भारत में विभिन्न संस्कृतियों का समावेश होने के साथ-साथ आस्था का भी बहुत बड़ा केंद्र है। इसलिए, यही कारण है कि यहां हिन्दू देवी-देवताओं के कई छोटे, विशाल और ऐतिहासिक मंदिर स्थित हैं। भारत में हर गली-मौहल्लों में आपको कई मंदिर देखने को मिल जाएंगे। लेकिन, अगर हम विदेशों में मंदिर और उसकी समृद्धि की बात करें, तो क्या आपको मालूम है कि विदेशों में भी कई ऐसे मंदिर हैं, जो दुनियाभर में मशहूर हैं। जी हां, भारत से कोसो दूर कुछ ऐतिहासिक वैश्विक हिन्दू मंदिर, जिससे शायद आप आज तक अंजान होंगे। तो चलिए, आज हम आपको इस लेख के माध्यम से कुछ वैश्विक मंदिरों के बारे में बताने वाले हैं, जो आपके लिए ज्ञानवर्धक होने के साथ-साथ रोचक भी होंगे.... 

अंगकोर वाट मंदिर, कंबोडिया

Angkor Wat

सबसे पहले हम आपको अंगकोर वाट मंदिर के बारे में बताते हैं, जो पूरी दुनिया में प्रसिद्ध है। यह भगवान विष्णु का मंदिर दुनिया का सबसे बड़ा हिन्दू मंदिर परिसर होने के साथ- साथ सबसे बड़ा धार्मिक स्मारक भी है, जो कंबोडिया देश के अंकोर शहर में स्थित है। अगर हम इस मंदिर के इतिहास पर बात करें तो इस मंदिर का निर्माण राजा सूर्यवर्मन द्वितीय ने 12 वीं शताब्दी में कराया था। इस मंदिर का कार्य सूर्यवर्मन द्वितीय ने किया था, लेकिन इस मंदिर को लेकर ये धारण भी है कि इसका समापन धरणीन्द्रवर्मन के शासन काल में हुआ था। यह मंदिर बहुत बड़ा है, जो तकरीबन हजारों वर्ग मील में फैला हुआ है। हम इस मंदिर की इसलिए भी बात कर रहे हैं क्योंकि ये कंबोडिया का राष्ट्रीय प्रतीक है जिसे कंबोडिया के राष्ट्रीय ध्वज पर भी इस मंदिर को अंकित किया गया है। इस मंदिर को पर्यटन दुनियाभर से देखने आते हैं, तो इसे आपको भी जरूर देखना चाहिए। 

कैसे पहुंचे?

अंगकोर वाट के लिए सीधी फ्लाइट नहीं है अगर आप इस मंदिर की यात्रा करना चाहते हैं, तो आप यहां जाने के लिए भारतीय अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे से कंबोडिया हवाई अड्डे तक का सफर कर सकते हैं फिर वहां से आपको अंगकोर वाट, क्रोंग सिएम रीप जाने के लिए कोई कैब या टैक्सी लेनी होगी। 

पशुपतिनाथ मंदिर, नेपाल

Shri Pashupatinath Temple

दूसरा मंदिर जिसकी हम बात करने वाले हैं वह मंदिर है नेपाल का पशुपतिनाथ मंदिर, जो बागमती नदी के किनारे काठमांडू में स्थित है। ये मंदिर पूरी दुनिया में आस्था के लिए बहुत प्रसिद्ध है जिसे पूरी दुनिया से पर्यटक देखने आते हैं। इसके अलावा, इस मंदिर को यूनेस्को की विश्व धरोहर में भी शामिल किया गया है। इस मंदिर के इतिहास को लेकर कोई खास प्रमाण नहीं है लेकिन कहा जाता है कि इस मंदिर का निर्माण तीसरी सदी ईसा पूर्व में सोमदेव राजवंश के पशुप्रेक्ष ने करवाया था। इसके अलावा, इस मंदिर का नाम पशुपति देवता से प्रेरित होकर रखा गया था, जो काठमांडू घाटी के प्राचीन शासकों में से एक देवता रहे हैं। ये मंदिर उन पर्यटकों के लिए बहुत खास है, जो आस्था से प्रेम करते हैं।

कैसे पहुंचे?

अगर आप यहां जाना चाहते हैं, तो आपके लिए हवाई यात्रा से जाने का ऑप्शन बेस्ट है। आप भारतीय अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे से नेपाल हवाई अड्डे तक का सफर कर सकते हैं फिर वहां से आप काठमांडू से तीन किलोमीटर उत्तर-पश्चिम में बागमती नदी के किनारे देवपाटन गांव के लिए कोई कैब या टैक्सी ले सकते हैं। 

इसे ज़रूर पढ़ें- माथेरान हिल: वीकेंड और मानसून में घूमने के लिए एक बेहतरीन जगह

प्रम्बानन मंदिर, इंडोनेशिया

Prambanan Temple

देश-विदेश में वैसे तो कई दुर्गा-मां, विष्णु और देवी- देवताओं के मंदिर प्रसिद्ध हैं लेकिन आज हम आपको इंडोनेशिया के प्रम्बानन मंदिर के बारे में बताते वाले हैं। ये भगवान शिव का मंदिर है, जो दुनियाभर में प्रम्बानन मंदिर के नाम से प्रसिद्ध है। इस मंदिर का निर्माण 10वीं शताब्दी में किया गया था। इसकी वास्तुकला और शिल्पकला की वजह से इसे पर्यटक दूर-दूर से देखने आते हैं। अगर आपकी इतिहास में रुचि है तो ये टेंपल आपके लिए बेस्ट है। आपको यहां कई ऐतिहासिक मूर्तियां देखने को मिलेंगी। इसके अलावा, ये मंदिर इंडोनेशिया के साथ दक्षिण एशिया का भी बहुत बड़ा मंदिर है। इसलिए आप एक बार यहां जरूर जाएं। 

कैसे पहुंचे? 

अगर आप यहां जाना चाहते हैं, तो आपके लिए हवाई यात्रा से जाने का ऑप्शन बेस्ट है। आप भारतीय अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे से इंडोनेशिया हवाई अड्डे तक का सफर कर सकते हैं फिर वहां से आप कोई कैब या टैक्सी ले सकते हैं या फिर आप हवाई अड्डा से योग्याकार्ता शहर जा भी सकते हैं, जो हवाई अड्डा से लगभग 45 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है, वहां से आप टर्मिनल प्रम्बानन की बस ले सकते हैं। 

Recommended Video

मुरुगन मंदिर, ऑस्ट्रेलिया

Uttara Swamimalai Mandir R K Puram

यह मंदिर ऑस्ट्रेलिया की राजधानी सिडनी में मौजूद है, जो पूरे विश्व में प्रसिद्ध है। ये मंदिर प्राकृतिक चीजों से घिरा हुआ है क्योंकि इसे भगवान मुरुगन के लिए बनवाया था जिन्हें पहाड़ों के देवता कहा जाता है। ये मंदिर ऑस्ट्रेलिया के हिन्दुओं के लिए सबसे खास और लोकप्रिय मंदिर में से एक है। इस मंदिर को 'सिडनी मुरुगन' नाम से भी जाना जाता है, तो हम आपको सलाह देंगे कि आप एक बार यहां की यात्रा जरूर करें। 

कैसे पहुंचे? 

अगर आप यहां जाना चाहते हैं, तो आपके लिए हवाई यात्रा ऑप्शन बेस्ट है। आप भारतीय अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे से ऑस्ट्रेलिया की राजधानी सिडनी हवाई अड्डे तक का सफर कर सकते हैं फिर वहां से आपको कोई कैब या टैक्सी लेनी होगी। 

इसे ज़रूर पढ़ें-भारत में मौजूद ये एम्यूजमेंट पार्क थ्रिल और एक्साइटमेंट से हैं भरपूर

अगर आपको यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे शेयर जरूर करें व इसी तरह के अन्य लेख पढ़ने के लिए जुड़ी रहें आपकी अपनी वेबसाइट हरजिन्दगी के साथ।

Image Credit- Freepik And Webduniya