रमजान के पवित्र महीने की शुरुआत हो चुकी है। रमजान में मुस्लिम धर्म के लोग 30 दिनों के लिए उपवास रखते हैं, जिसे रोजा कहते हैं। इस्लामिक कैलेंडर के अनुसार, नौ महीने पूरे होने पर रमजान का पवित्र महीना आता है। इस्लाम के मुताबिक, इस पवित्र महीने में रोजा (व्रत) रखने से अल्लाह सभी दुआएं कबूल करते हैं और इंतकाल के बाद बंदे को जन्नत नसीब होती है। 

इस्लामिक मान्यताओं के अनुसार रमजान में दो समय ही भोजन किया जाता है। एक बार सेहरी (भोर) और दूसरा इफ्तारी (सूर्यास्त के बाद)! इस्लाम के मुताबिक, जो वयस्क और बच्चे मानसिक और शारीरिक रूप से स्वस्थ होते हैं उन्हें रोजा रखना होता है। इस्लाम में बुजुर्गों, बीमार लोगों, गर्भवती, स्तनपान कराने वाली महिलाएं और पीरियड्स आने पर महिलाओं को रोजा रखने से छूट दी जाती है।

रमजान के दौरान स्वच्छ और स्वस्थ भोजन खाना बेहद जरूरी होता है। आज हम आपके लिए सेहरी और इफ्तारी के लिए कुछ ऐसी आसान रेसिपीज लेकर आए हैं जो स्वादिष्ट तो हैं ही, साथ ही आपको स्वस्थ भी रखेंगी।

हैदराबादी खीर गुल-ए-फिरदौस का उठाएं आनंद

hyderabadi kheer

इफ्तारी में हैदराबादी खीर का सेवन आपका दिल खुश कर देगा। गुल-ए-फिरदौस हैदराबाद की खीर है। हैदराबादी खीर को बनाना बेहद ही आसान है और यह खाने में भी बेहद ही स्वादिष्ट है। हैदराबादी खीर को बनाने के लिए साबूदाना, दूध, चावल, लौकी, मलाई और मेवे की जरूरत पड़ती है। इस चीजों के अलावा हैदराबादी खीर में इलायची, केसर और गुलाब जल भी मिलाया जाता है। इससे खीर का स्वाद दोगुना हो जाता है। आप इस डिश को इफ्तारी या ईद पर बना सकते हैं। यकीन मानिए गुल-ए-फिरदौस को खाकर मेहमान भी आपकी तारीफों के कसीदे पढ़ने लगेंगे।

इसे भी पढ़ें: रमजान के रोजे के दौरान आपको गर्मी से बचाएंंगी ये 5 चीजें

जर्दे की मिठास जीत लेगी दिल

sweet zarda

रमजान के पवित्र महीने में लोग जर्दा खाना बहुत पसंद करते हैं। जर्दा बनाने के लिए चावल, मेवा, घी, खोया और चीनी का इस्तेमाल किया जाता है। जर्दे का स्वाद हर किसी को पसंद आता है। इसमें जाफरानी रंग भी मिलाया जाता है। खासतौर से पुलाव या बिरयानी के साथ जर्दा खाया जाता है। सबसे बड़ी बात है कि यह बहुत जल्द बनकर तैयार हो जाता है और खाने में भी बेहद टेस्टी होता है। आप भी रमजान में घर पर ही जर्दा जरूर बनाएं। 

शाही टुकड़ा का स्वाद उम्रभर रहेगा याद

shahi tukda

रमजान में सुबह उठना सबसे बड़ा काम होता है। कई लोग जल्दी में सेहरी ठीक से नहीं कर पाते। नतीजा पूरे दिन भूख से परेशान रहते हैं। इफ्तारी में आप शाही टुकड़ा या शाही टोस्ट बना सकते हैं। इसे बनाने में ज्यादा समय नहीं लगता है और यह खाने में भी लाजवाब होता है। शादी टुकड़ा और टोस्ट दूध,मलाई, चीनी और ब्रेड से बनाया जाता है। 

इसे भी पढ़ें: रमजान जैसे पाक महीने में खजूर खाने से आपको होंगे ये 5 फायदे

Recommended Video


खजूर की बर्फी

khajoor barfi

खजूर की बर्फी खाने से आपको शरीर में एनर्जी की कमी महसूस नहीं होगी। इस स्पेशल डिश को घी, इलायची, और ड्राई फ्रूट्स से तैयार किया जाता है। इफ्तारी के समय खजूर की बर्फी से बेहतर विकल्प कोई दूसरा नहीं है। खजूर की बर्फी बहुत जल्द तैयार हो जाती है और इसका स्वाद लाजवाब होता है। इस रमजान में खजूर की बर्फी एक बार जरूर बनाएं।

गुलाब शरबत

gulaab sharbat

रमजान में गुलाब शरबत हर किसी का पसंदीदा होता है। सेहरी में गुलाब शरबत पीने से दिनभर ताजगी मिलती है। गुलाब शरबत बनाने के लिए शुगर सिरप, गुलाब की पंखड़ियों, रोज़ फ्लेवर, चीनी और दूध की जरूरत पड़ती है। यह पीने में स्वादिष्ट और सेहत के लिए बेहद फायदेमंद होता है। गुलाब शरबत को तैयार करने के लिए गुलाब की पंखड़ियों को चाशनी में मिलाया जाता है। इस रमजान आप भी गुलाब शरबत जरूर पिएं। उसके बाद आपको पूरे दिन एनर्जी के साथ ठंडक का भी एहसास होगा।

अगर आपको यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे जरूर शेयर करें। इस तरह के अन्य लेख पढ़ने के लिए जुड़े रहें आपकी अपनी वेबसाइट हरज़िंदगी के साथ।

Photo Credit, Freepik, mykitchette.files.wordpress.com, jeenaseekho.com, 4.bp.blogspot.com, global.cpcdn.com, zaykarecipes.com