कोरोना की दूसरी लहर आने के बाद कई कंपनियों ने वर्क फ़्रॉम होम आगे जारी रखने का फ़ैसला किया है। फ़िलहाल दूसरी लहर ने लोगों की ज़िंदगी पर गहरा असर डाला है, यही नहीं मीडिया रिपोर्ट्स की माने तो तीसरी लहर भी आने की उम्मीद है। ऐसे में लोग वर्क फ़्रॉम होम के लिए बेहतर जगह की तलाश कर रहे हैं, जहां वह प्राकृतिक ख़ूबसूरती के बीच ना सिर्फ़ रह सकें, बल्कि स्ट्रेस को भी दूर कर पायें।

पहाड़ों के बीच वर्क स्टेशन बनाना इन दिनों काफ़ी कॉमन हो गया है। लॉकडाउन खुलने के बाद लोग इन एंडवेचर से भरपूर जगहों को एक्सप्लोर करना शुरू कर देंगे। वहीं कई ऐसे भी लोग हैं जिन्होंने पहले से ही इन ख़ूबसूरत जगहों को अपना वर्क स्टेशन बना लिया है। इन जगहों पर वाई-फ़ाई से लेकर खाने-पीने की सुविधाओं तक सब कुछ मौजूद है। सोशल मीडिया या इंटरनेट के ज़रिए अगर आप ऐसी जगहों की तलाश कर रहे हैं तो हम आपको कुछ बेस्ट ऑप्शन यहां बता सकते हैं।

हिमाचल प्रदेश

himachal pradesh places

कसोल, मैक्लोडगंज, मनाली, शिमला जैसी कई जगहें हैं, जिसे आप अपनी सुविधाओं के अनुसार वर्क स्टेशन बना सकते हैं। लॉकडाउन के बाद आप इन जगहों पर जा सकते हैं, लेकिन अगर आप पॉकेट फ़्रेंडली बजट चाहते हैं तो थोड़ा ऑफ सीजन जाना बेस्ट है। ऑन सीजन में इन जगहों पर रहना, और खाना काफ़ी महंगा हो जाता है, इसलिए सही समय का चुनाव ज़रूर करें। इंटरनेट और सोशल मीडिया पर कई ऐसे पोस्ट हैं, जिसके अनुसार इन जगहों पर रहने के लिए कम से कम 4,500 से 5 हज़ार रुपये प्रति दिन के खर्च करने पड़ सकते हैं। जिसमें रहना, खाना, वाई-फ़ाई और योगा आदि की सुविधाएं शामिल हैं, लेकिन अगर आप महीने की बात करें तो कुछ 35 से 40 हज़ार रुपये चार्ज किए जा सकते हैं। यह अलग-अलग जगहों और कंपनियों पर निर्भर करता है।

ऋषिकेश

rishikesh places

अगर आप सस्ती जगह की तलाश कर रही हैं तो ऋषिकेश बेस्ट ऑप्शन हो सकता है। नदी और पहाड़ों के बीच बसा इस शहर के दिल्ली से बेहद क़रीब होने की वजह से ज़्यादातर लोग इस जगह को अपना वर्कस्टेशन बना चुके हैं। अगर ख़ुद की इंटरनेट सुविधा बना लें, तो आपको सिर्फ़ कमरे और खाने की व्यवस्था करने की आवश्यकता होगी। 8 से 12 हज़ार के बीच आप ऋषिकेश में रूम रेंट पर ले सकती हैं और सुकून से ऑफ़िस का काम कर सकती हैं। अगर आपको खाना घर पर नहीं बनाना तो आप बाहर खा सकती हैं, जिसके चार्जेस बेहद पॉकेट फ़्रेंडली हैं। इंस्टाग्राम पर स्थानीय लोगों ने पेज बनाया है, जो आपको सस्ते में रूम या कॉटेज उपलब्ध करा सकते हैं।

इसे भी पढ़ें: चंदेरी! भारत के ह्रदय राज्य मध्य प्रदेश की एक बेहद ही खूबसूरत जगह

माउंट आबू

mount abu

राजस्थान में महलों के अलावा कई ख़ूबसूरत जगहें हैं, जहां आप प्राकृतिक नज़ारों का आनंद ले सकती हैं। उन्हीं में से एक है माउंट आबू, जो एक हिल स्टेशन है। बता दें कि हिमाचल और ऋषिकेश जैसी जगहों से अलग प्लेस की तलाश कर रही हैं तो माउंट आबू जा सकती हैं। यहां कई होटल मिल जाएंगे, जो खाने-पीने के अलावा वाई-फ़ाई और अन्य सुविधाओं को उपलब्ध कराते हैं। ख़ास बात है कि माउंट आबू को अपना वर्क स्टेशन बनाने पर आप वीकेंड पर आसपास की जगहों को भी एक्सप्लोर कर सकती हैं, लेकिन कोरोना के माहौल में सुरक्षा को ध्यान में रखकर। हालांकि अभी जगहों पर कोरोना वायरस की वजह से सख़्त पाबंदी लगाई गई है, लेकिन आप लॉकडाउन के बाद यहां रहकर काम कर सकती हैं।

Recommended Video

गोवा

goa

कोरोना काल में गोवा में सन्नाटा छाया हुआ है, टूरिस्टों का आना-जाना बंद है। कोरोना की दूसरी लहर का प्रभाव इस छोटे शहर पर भी पड़ा है, लेकिन माना जा रहा है कि जल्द ही स्थिति क़ाबू में होगी। ऐसे में अगर आप गोवा को अपना वर्क स्टेशन बनाना चाहती हैं तो लगभग एक महीना इंतज़ार करना होगा। वहीं यहां कई ऐसे होटल और कॉटेज हैं जहां आप आसानी से काम कर सकती हैं। पॉकेट फ़्रेंडली इन होटल्स में वाई-फ़ाई, लाइट और खाने-पीने जैसी तमाम सुविधाएं मौजूद है। इंटरनेट और सोशल मीडिया पर आप इन जगहों के होटलों को सर्च कर चार्ज और अन्य चीज़ों के बारे में पता कर सकती हैं।

इसे भी पढ़ें: इन देशों ने भारत को कुछ समय के लिए कर दिया है बैन, जानें क्या है इसके पीछे की वजह!

वर्कला

varkala

अगर आप इन जगहों से हटकर किसी नई जगह को एक्सप्लोर करना चाहती हैं तो केरल में स्थित वर्कला को अपना वर्कस्टेशन बना सकती हैं। सनराइज़ और सनसेट के लिए बेस्ट यह जगह अपनी प्राकृतिक ख़ूबसूरती के लिए मशहूर है। यहां आपको कई ऐसे होटल मिल जाएंगे जो सुविधाओं से लैस हैं। वीकेंड पर यहां घूमने के लिए बीच के अलावा झील और फ़ोर्ट भी हैं, जिसे आप एक्लप्लोर कर सकती हैं। हालांकि कोरोना के नियमों को ध्यान में रखकर इस जगह को एक्सप्लोर करना बेस्ट आइडिया हो सकता है।

अगर आपको ये स्टोरी अच्छी लगी तो इसे शेयर जरूर करें। ऐसी ही अन्य स्टोरी पढ़ने के लिए जुड़े रहें हरजिंदगी से।