डायबिटीज दो प्रकार की होती है - टाइप 1 और टाइप 2 डायबिटीज। टाइप 1 डायबिटीज में इंसुलिन का बनना कम हो जाता है या फिर इंसुलिन बनना बंद हो जाता है, और इसे काफी हद तक कंट्रोल किया जा सकता है। जबकि टाइप 2 डायबिटीज से प्रभावित लोगों का ब्लड शुगर का लेवल बहुत ज्यादा बढ़ जाता है जिसको कंट्रोल  करना बहुत मुश्किल होता है। इस स्थिति में पीडि़त व्यक्ति को अधिक प्यास लगती है, बार-बार यूरीन आता है और लगातार भूख लगना जैसी समस्‍यायें होती हैं। यह किसी को भी हो सकता है, लेकिन इसे बच्‍चों में अधिक देखा जाता है। टाइप-2 डायबिटीज में बॉडी इंसुलिन का सही तरीके से इस्‍तेमाल नहीं कर पाता है। अगर आप भी टाइप-2 डायबिटीज से ग्रस्‍त हैं तो अब परेशान होने की जरूरत नहीं है क्‍योंकि एक नई रिसर्च के अनुसार पोषण से भरपूर डाइट से इसके खतरे को कम किया जा सकता है।

Read more: कड़वा करेला घोलेगा आपकी हेल्थ में मिठास

जी हां एक नई रिसर्च ने टाइप-2 डायबिटीज को बेहतर बनाने के लिए साप्‍ताहिक पोषण कक्षाओं के लाभों पर प्रकाश डाला है। फिसिशन्स कमेटी फॉर रेस्पोंसिबल मेडिसिन द्वारा किए गए शोध के अनुसार, दवाएं पर्याप्‍त नहीं हैं-डाइट में बदलाव और पोषण संबंधी शिक्षा डायबिटीज से ग्रस्‍त लोगों में अंतर ला सकती हैं।

type  daibetes inside
Image Courtesy: HerZindagi

फ्री नुट्रिशन क्‍लास

टीम ने वॉशिंगटन, डीसी में एक निजी एंडोक्रिनोलॉजी कार्यालय में एक अध्ययन की स्थापना की थी। काम के घंटे के बाद, शोधकर्ताओं ने एक सर्कल में प्रतीक्षा कक्ष में कुर्सियां डाली और डायबिटीज से ग्रस्‍त लोगों के लिए फ्री नुट्रिशन क्‍लास कीं।

यद्यपि मरीजों की डायबिटीज आमतौर पर शुरुआत में अच्छी तरह से कंट्रोल थी
, कक्षाओं ने उनके वजन, ब्‍लड शुगर, और कोलेस्ट्रॉल लेवल में काफी सुधार किया। 20-वीक के अध्ययन के दौरान दो अलग-अलग आहार दोनों प्रभावी साबित हुए: एक लो फैट, वेगन डाइट और एक कंट्रोल इटिंग पैटर्न। दोनों ग्रुप ने कम मीट, कम फैट, और कम कोलेस्ट्रॉल लिया था। ये परिणाम डायबिटीज मैनेजमेंट में सुधार के लिए एक सरल, सस्ती आहार के हस्तक्षेप की संभावना का सुझाव देते हैं।

inside
Image Courtesy: HerZindagi

क्‍या कहती है रिसर्च

अध्ययन लेखक नील बार्नार्ड ने कहा, "चिकित्सक कक्षाओं में अपने प्रतीक्षा कक्षों को बदल सकते हैं। यह सरल और प्रभावी है"। "मरीज़ स्वस्थ भोजन परिवर्तनों के बारे में सीखते हैं, और टिप्स शेयर कर सकते हैं, नुस्खा विचारों को स्वैप कर सकते हैं, और एक साथ चुनौतियों के माध्यम से काम कर सकते हैं।" एक अध्ययन के प्रतिभागी ने कहा, "अन्य लोगों के साथ एक वर्ग में होने के नाते जिनके पास समान लक्ष्य हैं, मुझे ट्रैक पर रखा है"

इंसुलिन फ़ंक्शन होता है बेहतर

पिछली रिसर्च से पता चला है कि डायबिटीज मैनेजमेंट के लिए आहार हस्तक्षेप प्रभावी हैं क्योंकि दवाओं के विपरीत, ये आपकी हेल्‍थ में सुधार करने में हेल्‍प करते हैं। प्लांट बेस डाइट, जो एनिमल फैट और कोलेस्ट्रॉल से फ्री होती हैं, विशेष रूप से फायदेमंद होती हैं क्योंकि ये सेल्‍स के अंदर फैट को कम करके टाइप-2 डायबिटीज के मूल कारण का इलाज करते हैं, जो इंसुलिन फ़ंक्शन को बेहतर बनाता है। प्लांट बेस डाइट से बॉडी के वजन, लिपिड कंट्रोल, ग्लाइसेमिक कंट्रोल और ब्‍लड प्रेशर में भी फायदा होता है।

"पोषण हमारी डाय‍बिटीज के खिलाफ लड़ाई में सबसे शक्तिशाली उपकरण है," बर्नार्ड ने कहा। 100 मिलियन से अधिक अमेरिकी अब प्री-डायबिटीज और डायबिटीज से ग्रस्‍त हैं, जो कि हार्ट डिजीज, आंखों की समस्‍या, और किडनी की प्रॉब्‍लम सबसे ज्‍यादा होती है। ये स्‍टडी अकादमी ऑफ पोषण एंड डायटेटिक्स के जर्नल में दिखाई दी है।

Recommended Video

Read more: कहीं आपके बढ़ते मोटापे और diabetes का कारण ये 5 white foods तो नहीं