भारत के 10 सबसे बड़े और लंबे पुलों की तस्वीरें, आप भी देखें

इस लेख में हम आपको भारत के 10 सबसे बड़े और लंबे पुलों के बारे में बताने जा रहे हैं, तो आइए जानते हैं।
@orientrailjourneys.comlongest bridge in india know

भारत विकास के मार्ग पर हर दिन एक नया कीर्तिमान  स्थापित कर रहा है। भारत का ऐसे कोई भी राज्य नहीं है जहां सड़क और पुल का निर्माण नहीं हुआ हो। वैसे तो भारत में लाखों पुल होंगे लेकिन, भारत के कुछ ऐसे पुल हैं जिनका निर्माण होना भारत के लिए किसी गौरव से कम नहीं है। विपरीत परस्थितियों में इन पुलों का निर्माण और लम्बाई भी इन्हें बहुत खास बनाते हैं। इन पुलों ने यातायात को आसान बनाने के साथ-साथ एक शहर को दूसरे शहर से जोड़ने का बखूबी काम किया है। इस लेख में हम आपको 10 ऐसे पुलों के बारे में बताने जा रहे हैं, जिन्हें भारत के सबसे बड़े और लंबे पुलों में शामिल किया जाता है, तो आइए जानते हैं।

 

1भूपेन हजारिका सेतु

longest bridge in india bhupen hazarika inside

नॉर्थ-ईस्ट के असम राज्य में मौजूद भूपेन हजारिका सेतु भारत का सबसे लम्बा पुल यानी ब्रिज है। असम की लोहिया नदी पर निर्मित इस पुल की लम्बाई लगभग 9.15 किलोमीटर है। ये पुल असम राज्य और अरुणाचल प्रदेश को एक दूसरे से जोड़ने का काम करता है। साल 2003 में इस पुल का निर्माण शुरू हुआ था और 2017 में इसे आम लोगों के लिए खोल दिया गया।

2दिबांग रिवर ब्रिज

longest bridge in india dibang river inside

भूपेन हजारिका सेतु के बाद दिबांग रिवर ब्रिज को सबसे लंबा पुल माना जाता है। इस पुल की लम्बाई लगभग 6.2 किलोमीटर है। अरुणाचल प्रदेश की दिबांग नदी के ऊपर निर्मित ये पुल बोमजीर और मालेक गांवों को जोड़ता है। इस पुल को सैन्य दृष्टि से भी भारत के लिए बेहद महत्वपूर्ण माना जाता है। 

 

3महात्मा गांधी सेतु

longest bridge in india mahatma gandhi inside

बिहार की राजधानी पटना में मौजूद महात्मा गांधी सेतु की लम्बाई लगभग 5.75 किलोमीटर है। दिबांग रिवर ब्रिज के बाद इसे सबसे बड़ा और लंबा पुल माना जाता है। पवित्र नदी गंगा के ऊपर निर्मित ये पुल पटना शहर को हाजीपुर से जोड़ता है। साल 1982 में तैयार इस पुल को आज भी इंजीनियरिंग चमत्कार का एक बेहतरीन नमूना समझा जाता है।

 

4बांद्रा-वर्ली सी लिंक

longest bridge in india bandra sea link inside

भारत की आर्थिक राजधानी मुंबई में मौजूद बांद्रा-वर्ली सी लिंक भारत के सबसे लंबे पुलों में से एक माना जाता है। इस पुल की लम्बाई लगभग 5.6 किलोमीटर है। ये पुल बांद्रा को मुंबई के पश्चिमी शहरों से जोड़ता है। आपको बता दें कि इस पुल को राजीव गांधी सागर लिंक के रूप में भी जाना जाता है। इस ब्रिज का निर्माण 2000 शुरु हुआ था और ये 2009 में बनकर तैयार हो गया था।

 

5बोगीबील सेतु

longest bridge in india bolibil inside

भूपेन हजारिका सेतु के बाद असम का सबसे बड़ा पुल बोगीबील सेतु/बगीबिल सेतु है। इस पुल की लम्बाई लगभग 4.94 किलोमीटर है। ब्रह्मपुत्र नदी पर निर्मित ये पुल डिब्रूगढ़ में है जो असम और अरुणाचल प्रदेश को जोड़ता है। सैन्य दृष्टि से भी भारत के लिए बेहद महत्वपूर्ण  है ये पुल।

 

6विक्रमशिला सेतु

longest bridge in india vikrramshila inside

बिहार में मौजूद महात्मा गांधी सेतु के बाद सबसे बड़ा पुल विक्रमशिला सेतु है। अगर बात करें इस पुल की लम्बाई की, तो इस पुल की कुल लम्बाई लगभग 4.7 किलोमीटर है, जो NH80 और NH31 को जोड़ता है। इस पुल का निर्माण 2001 में हुआ था।

 

7दीघा-सोनपुर ब्रिज

longest bridge in india digha sonpur digha inside

दीघा-सोनपुर ब्रिज की लम्बाई लगभग 4.55 किलोमीटर है। इस पुल को असम में बोगीबील ब्रिज के बाद भारत का दूसरा सबसे लंबा रेल के साथ सड़क पुल भी माना जाता है।

 

8आरा-छपरा ब्रिज

longest bridge in india ara chaapra inside

भारत के सबसे लम्बे सड़क पुलों में से एक है आरा-छपरा ब्रिज। ये पुल आरा-और छपरा शहर को जोड़ने का काम करता है। इस ब्रिज को वीर कुँवर सिंह सेतु के नाम से भी जाना जाता है। गंगा नदी पर निर्मित इस पुल की लम्बाई लगभग 4.65 किलोमीटर है।

 

9गोदावरी ब्रिज

longest godawari bridge in indiai nside

दक्षिण भारत के आंध्र प्रदेश में मौजूद गोदावरी ब्रिज भारत का तीसरे सबसे लम्बा रेल के साथ सड़क पुल है। ये पुल कोव्वुर ज़िले को दीवानचेररू ज़िले से जोड़ता है। इस पुल की कुल लम्बाई 4.13 किलोमीटर है।

 

10मुंगेर गंगा ब्रिज

longest munger bridge in india inside

बिहार के मुंगेर जिले में गंगा नदी के ऊपर निर्मित ये पुल श्री कृष्ण सेतु के नाम से भी जाना जाता है।  2016 में बनकर तैयार हुए इस पुल की लम्बाई लगभग 3.69 किमी और चौड़ाई 12 मीटर है। आपको बता दें कि इस पुल की आधारशिला पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी ने साल 2002 में रखी थी।

अगर आपको यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे शेयर जरूर करें व इसी तरह के अन्य लेख पढ़ने के लिए जुड़ी रहें आपकी अपनी वेबसाइट हरजिन्दगी के साथ।