कड़वा करेला घोलेगा आपकी हेल्थ में मिठास

By Sunil Kumar10 Jan 2018, 19:09 IST

खाने में करेला जितना ही आपको कड़वा लगता है उतना ही ये आपकी हेल्थ के लिए फायदेमंद है। अक्सर जब भी आपकी थाली में करेले की सब्जी या इसका जूस आपके सामने रखा जाता होगा तो आप उसे देखकर अपनी नाक सिकोड़ लेतीं होंगी। बगैर ये जाने की ये आपको कितना सेहतमंद रखता है। करेला स्वाद में भले ही कितना भी कड़वा हो लेकिन ये आपकी सेहत में मिठास घोल देता है। इसमें प्राकृति रूप से मौजूद पोषक तत्व आपको ढेरों लाभ देते हैं। आपकी स्किन को गोरा रखने के साथ-साथ करेला आपकी कई बीमारियों को भी ठीक करता है। तो चलिए जानते हैं ऐसे ही कुछ फायदों को।

करेले के डर से नहीं आते कील-मुंहासे

Bitter Gourd health karela inside

त्वाचा की बात की जाये तो कई बार हमारे चेहरे की स्किन में इंफेक्शन हो जाता है। जिसकी वजह से आपके चेहरे पर मुंहासे निकल आते हैं। और जैसे ही इनमें से एक भी मुंहासा फूटता है तो उसके पानी के इंफेक्शन में मौजूद बैक्टीरिया आपके पूरे चेहरे पर फैल जाता है।

Bitter Gourd health karela inside

और देखते ही देखते ये आपके पूरे चेहरे पर फैलने लगते हैं। यानिकी इनका इंफेक्शन धीरे-धीरे आपके चेहरे को कवर कर लेता है। कई बार ये मुंहासे फुंसियों का रुप ले लेते हैं। ऐसे में करेला आपके मुंहासों से निपटने में राम बांण साबित होता है। इसमें मौजूद प्राकृतिक तत्व इस बैक्टीरिया को आपके चेहरे पर फैलने से रोकते हैं।

खाने को झटपट डाईजेस्ट करता है

Bitter Gourd health karela inside

करेले की सबसे बड़ी खासियत ये है कि ये ना सिर्फ आपकी स्किन को बदरंग और बदसूरत होने से बचाता है बल्कि ये आपके डाइजेशन सिस्टम को भी अच्छा करता है। इसके प्राकृतिक हर्बस आपकी इंटस्टाईन में जाकर उसमें मौजूद सारी गंदगी को साफ कर देते हैं। इसके साथ ही ये आपके मैटाबॉलिज्म को भी तेज कर देता है। जिससे आपका खाना आसानी से पच जाता है। आप इसे अपने खाने में सब्जी या फिर स्नैक्स के तौर पर खा सकतीं हैं। या फिर आप इसका जूंस भी सुबह-सुबह पी सकतीं हैं।

सांसो को देता है लंबी उम्र

Bitter Gourd health karela inside

करेला ना सिर्फ आपके पेट से संबंधित समस्याओं को ठीक करता है बल्कि ये आपकी सांसो को भी लंबी उम्र देता है। जी हां दमा के मरीजों के लिए ठीक से सांस ले पाना हमेशा से ही एक चुनौती भर रहा है। जिसमें कई बार उनकी airways muscles जरुरत से ज्यादा कॉंट्रेक्ट हो जाती है। इन स्मूथ मसल्स का मुंह ज्यादा खुलने से इसमें कैल्शियम की मात्रा बढ़ जाती है। जिसकी वजह से आस्थामा के मरीजों को सांस का दौरा पड़ जाता है। अपने कड़वेपन की वजह से करेला इन स्मूथ मसल्स को खुलने से रोकता है ताकि कैल्शियम अंदर ना आ पाये।

Watch more: अब दांतो की सड़न और बदबू को कीजिये bye-bye

करेला है डायबिटीज का दुश्मन

करेले को हमेशा से ही डायबिटीज का दुश्मन माना जाता रहा है। इसका सबसे बड़ा कारण है इसमें तीन बड़े एंटी-डायबिटीज सब्सटेंस का होना। इसमें charantin होता है जो आपकी बॉडी में blood sugar level को कम करता है। vicine और polypeptide ये दोनो भी एक साथ मिलकर या फिर अलग-अलग आपकी बॉडी में काम करते हैं।  Polypeptide आपकी बॉडी में एक इंसुलिन की तरह काम करता है जो सीधे ही आपकी बॉडी में blood glucose level को गिराकर रखता है।

कई बार करेले को लेकर एक्सपर्ट की राय एकमत नहीं रही है, साल 2011 में United kingdom के Journal of Ethnopharmacology ने एक चार हफ्तों के अध्ययन की रिपोर्ट पेश की जिसमें इस बात को माना गया कि diabetes type-2 के मरीजों को रोजाना 2,000 mg करेले का जूस या फिर उसके पाउडर देने से उनके शुगर लेवल में कमी देखी गई। जिसका सीधा मतलब है कि भले ही लोगों की राय एक ना हो लेकिन आप करेले के फायदों को नजरअंदाज नहीं कर सकतीं।

 

Credits

Producer: Prabhjot Kaur

Video Editor: Atul Tripathi