राजपूतानी आन-बान-शान वाला राजस्थान पूरी दुनिया के सैलानियों को अपनी तरफ आकर्षित करता है। यहां पुराने महलों और उनकी वास्तुकला को देखना अपने आप में एक्साइटिंग एक्सपीरियंस है। यहां की जीवंत संस्कृति और ट्रडीशनल लाइफस्टाइल महिलाओं को विशेष रूप से अपनी तरफ आकर्षित करता है। अगर आप राजस्थान के जयपुर, उदयपुर जैसे पॉपुलर डेस्टिनेशन्स की सैर कर चुके हैं और नई ऑफबीट जगहों पर जाने के लिए उत्सुक हैं तो आपको यहां के इन 3 जगहों को विजिट जरूर करना चाहिए। 

कुंभलगढ़

beautiful rajasthan kumbhalgarh

कुंभलगढ़ यूनेस्को की वर्ल्ड हेरिटेड साइट्स में शुमार है। इस शहर में आपको घूमने और एक्साइटिंग एक्टिविटीज का मजा लेने के लिए कई ऑप्शन्स मिलते हैं। यहां के पहाड़ी इलाके में आप जिपलाइनिंग का मजा ले सकती हैं। यह जगह उदयपुर से महज 85 किमी दूर है। इसके पास ही स्थित कुंभलगढ़ वाइल्ड लाइफ सैंक्चुअरी में आपको हाइना, स्लॉथ बियर, तेंदुआ और दुर्लभ प्रजाति के चिंकारा देखने को मिलते हैं।

इसे जरूर पढ़ें: सोलो ट्रेवल में अपनी सेफ्टी से जुड़ी इन 10 अहम बातों का रखें ध्यान

यहां पर नाइट टूर विशेष रूप से काफी रोमांचक होते हैं। यहां आप फतेह सफारी लॉज में ठहर सकती हैं, जहां परिवार के ठहरने के लिए बुटीक होटल की व्यस्था है। यहां से आसपास के नजारे देखना बहुत हसीन लगता है। 36,000 फीट की ऊंचाई पर बसे इस खूबसूरत इलाके से अरावली के पहाड़ नजर आते हैं और इसी के आगे नारलई का इलाका शुरू होता है। 

 

Narlai

beautiful rajasthan off beat places Narlai

अगर आप जोधपुर हाईवे पर स्थित उदयपुर के चतुरमुख जैन टैंपल को विजिट करने के बारे में सोच रही हैं तो यहां से Narlai कस्बा बहुत नजदीक है। इस इलाके को विजिट करते हुए आप यहां के Rawla Narlai में ठहर सकती हैं, जो हैरिटेज होटल है। नारलाई गांव में 16वीं सदी की एक बावड़ी है। इस बावड़ी के आसपास के खूबसूरत नजारों को निहारना और यहां के लजीज व्यंजनों का स्वाद चखना महिलाओं के लिए बेहद यादगार अनुभव हो सकता है। 

इसे जरूर पढ़ें: इन हैशटैग्स से लीजिए इंस्पिरेशन और अपने भीतर जगाइए ट्रैवलिंग का रोमांच

Recommended Video

कुंभलगढ़

beautiful rajasthan kumbhalgarh new

अगर आपको राजस्थान के किले आकर्षित करते हैं तो आप कुंभलगढ़ का किला देखने जरूर जाएं। महाराणा कुंभ ने 15वीं सदी में इस महल को बनवाया था और फिलहाल यह एक वर्ल्ड हैरिटेज साइट है। यहां घूमने के लिए नवंबर से फरवरी तक का समय परफेक्ट है। इस समय में यहां प्रकृति का अनुपम दृश्य देखने को मिलता है। कुंभलगढ़ का किला 15 सालों में बनकर तैयार हुआ था और अरावली के पहाड़ों पर यह दूर से ही बहुत सुंदर दिखाई देता है। कुंभलगढ़ को कभी भी युद्ध में हराया नहीं जा सका था, लेकिन एक बार इस किले पर मुगलों का कब्जा हो गया था, जब धोखे से यहां आने वाले पानी में जहर मिला दिया गया था। यह जगह महाराणा प्रताप की जन्मभूमि है और राजपूतों के इतिहास में आपकी रुचि है तो आपको यहां जरूर घूमना चाहिए।