आमौतर पर अचार बनाने के लिए हम कच्चे तेल का उपयोग करते हैं। अचार बनाने के लिए तेल का इस्तेमाल अधिक होता है, क्योंकि यह फ़्लेवर बढ़ाने के साथ-साथ अचार को जल्दी तैयार होने में मदद करता है। हालांकि अचार ख़त्म हो जाता है, लेकिन तेल जस का तस बचा रह जाता है। कई लोग अचार के बचे हुए तेल को फेंक देते हैं, वह इसे दोबारा इस्तेमाल में नहीं लाते, जबकि आप चाहें तो इसे कई तरीक़ों से इस्तेमाल कर सकती हैं। इसके उपयोग से खाने का स्वाद बढ़ जाता है और आप चाहें तो दोबारा इस्तेमाल के लिए इसे स्टोर भी कर सकती हैं।

बर्तन में चिपकने लगे आटा

wheat flour

आटा जब गीला हो जाता है तो गूंथते वक़्त ये बर्तन में चिपकने लगता है। आटा गूंथने के बाद डो चिकना दिखे और बर्तन में भी ना लगे, इसके लिए आख़िर में अचार के बचे हुए तेल को हाथ में लगा लें और फिर बर्तन में लगा दें। इसके बाद डो को एक बार फिर से गूंथ लें, अब आटा बर्तन में नहीं लगेगा। वहीं भटूरे को चकले पर बेलते वक़्त भी अचार के बचे हुए तेल का इस्तेमाल कर सकती हैं।

अचार के बचे हुए तेल से बढ़ाएं चटनी का स्वाद

chutney

कुछ लोग चटनी बनाते वक़्त कच्चे तेल का प्रयोग करते हैं। इससे चटनी का स्वाद ना सिर्फ़ बढ़ जाता है बल्कि यह देखने में भी थिक लगती है। सभी इंग्रेडिएंट्स को पीसने के बाद आप एक चम्मच आम के बचे हुए तेल का इस्तेमाल करें। आप चाहें तो चटनी की सामग्री पीसते वक़्त भी मिक्सर में दो चम्मच अचार के बचे हुए तेल को मिक्स कर सकती हैं। 

मैरिनेट करने के लिए अचार के बचे हुए तेल को करें इस्तेमाल

Marinade

कुछ लोगों को अचार का स्वाद ही नहीं बल्कि ख़ुशबू भी बेहद पसंद होती है, इसलिए वह अपने हर पकवान में इसका इस्तेमाल करते हैं। आप चाहें तो चिकन, फ़िश या अन्य किसी चीज़ को मैरिनेट करने के लिए अचार के बचे हुए तेल का इस्तेमाल कर सकती हैं। यह खाने के स्वाद को भी बढ़ाएगा। नॉनवेज के अलावा वेजेटिरियन फ़ूड को भी मैरिनेट करने के लिए इसका इस्तेमाल किया जा सकता है जैसे- मशरूम, पनीर, आलू आदि।

इसे भी पढ़ें: लंबे वक्त तक स्टोर कर सकती हैं फूलगोभी, जानें क्या है तरीका

परांठा बनाते वक़्त बचे हुए तेल का इस्तेमाल करें

paratha use

ज़्यादातर भारतीय नाश्ते में परांठा खाना पसंद करते हैं, ऐसे में आप इसका स्टफ़ तैयार कर रही हैं तो अचार के बचे हुए तेल का इस्तेमाल कर सकती हैं। सत्तू का परांठा बहुत लोगों को पसंद है, ऐसे में जब आप स्टफ़िंग तैयार कर रही हैं तो अचार के तेल का इस्तेमाल कर सकती हैं। इसके अलावा आप अन्य परांठों को सेंकने के लिए भी अचार के बचे हुए तेल का उपयोग कर सकती हैं।

Recommended Video

चोखा का स्वाद बढ़ाएगा अचार का तेल

chokha

लिट्टी चोखा बिहार में ही नहीं बल्कि अन्य शहरों में भी ख़ूब पसंद किया जाता है। इसके साथ मिलने वाला चोखा बेहद स्वादिष्ट होता है। आलू, टमाटर, और बैंगन का कई तरीक़े से चोखा बनाया जाता है। इसे बनाते वक़्त कच्चे तेल का इस्तेमाल किया जाता है, लेकिन आप इसकी जगह अचार का बचा हुआ तेल इस्तेमाल करें। चोखा बेहद स्वादिष्ट हो जाएगा और इसे बार-बार खाने का मन करेगा।

कढ़ी परोसते वक़्त आजमाएं ये ट्रिक

kadhi

कढ़ी-चावल सबसे आसान डिशों में से एक है, जो अक्सर लोग हफ़्ते में एक बार ज़रूर बनाते हैं। कढ़ी का स्वाद बढ़ जाए इसके लिए अचार के बचे हुए तेल को मिक्स कर सकती हैं। आप जब भी कढ़ी बनाएं तो इसका स्वाद बढ़ाने के लिए परोसते वक़्त एक चम्मच आम के अचार का तेल मिक्स कर दें। कढ़ी बेहद लज़ीज़ हो जाएगी, जिसे आपका मन बार-बार खाने का करेगा। आप चाहें तो जैसे ही कढ़ी बन जाए गैस बंद करने के बाद भी अचार के तेल को मिक्स कर सकती हैं।

इसे भी पढ़ें:समर पार्टी के लिए आप भी बनाएं ये शानदार डिशेज

झटपट बनने वाले अचार में बचे हुए तेल का करें इस्तेमाल

make more pickle

गाजर, मूली, मिर्ची जैसे अचार बनाने में अधिक वक़्त नहीं लगता। कई लोग इसे ऑयल फ़्री बनाते हैं तो कुछ इसमें तेल का उपयोग करते हैं। ऐसे में इसे बनाने के लिए आप आम या फिर अन्य अचार के बचे हुए तेल का इसमें उपयोग करें। बचे हुए अचार के तेल में बनाने से ये जल्दी तैयार हो जाएगा। इसके लिए मासले और नमक में इसे अच्छी तरह मिक्स कर दें, उसके बाद बचे हुए अचार के तेल को मिक्स करें और कुछ दिन तक धूप में रख दें। तीन या फिर चार दिन में यह अचार बनकर तैयार हो जाएगा।

अगर आपको ये स्टोरी अच्छी लगी तो इसे शेयर जरूर करें। ऐसी ही अन्य स्टोरी पढ़ने के लिए जुड़े रहें हरजिंदगी से।