए एक अच्‍छा विकल्‍प हो सकता है। ऐसा इसलिए क्‍योंकि यह हेल्‍दी फैट से भरपूर होता है और पूरी तरह से नेचुरल है। घी में ओमेगा -6, ओमेगा -3 फैटी एसिड और विटामिन ए, डी, ई, और के मौजूद होते हैं। क्या आप जानती हैं कि जो लोग लैक्टोज असहिष्णु हैं उनके लिए भी घी एकदम सही होता है।

जंक स्‍नैक्‍स की जगह हेल्‍दी कार्ब्‍स

makhana

अनहेल्‍दी जंक फूड्स को रेगुलर खाने से स्‍ट्रोक, दिल की बीमारियों, टाइप 2 डायबिटीज और मोटापा सहित कई समस्‍याओं का खतरा बढ़ जाता है। साथ ही इनमें सोडियम का लेवल हाई होता है। इसकी जगह आप ड्राई फ्रूट्स, फल, पॉपकॉर्न और मखाने जैसे हेल्‍दी स्‍नैक्‍स ले सकती हैं। यह क्रेविंग को कम करता है और खराब कार्ब्स लेने से बचने में मदद करता है।

Recommended Video

सॉफ्ट ड्रिंक की जगह फल लें

these fruit seeds

सॉफ्ट ड्रिंक में आर्टिफिशियल फ्लेवर और चीनी की मात्रा बहुत ज्‍यादा होती है। क्या आप जानती हैं कि ये कार्बोनेटेड ड्रिंक शरीर पर प्रतिकूल और कठोर प्रभाव पैदा करते हैं? जी हां गर्मियों के मौसम में प्यास बहुत ज्‍यादा लगती है और ज्‍यादातर लोग गले को तर करने के लिए सॉफ्ट ड्रिंक लेते हैं। अगर आप भी ऐसा करती हैं तो सावधान हो जाएं। यह सॉफ्ट ड्रिंक्स आपको मोटा और डायबिटीज का रोगी बनाने के साथ आपके दिल को नुकसान पहुंचा सकते हैं। साथ ही इससे आपकी इम्‍यूनिटी कमजोर होती है। इससे बचे रहने के लिए आप ड्रिंक में बदलाव लाएं और ताजा, मौसमी फलों और सब्जियों के ड्रिंक्स लें। इससे आपके शरीर में पानी का लेवल भी बना रहेगा और आप खुद को हेल्‍दी और एनर्जी से भरपूर पाएंगी।

इसे जरूर पढ़ें: किचन में काम को आसान बनाएंगे ये 5 टिप्‍स और बचेगा आपका बहुत सारा टाइम

साधारण की जगह सेंधा नमक लें

rock salt health

हम में से ज्‍यादातर लोगों की किचन में साधारण नमक मौजूद होता है। लेकिन क्‍या आप जानती हैं कि जहां एक ओर साधारण नमक रिफाइंड किया गया होता है वहीं सेंधा नमक दरदरा पिसा होता है। साधारण नमक में सोडियम की मात्रा अधिक होने के कारण यह हेल्‍थ को नुकसानपहुंचाता है। इसके मुकाबले सेंधा नमक कम खारा और आयोडीन मुक्त होता है। इसमें सोडियम की मात्रा कम, पोटेशियम और मैग्नीशियम की मात्रा ज़्यादा पाई जाती है जो हार्ट के लिए काफी फायदेमंद होता है। इसके अलावा नमक का सेवन कम मात्रा में करें। अधिक नमक खाने से इम्यून सेल्स बैक्टीरिया को जल्द और बुरी तरह से खराब करतेे हैंं।

किचन में इन हेल्‍दी और छोटे-छोटे बदलावों को करके आप भी अपनी इम्‍यूनिटी को मजबूत बना सकती हैं। डाइट से जुड़ी ऐसी ही जानकारी पाने के लिए हरजिंदगी से जुड़ी रहें।