• ENG
  • Login
  • Search
  • Close
    चाहिए कुछ ख़ास?
    Search
author-profile

डिब्बा बंद फूड्स सेवन करने के बारे में क्या कहता है आयुर्वेद, आप भी जानें

अगर आप भी डिब्बा बंद फूड्स का सेवन करती हैं तो आइए जानते हैं इसके बारे में आयुर्वेद क्या कहता है।
author-profile
Published -24 Mar 2022, 12:35 ISTUpdated -24 Mar 2022, 13:41 IST
Next
Article
consume canned food as per ayurveda

हम और आप कई बार ऐसी खाद्य सामग्री को अपनी डाइट में शामिल करते हैं जिनके सेवन से फायदे की जगह नुकसान भी होते हैं। इस तरह के फूड्स और ड्रिंक्स सेहत को नुकसान पहुंचाने के साथ-साथ कई बीमारियों के कारण भी बन जाते हैं। इसलिए कुछ फूड्स और ड्रिंक्स जिनके सेवन से सेहत के लिए नुकसान हैं उन्हें अपनी डाइट से दूर रखना चाहिए।

डिब्बा बंद या पैकेट बंद फूड कुछ ऐसे ही फूड्स हैं जिन्हें एक नहीं बल्कि कई जानकार सेवन करने को माना करते हैं। डिब्बा बंद फूड्स घर पर बने फ़ूड की तुलना में बहुत अधिक स्वादिष्ट हो सकते हैं लेकिन कई बार ये स्वास्थ्य हानिकारक भी साबित हो जाते हैं। ऐसे में अगर आप जानना चाहते हैं कि डिब्बा बंद फूड्स के अधिक सेवन से सेहत पर क्या असर पड़ता है तो फिर आपको इस लेख को ज़रूर पढ़ना चाहिए। क्योंकि इस लेख में आयुर्वेद की डॉक्टर निति सेठ डिब्बा बंद फूड्स के फायदे और नुकसान के बारे में बताने जा रही हैं। आइए जानते हैं।

पाचन तंत्र पर पड़ता है असर 

ways to consume canned food as per ayurveda inside

आजकल लगभग हर दस व्यक्ति में से कम से कम दो से तीन व्यक्ति पेट की समस्या से ज़रूर परेशान रहता है। कोई गैस की समस्या से परेशान है, कोई पेट दर्द की समस्या से परेशान है तो कोई अन्य समस्या से। ऐसे में अगर आप भी पेट की समस्या से परेशान रहती हैं तो डिब्बा बंद फूड्स का सेवन करने से बचना चाहिए। इसके सेवन से पहचान तंत्र पर भी बुरा असर पड़ता है।  

इसे भी पढ़ें: आयुर्वेद के अनुसार जानें बेस्ट कुकिंग ऑयल और उसके फायदे

पोषक तत्वों की कमी 

ways to consume canned food as per ayurveda iside

ये तो हम सभी जानते हैं कि ताजी सब्जी या घर पर बना हुआ भोजन बाहर के फूड्स से कई गुणा अधिक फायदेमंद होते हैं। लेकिन जब हम और आप डिब्बा बंद मटर, टमाटर, चना, पनीर, खजूर, मशरूम आदि चीजों का सेवन करते हैं तो उसमें पोषक तत्वों की कमी होने के साथ-साथ सेहत पर भी बुरा असर पड़ता है। ऐसे में अगर आप पैकेट बंद किसी मिठाई या किसी अन्य चीज का सेवन करती हैं तो आपको इसके सेवन से बचना चाहिए। 

Recommended Video

फैट फ्री चेक करें 

consume canned food as per ayurveda inside

आज से नहीं बल्कि वर्षों से फैट फ्री फूड्स सेहत के लिए बेस्ट माने जाते हैं। ऐसे अगर आप डिब्बा बंद फूड्स का सेवन करते हैं तो आपको इस बात का ज़रूर ध्यान रखना चाहिए कि जिस डिब्बा बंद फूड को आप खरीद रही हैं उसे संरक्षित करने के लिए किसी फैटी पदार्थ का इस्तेमाल तो नहीं किया गया है। अधिक फैटी फूड्स के सेवन करने से वजन तो बढ़ता ही साथ में कई प्रकार की बीमारी से भी आप परेशान हो सकते हैं।

इसे भी पढ़ें: 40+ की महिलाएं रोजाना खाएंगी 1 अनार तो ब्‍लड बढ़ाने के साथ त्‍वचा में आएगा निखार

नमक का होता है इस्तेमाल 

ways to consume canned food as per ayurveda inside

शायद आपको मालूम हो अगर नहीं मालूम है तो आपकी जानकारी के लिए बता दें कि डिब्बा बंद फूड्स को अधिक दिन तक प्रिजर्वेटिव रखने के लिए नमक का इस्तेमाल किया जाता है। ऐसे में अधिक नमक के सेवन से पाचन तंत्र पर बुरा असर तो पड़ता ही साथ में इसके सेवन से शरीर के अन्य अंगों पर भी बुरा असर पड़ता है। ऐसे में डिब्बा बंद फूड्स को भोजन में शामिल करने से आपको भी बचना चाहिए।

अगर आपको यह स्टोरी अच्छी लगी हो तो इसे फेसबुक पर जरूर शेयर करें और इसी तरह के अन्य लेख पढ़ने के लिए जुड़ी रहें आपकी अपनी वेबसाइट हरजिन्दगी के साथ।

Image Credit:(@freepik)

Disclaimer

आपकी स्किन और शरीर आपकी ही तरह अलग है। आप तक अपने आर्टिकल्स और सोशल मीडिया हैंडल्स के माध्यम से सही, सुरक्षित और विशेषज्ञ द्वारा वेरिफाइड जानकारी लाना हमारा प्रयास है, लेकिन फिर भी किसी भी होम रेमेडी, हैक या फिटनेस टिप को ट्राई करने से पहले आप अपने डॉक्टर की सलाह जरूर लें। किसी भी प्रतिक्रिया या शिकायत के लिए, compliant_gro@jagrannewmedia.com पर हमसे संपर्क करें।