• ENG
  • Login
  • Search
  • Close
    चाहिए कुछ ख़ास?
    Search

Travel Facts: खूबसूरत हिल स्टेशन लैंसडाउन जाने से पहले जान लें इसके बारे में कुछ बातें

अगर आप घूमने के लिए किसी हिल स्टेशन जाने की सोच रही हैं तो उत्तराखंड में मौजूद लैंसडाउन का प्लान बना सकती हैं। जानिए इस जगह के बारे में कुछ बातें।
author-profile
Published -19 Jul 2020, 11:00 ISTUpdated -18 Jul 2020, 14:47 IST
Next
Article
best facts about lansdowne

कोरोना वायरस के दौर में बहुत ही कम राज्य ऐसे हैं जहां फिलहाल टूरिस्ट को घूमने की इजाजत है और उनमें से एक है उत्तराखंड। उत्तराखंड में वैसे तो बहुत सारे लोकप्रिय टूरिस्ट डेस्टिनेशन हैं, लेकिन आज जिसकी बात हम करने जा रहे हैं वो है शांत और खूबसूरत लैंसडाउन। ये हिल स्टेशन पौड़ी गढ़वाल जिले में स्थित है और अपने तार और देवदार से भरे जंगलों और खूबसूरत नजारों के लिए प्रसिद्ध है। जहां ऋषिकेश, बदरीनाथ, केदारनाथ, हरिद्वार, देहरादून, मसूरी आदि में टूरिस्ट की भीड़ जमा रहती है वहीं दूसरी ओर लैंसडाउन में आपको शांति का अनुभव होगा।

लैंसडाउन वैसे तो मेन रोड से कनेक्टेड है, लेकिन यहां फिर भी शांति बहुत है, यहां आकर आपको काफी अच्छा लगेगा।

easy facts about lansdowne

इसे जरूर पढ़ें- टूरिस्ट्स के लिए खुल गए हैं हिमाचल, उत्तराखंड और गोवा, घूमने का प्लान बनाने से पहले जान लें जरूरी बातें

कैसे पड़ा नाम लैंसडाउन?

लैंसडाउन का असली नाम 'कालूडंडा' था। गढ़वाली भाषा में इसका मतलब है काला पहाड़। इसके बाद 1857 में भारत से तत्कालीन वाइसरॉय लॉर्ड लैंसडाउन के नाम पर इस शहर का नाम लैंसडाउन पड़ गया। ये गढ़वाल राइफल्स रेजिमेंट का ट्रेनिंग सेंटर बनाया गया, ये सेंटर पहले अल्मोड़ा में स्थित था। अगर आपको शहर की भीड़भाड़ से थोड़ी सी शांति चाहिए तो यहां जा सकती हैं। इस खूबसूरत हिल स्टेशन की लोकल भाषा गढ़वाली और हिंदी है।

Recommended Video

कब है लैंसडाउन जाने का सही समय?

गर्मियों और सर्दियों दोनों में ही लैंसडाउन जा सकते हैं। गर्मियों में यहां एक्सप्लोर करने के लिए काफी कुछ है और सर्दियों में आप यहां बर्फबारी और ठंडे मौसम का मज़ा ले सकती हैं। बरसात में यहां जाना थोड़ा रिस्की हो सकता है।

हर मौसम में अपने साथ कुछ गरम कपड़े जरूर रखें क्योंकि यहां रातों में अक्सर ठंड हो जाती है। लैंसडाउन को एक्सप्लोर करने के लिए आपको किसी गाड़ी की जरूरत नहीं होगी। अगर आप एक दो दिन का समय लेकर गई हैं तो यहां पैदल ही काफी कुछ घूमा जा सकता है। उत्तराखंड टूरिस्ट डेस्टिनेशन्स की लिस्ट में लैंसडाउन का नाम भी काफी ऊपर आता है।

कैसे पहुंचें लैंसडाउन?

अगर आप दिल्ली से ड्राइव कर लैंसडाउन जा रहे हैं तो ये 4-5 घंटे का रास्ता है। ये दिल्ली से 283 किलोमीटर दूर है। ये पौड़ी से लगभग 83 किलोमीटर दूर है।

lansdowne picnic spots

अगर आपको ट्रेन से लैंसडाउन पहुंचना है तो ये कोटद्वार स्टेशन के जरिए मुमकिन है। ये लैंसडाउन से 44 किलोमीटर दूर है। इसके आगे आपको कैब कर लैंसडाउन पहुंचना होगा। लैंसडाउन से सबसे करीबी एयरपोर्ट है देहरादून के पास स्थित जॉली ग्रांट एयरपोर्ट। यहां से 152 किलोमीटर का सफर आपको रोड के जरिए तय करना होगा।



इसे जरूर पढ़ें- बना रही हैं साउथ गोवा घूमने का प्लान तो जरूर करें ये 5 चीज़ें

लैंसडाउन में किन-किन जगहों पर घूमें?

'तारकेश्वर महादेव मंदिर, दुर्गा देवी मंदिर, भुल्ला लेक, ज्वालपा देवी मंदिर, कावाश्रम, सेंट मैरी चर्च, टिप-एंड-टॉप 4' आदि यहां के चर्चित पिकनिक स्पॉट्स हैं। आप यहां फैमिली के साथ एक अच्छी वेकेशन मना सकती हैं।

यहां जाने के लिए आपको प्री-बुकिंग करवाने की जरूरत नहीं होगी आप वहां जाकर अपने हिसाब से जगह चुन सकती हैं। ये बहुत ही अच्छा टूरिस्ट डेस्टिनेशन साबित हो सकता है अगर आप शांति से कुछ दिन गुजारना चाहती हैं।

अगर आपको ये स्टोरी अच्छी लगी तो इसे शेयर जरूर करें। ऐसी अन्य खबरें पढ़ने के लिए जुड़े रहें हरजिंदगी से।

Disclaimer

आपकी स्किन और शरीर आपकी ही तरह अलग है। आप तक अपने आर्टिकल्स और सोशल मीडिया हैंडल्स के माध्यम से सही, सुरक्षित और विशेषज्ञ द्वारा वेरिफाइड जानकारी लाना हमारा प्रयास है, लेकिन फिर भी किसी भी होम रेमेडी, हैक या फिटनेस टिप को ट्राई करने से पहले आप अपने डॉक्टर की सलाह जरूर लें। किसी भी प्रतिक्रिया या शिकायत के लिए, compliant_gro@jagrannewmedia.com पर हमसे संपर्क करें।