वन्यजीव पृथ्वी के लिए एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है, क्योंकि यह वैज्ञानिक रूप से पर्यावरण को संतुलित करता है और प्राणियों के बीच सामंजस्यपूर्ण सह-अस्तित्व सुनिश्चित करता है। भारतीय वन्यजीव अभयारण्य जानवरों की ऐसी दुर्लभ और सुंदर प्रजातियों का घर है जो केवल हमारे देश में ही पाए जा सकते हैं। इन जानवरों को आपने पहले कभी नहीं देखा होगा। आइए ऐसी ही दुर्लभ और सुंदर प्रजातियों के बारे में जानें।

Lion-tailed macaque

long tailed monkey

दक्षिण भारत के पश्चिमी घाटों में यह पुरानी दुनिया के बंदर पाए जाते हैं। इसका मुंह, चेहरे पर बाल और पूंछ शेर की तरह होने के कारण इसे Lion-tailed macaque नाम दिया गया है। केरल के कोल्लम जिले में संरक्षित क्षेत्र शेंदुरनी वन्यजीव अभयारण्य, इस जैसी तमाम एंडेंजेर्ड प्रजातियों की सुरक्षा करता है। अभयारण्य की यात्रा के दौरान, आप यहां कैंपिंग कर सकते हैं और इस विचित्र जानवर को देख सकते हैं।

कश्मीरी रेड स्टैग

red stag

कश्मीर स्टैग, जिसे हंगुल भी कहा जाता है, एल्क की एक उप-प्रजाति है। इसे गंभीर रूप से लुप्तप्राय और दुर्लभ प्रजातियों की लिस्ट में डाला गया है। इनके शानदार एंटीलर्स होते हैं। यह जम्मू और कश्मीर का राज्य पशु है। 1900 के दशक में, जम्मू और कश्मीर और हिमाचल प्रदेश में इन प्रजातियों की लगभग 3,000-5,000 संख्या पाई गई थी। लेकिन आज यह कुल 150 के आसापस हैं।  

इसे भी पढ़ें:तक़रीबन 36 बार आग लगने के बाद भी इस पैलेस की रौनक है बरक़रार

Pygmy Hog 

pygmy hog

यह दुर्लभ जानवर भी लुप्तप्राय प्रजाति में आता है। यह भारत के उत्तर पूर्वी राज्य असम में पाया जाता है। यह सबसे छोटे पिग और पिगलेट्स होते हैं और यह उन मैमल्स में से एक हैं जो अपना घर बनाते हैं। धीरे-धीरे लुप्त होते इस प्रजाति की अब 150 संख्या रह गई है। अगर आपको भी कभी इस दुर्लभ प्रजाति को देखना हो, तो आप असम की सैर कर सकती हैं।

Nilgiri Tahr

nilgiri tahr

यह एक प्रकार की जंगली बकरी है। यह पश्चिमी घाट के ट्रॉपिकल रेनफॉरेस्ट में पाया जाता है। इनके घुमावदार सींग होते हैं और मोटे और छोटे फर होते हैं। यह बड़े पैमाने पर एराविकुलम राष्ट्रीय उद्यान (इडुक्की जिले) में पाए जाते हैं। वहां लगभग 700-800 Nilgiri Tahr रहते हैं। 

इसे भी पढ़ें:भारत के सबसे अनोखे होटल्स में से एक उदयपुर के इस जल महल के बारे में जानें

ब्लैक बक

black buck

यह भारतीय मृग के रूप में भी जाना जाता है, ब्लैक बक को भारतीय राज्यों पंजाब, हरियाणा और आंध्र प्रदेश के राज्य पशु का दर्जा प्राप्त है। सर्पिल सींग और आकर्षक रंग के साथ, इस जानवर भोला प्रजाति का माना जाता है। इन्हें देखने के लिए, आप कॉर्बेट नेशनल पार्क (उत्तराखंड), वेलवदर ब्लैकबक नेशनल पार्क (गुजरात) और कान्हा नेशनल पार्क (मध्य प्रदेश) जा सकते हैं।

Recommended Video

Indian Bison

indian bison

इन्हें गौर भी कहा जाता है। यदि आप दुर्लभ भारतीय बाइसन की झलक चाहती हैं, तो केरल का चिन्नार वन्यजीव अभयारण्य और चेन्नई का अरिग्नार अन्ना प्राणी उद्यान एकदम सही जगह है। इनका बड़ा शरीर और विशाल शरीर होता है। यह बहुत ताकतवर होते हैं।

रेड पांडा

redpanda

रेड पांडा एक छोटा स्तनपायी जानवर है जो आमतौर पर बांस के पेड़ों पर सोते और खेलते हुए पाया जाता है। बड़ी-बड़ी आंखों वाले इस पांडा को रेड-कैट बीयर के नाम से भी जाना जाता है। इस जानवर को आप अरुणाचल प्रदेश और सिक्किम के जंगलों में देख सकती हैं। अगर इस प्यारे से जानवर का चंचल व्यवहार देखना हो, तो आप अरुणाचल या सिक्किम जा सकती हैं। इसके अलावा, पश्चिम बंगाल के Khangchendzonga and Namdapha नेशनल पार्क में भी यह पाया जाता है।
 
अगर आपको ये स्टोरी पसंद आई हो तो इसे शेयर जरूर करें। ऐसी ही अन्य स्टोरी पढ़ने के लिए जुड़े रहें हरजिंदगी से।
 
Image Credit : freepik and shutterstock