जब भी चॉपिंग बोर्ड का जिक्र आता है तो ऐसा लगता है कि बहुत ही मामूली चीज़ की बात हो रही है, लेकिन यकीन मानिए एक सही चॉपिंग बोर्ड आपके किचन के समय को आधा कर सकता है। किचन का सबसे ज्यादा समय चॉपिंग और कुकिंग में ही जाता है और अगर चॉपिंग आसान हो जाए तो फिर समय बचना तो लाजमी है। चॉपिंग बोर्ड्स कई तरह की वेराइटी में आते हैं और ग्लास, प्लास्टिक, लकड़ी और बैम्बू में से आपको अपने लिए सही बोर्ड चुनना चाहिए। 

कई लोग ये सोचते हैं कि चॉपिंग बोर्ड को दिखना अच्छा चाहिए और ये एक तरह से सही भी है, लेकिन सिर्फ दिखने के लिए ही ये बोर्ड नहीं होता है। आपको वो मटेरियल चुनना चाहिए जो आपके किचन प्लेटफॉर्म के लिए सही हो और साथ ही साथ जिसमें आप कम्फर्टेबल हों। तो चलिए जानते हैं कि किस तरह के मटेरियल को कैसे चुनना चाहिए।

plastic chopping board

मटेरियल के हिसाब से कैसे काम करते हैं चॉपिंग बोर्ड्स?

चॉपिंग बोर्ड्स कितने मटेरियल के आते हैं ये तो हमने आपको बता दिया, लेकिन अब थोड़ा सा सभी के बारे में जान भी लेते हैं। 

1. ग्लास बोर्ड- ये दिखने में बहुत सुंदर होता है, लेकिन यकीन मानिए चॉपिंग बोर्ड एक्सीडेंट की सबसे ज्यादा गुंजाइश उसी की होती है। अगर आप पूरी तरह से श्योर ना हों तो इसे ना लें। 

2. प्लास्टिक बोर्ड- किफायती और सस्ता, लेकिन रेगुलर यूज अच्छा नहीं है। खाना पकाते समय जितना कम प्लास्टिक इस्तेमाल किया जाए उतना अच्छा होता है। 

3. बैम्बू बोर्ड- हल्का और किफायती, लेकिन कुछ दिनों में इसकी ग्रिप खराब होने लगती है और इसके चॉप करते समय डिसलोकेट होने की गुंजाइश होती है। 

4. वुडन बोर्ड- सबसे ज्यादा बेहतर, वजनदार इसलिए चॉप करते समय अपनी जगह से डिसलोकेट नहीं होता है। पर चाकू की धार को कम कर सकता है। 

5. अन्य बोर्ड्स- मार्बल, ग्रेनाइट जैसे मटेरियल्स के भी चॉपिंग बोर्ड्स आजकल आम है, लेकिन ये चाकू के लिए अच्छे नहीं होते और अगर गलती से गिर गए तो आपको बहुत चोट लग सकती है। 

glass chopping board

इसे जरूर पढ़ें- बहुत ज्यादा होता है किचन का काम तो ये 10 हैक्स दिलाएंगे आराम

चॉपिंग बोर्ड का टेक्सचर भी चुनें-

चॉपिंग बोर्ड का टेक्सचर आपकी चॉपिंग स्पीड बढ़ा भी सकता है और घटा भी सकता है। अगर चॉपिंग बोर्ड ज्यादा ग्लॉसी या प्लेन होगा तो चाकू फिसलेगी, इसकी जगह आपको थोड़ा सा रग्ड चॉपिंग बोर्ड चुनना चाहिए। ये आपकी चाकू की धार को भी कम नहीं करता है और साथ ही साथ चॉपिंग बोर्ड से जुड़ा एक्सिडेंट भी नहीं होता है। आपको ये ध्यान रखना है कि चॉपिंग बोर्ड का टेक्सचर बिल्कुल सिल्प करने वाला ना हो। वर्ना सब्जियां काटने की ट्रिक्स भी काम नहीं करेंगी और साथ ही साथ चाकू के स्लिप होने का खतरा हमेशा बना रहेगा।

fibre 

इसे जरूर पढ़ें- अलग-अलग तरह से प्याज को काटने और छीलने के लिए 5 आसान Tips 

Recommended Video

दो चॉपिंग बोर्ड्स रखें- 

अपने घर में एक से ज्यादा चॉपिंग बोर्ड रखें। प्लास्टिक वाला बोर्ड मीट, अंडा, चिकन और ऐसे ही कच्चे एनिमल प्रोटीन के लिए अच्छा हो सकता है क्योंकि इसे जल्दी डिस्पोज किया जा सकता है और इसे साफ करना आसान है। सब्जियां या अन्य कच्चा सामान लकड़ी वाले चॉपिंग बोर्ड में काटें। ऐसा करने से आप पाएंगे कि फूड कंटैमिनेशन के खतरे को कुछ हद तक कम किया जा सकता है।  

चॉपिंग बोर्ड्स को चुनते समय कीमत से ज्यादा इन बातों का ध्यान रखें क्योंकि चॉपिंग समय भी लेती है और धारदार चाकू के साथ काम करते समय एक चूक आपको परेशान कर सकती है। अगर आपको ये स्टोरी अच्छी लगी हो तो इसे शेयर जरूर करें। ऐसी ही अन्य स्टोरी पढ़ने के लिए जुड़े रहें हरजिंदगी से।