कई बार दांतों का अच्छी तरह से ख्याल रखने पर भी मुंह में बैक्टीरिया हो जाते हैं। वो बैक्टीरिया दांतों में प्लाक नाम की चिपचिपी फिल्म बनाने के लिए ज़िम्मेदार होते हैं। यह प्लाक या पट्टिका आपके दांतों को कोट करता है और आपकी गम लाइन के नीचे जाता है और दांतों को नुक्सान पहुंचाता है। यही नहीं  प्लाक ही मुंह से आने वाली बदबू का कारण भी होता है, जिसकी वजह से ब्रश के बाद भी मुंह से बदबू आती है।

यदि यह समस्या ज्यादा बढ़ जाती है, तो तुरंत डेंटिस्ट के पास जाना चाहिए और इसे दांतों से हटवाना चाहिए। आइये स्माइल केयर डेंटल यूनिट,कोलकाता के डॉक्टर विवेक तिवारी B.D.S (cal) से जानें कि प्लाक क्या है और इससे छुटकारा कैसे पाया जा सकता है। 

क्या है प्लाक 

plaque in tooth

दांतों में प्लाक या पट्टिका एक रंगहीन या हल्के पीले रंग की फिल्म है जो लगातार आपके दांतों पर बन जाती है। जब लार, भोजन और तरल पदार्थ आपस में मिलते हैं तो बैक्टीरिया के गठन की वजह से दांतों में एक लेयर बन जाती है जिसे प्लाक कहा जाता है। यह आपके दांतों के बीच और मसूड़े की रेखा के साथ बनते हैं। ब्रश करने के 4-12 घंटे बाद दांतों पर प्लाक बनना शुरू हो जाता है, यही वजह है कि दिन में कम से कम दो बार अच्छी तरह से ब्रश करना और रोजाना फ्लॉस करना बहुत जरूरी है।

dr. vivek tiwari kolkata

डेंटल हाइजीन को प्रभावित करता है 

प्लाक कई मौखिक स्वास्थ्य मुद्दों का मूल कारण है। प्लाक में बैक्टीरिया एसिड पैदा करते हैं जो दांतों की ऊपरी परत पर हमला करते हैं जिससे कैविटीज पैदा होती हैं। प्लाक में बैक्टीरिया मसूड़े की बीमारी के शुरुआती चरण का कारण बन सकता है जिसे मसूड़े की सूजन कहा जाता है। प्लाक भी खराब सांस के लिए और मुंह की बदबू का कारण हैं। इसके अलावा ये दांतों के पीलेपन का कारण भी होता है। 

बचाव के उपाय 

ठीक से ब्रश करना 

brush properly plaque

सुनिश्चित करें कि आपका टूथब्रश दांतों की सभी उजागर सतहों को कवर करता है, गाल की तरफ, जीभ की तरफ और काटने वाली सतह। टूथब्रश को दांतों के साथ गमलाइन पर 45 डिग्री के कोण पर रखा जाना चाहिए। यदि दांतों के बीच अच्छी तरह से ब्रश न किया जाए तो ये दांतों के प्लाक का मुख्य कारण होता है। 

इसे जरूर पढ़ें:Expert Tips: क्या आपके दांतों में सेंस्टिविटी होती है ? जानें इसके कारण और इलाज

Recommended Video

इलेक्ट्रिक टूथब्रश 

एक इलेक्ट्रिक टूथब्रश द्वारा बनाई गई ब्रिसल्स की गति एक मैनुअल टूथब्रश की तुलना में अधिक पट्टिका को हटा देती है। ये विशेष रूप से भीड़ वाले दांतों या ब्रेसिज़ पहनने वाले रोगियों में फायदेमंद होते हैं। एक इलेक्ट्रिक टूथब्रश हमेशा एक मैनुअल टूथब्रश की तुलना में अधिक और बहुत जल्द ही प्लाक हो हटाता है।  

फ्लॉसिंग करना

floss in teeth

कई बार ब्रश करने से दांतों के बीच से पट्टिका नहीं हटती है इसलिए जहाँ वे स्पर्श करते हैं, वहां फ्लॉसिंग आवश्यक है। फ्लॉसिंग एक टूथब्रश मिस करने वाले क्षेत्रों से पट्टिका बिल्डअप को हटा देता है। उचित फ्लॉसिंग तकनीक में प्रत्येक आसन्न दांत की सतह के चारों ओर फ्लॉस को लपेटने और पूरी सतह को धीरे से साफ करने के लिए इसे ऊपर और नीचे गति में स्थानांतरित करने की आवश्यकता होती है।

माउथवॉश 

mouth wash

एक माउथवॉश अपने अवयवों की रासायनिक कार्रवाई और दांतों के आसपास के छोटे क्षेत्रों को साफ़ करने की यांत्रिक कार्रवाई के साथ पट्टिका को हटाता है। कई अलग-अलग प्रकार के माउथवॉश बाजार में उपलब्ध हैं लेकिन इनके इस्तेमाल से पहले भी डेंटिस्ट से परामर्श लें। कुछ में रोग पैदा करने वाले बैक्टीरिया को मारने के लिए एंटीबायोटिक्स होते हैं। कुछ में तामचीनी को मजबूत करने और गुहाओं से लड़ने के लिए फ्लोराइड होता है। सभी पट्टिका को हटाने में सहायक होते हैं।

इसे जरूर पढ़ें:मसूड़ों में सूजन से रहती हैं परेशान तो अपनी डाइट में इस '1 चीज' को शामिल करें

डेंटिस्ट से परामर्श 

dentist advice plaque

आप भले ही प्लाक की समस्या को छोटी समस्या समझें लेकिन ये कई कारणों से मुंह की बीमारियों के लिए ज़िम्मेदार होता है। इसलिए समय-समय पर दांतों की सफाई बहुत आवश्यक है। यदि आप नियमित रूप से ब्रश और माउथ वाश करने के बाद भी इस समस्या से परेशान हैं, तो तुरंत डेंटिस्ट से परामर्श लें और दांतों की सफाई करवाएं। 

प्लाक से होने वाली समस्याएं 

यदि प्लाक को समय से दांतों से नहीं हटाया जाता है, तो ये दांतों से सम्बंधित अन्य कई बीमारियों का भी कारण बनती हैं। जैसे -

कैविटीज़ 

cavity reason plaque

प्लाक में निहित बैक्टीरिया, एसिड का उत्पादन करते हैं। यह एसिड, जब यह विस्तारित अवधि के लिए दांतों के एनेमल के संपर्क में रहता है, तो एनेमल को नरम और कमजोर करता है। आखिरकार, एसिड एनेमल के माध्यम से टूट जाता है, जिससे बैक्टीरिया दांत में अटैक  कर सकते हैं और कैविटी पैदा कर सकते हैं। 

सांसों की बदबू 

प्लाक बिल्डअप सांसों की बदबू का सबसे मुख्या कारण है! इसे स्थूल रूप से लगाने के लिए, प्लाक में सड़ने वाला भोजन मलबा होता है, ठीक उसी तरह जैसे कि रसोई का कचरा हो सकता है। बेशक इस सड़े हुए भोजन के ज्यादा समय के लिए दांतों में रहने से मुंह से बदबू आने लगती है। 

पीरियोडॉन्टल रोग

tooth problem plaque 

जैसे-जैसे प्लाक,  टार्टर में कठोर होती है, यह मसूड़ों के ऊतकों के लिए एक अड़चन बन जाती है। इस बैक्टीरियल बिल्डअप के लिए शरीर की प्राकृतिक प्रतिक्रिया एक भड़काऊ प्रक्रिया है। मसूड़े और जबड़े इस सूजन का जवाब देते हैं और इससे दूर होने लगते हैं। यह प्रक्रिया दांतों के मसूड़ों और जबड़े की स्वस्थ लगाव को हटा देती है, जिसके परिणामस्वरूप गंभीर मामलों में दांत का नुकसान हो सकता है।

अगर आपको यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे शेयर जरूर करें व इसी तरह के अन्य लेख पढ़ने के लिए जुड़ी रहें आपकी अपनी वेबसाइट हरजिन्दगी के साथ। 

Image Credit: freepik