नए साल की शुरुआत के साथ विंटर फेस्टिवल्स भी शुरू हो जाते हैं। पहला त्योहार लोहड़ी होता है, जिसमें खूब मजा किया जाता है। लोहड़ी एक लोक त्योहार है जो हिंदुओं, विशेष रूप से सिखों द्वारा, सर्दियों के मौसम के अंत और भारत में त्योहार कैलेंडर की शुरुआत को चिह्नित करने के लिए मनाया जाता है। यह पंजाब का पारंपरिक फसल उत्सव भी है।

लोग लोहड़ी को प्राचीन परंपरा के एक भाग के रूप में रात में अलाव जलाकर मनाते हैं। खूब जश्न मनाया जाता है और इसके साथ ही लजीज व्यंजनों का दस्तरख्वान सजता है। मूंगफली, गुड़ और तिल से बने व्यंजनों से लेकर स्वादिष्ट सेवइयों, सरसों दा साग और मक्के दी रोटी तक सब लोहड़ी के दिन तैयार किए जाएंगे। इस बार लोहड़ी पर क्यों न आप भी इन पारंपरिक व्यंजनों को अपनी थाली में शामिल करें।

सरसों का साग और मक्के की रोटी

sarson ka saag makki ki roti

कोई इस स्वादिष्ट भोजन को कैसे भूल सकता है। लोहड़ी की थाली में यह तो होनी ही चाहिए। पौष्टिक सरसों के पत्तों से बना यह व्यंजन फोलेट, आयरन और कई तरह के पोषक तत्वों से भरपूर होता है। जब आप इस रेसिपी को सफेद घर के बने मक्खन के साथ खाते हैं, तो डिश और अधिक स्वादिष्ट हो जाती है। इसके साथ सबसे बढ़िया लगती है मक्के की रोटी जिसे सिर्फ 20 मिनट में मक्के का आटा, घी, नमक और लाल मिर्च पाउडर जैसी साधारण सामग्री से तैयार कर सकते हैं। आटे का स्वाद बढ़ाने और इसे और भी हेल्दी बनाने के लिए आप आटे में मेथी के पत्ते भी डाल सकते हैं।

आटा लड्डू

atta ladoo to eat on lohri

यह सबसे लोकप्रिय उत्तर भारतीय डेसर्ट में से एक है। आप इन्हें केवल तीन साधारण सामग्री का उपयोग करके बना सकते हैं: आटा, गुड़ और घी। चूंकि फसल के त्योहार में गुड़ बहुत महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है, इसलिए यह मिठाई हर किसी के लिए जरूरी है। स्वाद बढ़ाने के लिए आप इस रेसिपी में सूखे मेवे मिला सकते हैं। सिर्फ आटे के लड्डू ही नहीं, बल्कि इसकी जगह तिल और गुड़ के लड्डू भी बहुत बनाए और खिलाए जाते हैं।

इसे भी पढ़ें :बचे हुए सरसों के साग से बनाएं ये 3 टेस्टी डिशेज़ और सर्दियों का लें भरपूर मज़ा

गुड़ की गजक और चिक्की

gajak and chikki

गुड़ की गजक (खजूर की मदद से बनाएं तिल की गजक) के बिना लोहड़ी मनाने की कल्पना नहीं की जा सकती क्योंकि यह पंजाब की पारंपरिक रेसिपी है। यह मिठाई आपको बाजार में केवल सर्दी के मौसम में ही मिलेगी। गुड़, तिल जैसी चीजें सर्दियों में खाना लाभदायक होता है, इसलिए इसे खाया जाता है। लोहड़ी में इसके साथ-साथ रेवड़ी खाने का भी परंपरा है। लोहड़ी की रात अलवा के पास बैठकर परिवार के सदस्यों के साथ आप इसका आनंद ले सकते हैं।

पिंडी छोले

pindi chole

पिंडी छोले को पिंडी चना के नाम से भी जाना जाता है, यह सबसे आसान और स्वादिष्ट चने की डिश है जिसे आप बना सकते हैं। यह रेसिपी पंजाब, पाकिस्तान के रावलपिंडी क्षेत्र से आती है और इसलिए इसका नाम पिंडी चना पड़ा। लोहड़ी के मौके पर स्पेशल पंजाबी पिंडी छोले नहीं खाए तो क्या खाया? इसे घर में बने ऑथेंटिक मसालों से बनाया जाता है। इसके साथ गरमागर्म पूड़ी और सलाद एक परफेक्ट लंच होता है।

इसे भी पढ़ें :चिक्की की इन 3 लाजवाब रेसिपीज को सर्दियों में आप भी करें ट्राई

Recommended Video

गुड़ और तिल के पराठे

gud til parantha

यह भी एक विंटर स्पेशल और लोहड़ी स्पेशल रेसिपी है, जिसे आपको अपनी थाली में जरूर जगह देनी चाहिए। गुड़ और तिल से बनी रोटिया और पराठे बहुत स्वादिष्ट होते हैं और सर्दियों में शरीर को ठंड और बैक्टीरिया से बचाने के लिए इसका सेवन जरूर करना चाहिए। गुड़ और तिल की तासीर गर्म होती है, जो हमारे स्वास्थ्य को कई तरह से लाभ पहुंचाता है। आप अगर तिल न डालना चाहें, तो आप बस गुड़ का मीठा पराठा बना सकते हैं। कई लोग सुबह-सुबह गुड़ के पराठे के साथ चाय भी पीते हैं।

लोहड़ी का असल मतलब अपने परिवार के साथ बैठकर समय बिताने और अच्छा भोजन करने से है। इन खाद्य पद्धार्थ का सेवन करने से आपका स्वास्थ्य भी अच्छा रहेगा। आपको यह लेख कैसा लगा हमें बताएं। लेख पसंद आया तो इसे लाइक और शेयर करें और ऐसे अन्य आर्टिकल पढ़ने के लिए जुड़े रहें हरजिंदगी से।