भारतीय किचन में बेसन एक अहम् हिस्सा रखता है। स्वादिष्ट कढ़ी बनाना हो या फिर लाजवाब पकौड़े तैयार करना हो। इन दोनों ही रेसिपी में बेसन का इस्तेमाल न हो ऐसा बहुत कम ही देखा जाता है। एक तरफ बेसन खाने में स्वाद का तड़का लगाता है, तो दूसरी तरफ शरीर को कई लाभ भी पहुंचाता है। आज भी इसका इस्तेमाल कोई बीमारियों को भी दूर करने के लिए उपयोग किया जाता है।

आजकल बाज़ार में लगभग 7 से 8 ब्रांड के बेसन आसानी से मिल जाते हैं। ऐसे में इन बेसन में कई बार देख जाता है कि इसमें मिलावट भी होती है। मिलावटी बेसन खाने में इस्तेमाल करना यानी मुसीबत को भी दावत देने बराबर जैसा है। अगर आपको भी लगता है कि बेसन में मिलावट है, तो आप आसानी से घर पर ही असली और मिलावटी बेसन की जांच कर सकती हैं। तो आइए जानते हैं कैसे करें जांच।

क्या मिलते हैं बेसन में!

how to check purity of besan inside

मिलावटी बेसन की जांच करने से पहले ये जानना बहुत ज़रूरी है कि बेसन में आखिर क्या मिलावट की जाती है। कई जानकारों और लेखों के आधार पर बोला जा सकता है कि बेसन में मक्के के आटे भी मिक्स करके बेचा जाता है। एक अन्य लेख में उल्लेख है कि इसमें खेसारी का आटा भी कई बार देखा गया है। इसके अलावा गेंहू के आटे में कृतिम रंग मिलकर बेसन में मिक्स कर देते हैं। ऐसे में कई बार असली बेसन की पहचान करना कभी-कभी बहुत मुश्किल लगता है लेकिन, नामुमकिन नहीं।

इसे भी पढ़ें: Expert Tips: तलने के बाद पनीर हो जाता है सख़्त तो अपनाएं ये तरीक़े

ऐसे करें मिलावट की पहचान 

purity of besan check inside

अगर आपके घर में हाइड्रोक्लोरिक एसिड है, तो आप आसानी से कुछ ही मिनटों में ये जांच कर सकती हैं कि बेसन असली है या मिलावटी। इसके लिए आप एक बर्तन में तीन से चार चम्मच बेसन को पानी में घोल दीजिए। घोलने के बाद इस मिश्रण में एक से दो चम्मच हाइड्रोक्लोरिक एसिड को डालकर कुछ देर के लिए छोड़ दीजिए। (घी में मिलावट तो नहीं?) कुछ देर बाद अगर बेसन किसी अन्य रंग में दिखाई दें तो आप यकीनन बोले सकती हैं कि इस बेसन में मिलावट है।

Recommended Video

नींबू से करें जांच

how to check purity of besan inside

जी हां, नींबू और हाइड्रोक्लोरिक एसिड के मिश्रण से भी आप जांच कर सकती हैं कि बेसन में मिलावट है या नहीं। अगर बेसन में खेसारी का आटा मिक्स है, तो इस विधि से चंद सेकेंड में मालूम चल जाता है कि बेसन नकली है। इसके लिए आप सबसे पहले नींबू के रस और हाइड्रोक्लोरिक एसिड का एक मिश्रण तैयार कर लीजिए। (ऐसे करें असली शहद की पहचान) अब इस मिश्रण को बेसन पर डालकर कुछ देर के लिए छोड़ दीजिए। अगर बेसन लाल, भूरा आदि रंग में दिखाई दें, तो ये समझ सकती हैं कि बेसन में मिलावट है। 

इसे भी पढ़ें: क्या आप जानती हैं इन फूड्स के बारे में जो कभी एक्सपायर नहीं होते हैं

मिलावटी बेसन से होने वाली परेशानी 

check purity of besan inside

जी हां, आपने सही सुना। मिलावटी बेसन के खाने से एक नहीं बल्कि कई समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है। कहा जाता है कि अगर बेसन में खेसारी का आटा मिक्स हो, तो इसके सेवन से जोड़ों में दर्द हो सकता है। मिलावटी बेसन के इस्तेमाल से पेट की समस्या भी हो सकती है। कई बार बेसन में केमिकल का इस्तेमाल होता है, जो दिल और दिमाग के लिए भी सही नहीं होता है।

इस लेख को पढ़ने के बाद अब आप यक़ीनन मिलावटी बेसन की पहचान चंद मिनटों में आसानी से कर सकती हैं। अगर आपको यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे शेयर जरूर करें व इसी तरह के अन्य लेख पढ़ने के लिए जुड़ी रहें आपकी अपनी वेबसाइट हरजिन्दगी के साथ।

Image Credit:(@i.ytimg.com,www.dietplusminus.co)