कोविड 19 ने दुनिया भर के लोगों को परेशान कर रखा है और इस समय घर के बाहर बहुत ज्यादा जाना सही नहीं है। पर ऐसा भी नहीं है कि हमेशा घर पर ही रहा जाए। बाहर जाने की जरूरत किसी न किसी काम से पड़ ही जाती है और ऐसे समय में अगर पब्लिक टॉयलेट इस्तेमाल करना हो तो समस्या और भी ज्यादा बढ़ जाती है। वैसे भी पब्लिक टॉयलेट सुरक्षित और हाइजीनिक नहीं होते हैं तो ऐसे में अगर कोविड के समय कोई पब्लिक टॉयलेट इस्तेमाल करना हो तो क्या हो। 

रहो सेफ, जो लीडिंग हाइजीन और वेलनेस ब्रांड‘पी सेफ’ की सहयोग संस्था है, उसने हाल ही में दिल्ली एनसीआर और राजस्थान के विभिन्न हिस्सों में मुफ्त में सेनेटरी पैड बांटे हैं। कंपनी एक हेल्दी मेंस्ट्रुअल प्रैक्टिस को बढ़ावा देने के उद्देश्य से लगभग 1 हज़ार महिलाओं तक पहुंची। इसी तहत हमने पी सेफ के संस्थापक विकास बगारिया से बात की और ये जानने की कोशिश की कि कोविड 19 के समय में मेंस्ट्रुअल हाइजीन और पब्लिक टॉयलेट का इस्तेमाल कितना सुरक्षित है और अगर कोई पब्लिक टॉयलेट में जा रहा है तो उसे किस तरह की सावधानियां बरतने की जरूरत होती है। 

covid and public toilets

इसे जरूर पढ़ें- Expert Tips: अगर एकदम से बढ़ता है Blood Pressure, तो तुरंत करें ये काम

1. फेस मास्क का प्रयोग करें- 

विकास बगारिया कहते हैं कि, 'महामारी संक्रमण के खिलाफ मास्क एक ज़रुरी सुरक्षा है। कोविड-19 एक संक्रमित व्यक्ति की सांस द्वारा निकली बूंदों के ज़रिए फैलता है। इसलिए, आप मुंह और नाक के माध्यम से कोरोना वायरस को अपनी सांसों में प्रवेश करने से रोक सकते हैं। एक पब्लिक बाथरूम में जाने से आपके ऊपर दूषित और संक्रमित हवा का जोखिम होता है। आपको इस तरह की हवा से बचने के लिए न केवल मास्क का इस्तेमाल करना चाहिए, बल्कि टॉयलेट को फ्लश करने से पहले ढक्कन को भी बंद कर देना चाहिए।'  

ये जरूरी है कि आप फ्लश करते समय टॉयलेट सीट को बंद कर दें। ऐसा करने से यह हवा या धुएं को फ्लशिंग प्रक्रिया के दौरान फैलने से रोकता है। यहां तक कि अगर यह कोविड -19 नहीं है तो भी बहुत सारे अन्य रोगाणु और संक्रमण हैं जो शौचालय में मौजूद हो सकते हैं।

Recommended Video

2. आम सतहों को सीधे छूने से बचें- 

पब्लिक वॉशरूम आपके लिए कभी भी ज्यादा देर तक इस्तेमाल करने वाली जगह नहीं हो सकती है। बस काम निपटाकर बाहर निकल जाओ। अब हम हमेशा एक वायरल इन्फेक्शन के साथ दूषित वातावरण में रहते हैं। जब भी आप वहां हों, जहां तक संभव हो सतहों को सीधे छूने से बचें। जब भी आपको स्पर्श करना हो, तो दरवाजे के हैंडल, टॉयलेट सीट, फ्लश हैंडल या नल को छूने से पहले एक टॉयलेट सीट सेनिटाइजर स्प्रे का उपयोग करें। सुनिश्चित करें कि आप इन सतहों को छूने के बाद अपनी आंखों, नाक या मुंह को न छुएं, क्योंकि इन सबके ज़रिए आपके शरीर में वायरस प्रवेश कर सकता है। 

covid details and hygiene

बच्चों के साथ ज्यादा सावधान रहें क्योंकि वे गलती से उन सतहों को छू सकते हैं जो पहले से ही दूषित हों। महामारी के समय में यदि बच्चों को वॉशरूम जाने की आवश्यकता होती है, तो उनके माता-पिता को उनका साथ देना चाहिए या पब्लिक वॉशरूम के अंदर उनके आने-जाने की निगरानी करनी चाहिए। 

इसे जरूर पढ़ें- कैसी चोट और दर्द के लिए करें बर्फ से सिकाई, एक्सपर्ट से जानें गरम और ठंडे के नियम 

3. हाथों की सफाई का खास ख्याल रखें- 

कोविड -19 के माहौल में पब्लिक टॉयलेट के लिए सबसे अच्छा विकल्प मोशन सेंसर के साथ लगा हुआ नल हैं। इस तरह वे नलों को चालू / बंद किए बिना जरूरत पड़ने पर ऑटोमेटिक तरीके से पानी निकाल सकते हैं। जहां भी ऐसा कोई विकल्प उपलब्ध नहीं है, आप सतहों से कीटाणुओं को खत्म करने के लिए टॉयलेट सीट सेनिटाइजर स्प्रे का उपयोग कर सकते हैं। कई लोगों द्वारा स्पर्श की गई एक सामान्य मशीन का उपयोग करने से बचने के लिए पोर्टेबल लिक्विड सोप कंटेनर भी साथ रखने की सलाह दी जाती है। अच्छी तरह हाथ धोने की तकनीक का पालन करना भी ज़रुरी है क्योंकि वायरस आपकी उंगलियों के बीच हो सकता है। ज्यादा सुरक्षा करने के लिए, वॉशरूम से बाहर आने के बाद अल्कोहल-बेस्ड हैंड सैनिटाइज़र का उपयोग करें। 

covid security in toilet

कोशिश करें कि एक साफ पानी की बॉटल भी अपने साथ रखें क्योंकि अगर टॉयलेट का नल आपको सेफ नहीं लग रहा है तो आप अपनी बॉटल का इस्तेमाल कर सकती हैं।  

कोविड -19 के जल्द जाने की संभावना नहीं है और यह फ्लू या निमोनिया जैसे नियमित वायरल संक्रमण भी बन सकता है। टीके और दवाएं बाजार में उपलब्ध होने के बाद भी, रोकथाम हमेशा इलाज से बेहतर ही मानी जा रही है, इसलिए हाइजीन और हाइजीनिक प्रैक्टिस को स्थायी रूप से हमारी जीवन शैली में शामिल किया जाना है। सोशल डिस्टेंसिंग और हाथ की हाइजीन प्रैक्टिस और फेस मास्क जैसी चीजों के नियमित उपयोग के बाद, टॉयलेट सीट सेनिटाइज़र स्प्रे और हैंड सैनिटाइज़र हमारे और संक्रमणों के बीच एक दीवार बनाने में मदद करता है। यह समय है कि हम सभी न्यू नॉर्मेल की आदत डालें। 

अगर आपको ये स्टोरी अच्छी लगी तो इसे शेयर जरूर करें। ऐसी ही अन्य स्टोरी पढ़ने के लिए जुड़े रहें हरजिंदगी से।