क्‍या आपको पता है कि नींद ना आने के पीछे कई कारण होते है। अकसर ऐसा होता है कि कई बार जब हम बाहर जाते है और कही दूसरी जगह या होटल में सोते है तो हमें सही नींद नहीं आती है। कई बार सोते समय हमें बेड कम्फर्टेबल नहीं लगता या तकिया कम्फर्टेबल नहीं लगता। शायद यही वजह है कि हमें सबसे ज्‍यादा आराम की नींद अपने घर पर ही आती है। लेकिन क्‍या आपने कभी सोचा है कि ऐसा क्‍यों होता। ऐसा इसलिए होता है क्‍योंकि हम अपने घर पर अपने शरीर और सुविधा के हिसाब से बेड और तकिया रखते है। खासकर आपकी प्‍यारी और अच्‍छी नींद के पीछे सबसे ज्‍यादा तकिये का कमाल होता है, क्‍योंकि आपने महसूस किया होगा कि अगर तकिया कम्फर्टेबल ना हो तो हमें नींद नहीं आती है। और कही ना कही यही वजह है कि बहुत सारे लोग अपने तकिये को लेकर काफी चूंजी और सेंसटिव होते है। उनका आलम ये होता है कि वो अपने तकिये के बिना सो नहीं पाते है।

perfect pillow for sound sleep and good health inside

इसे जरूर पढ़ें: अगर मुंह खोलकर सोती हैं आप तो आपकी हेल्थ को हो सकता है खतरा

तो फिर इतनी महत्‍वपूर्ण चीज को खरीदते समय कैसे कोई इसपर ध्‍यान ना दें, आखिर ये सीधे तौर पर आपके स्‍वास्‍थ्‍य से जुड़ा है, क्‍योंकि अगर अच्‍छी नींद नहीं आएगी तो आपको स्‍वास्‍थ्‍य बिगड़ सकता है। तो इसलिए अगर आप नए तकिये खरीदने की सोच रही है हम आपको बताते है कि आपको कैसा तकिया खरीदना चाहिए ताकि आपके आराम में कोई कमी ना आए। जब आपका तकिया होगा आपके लिए परर्फेक्ट, तो फिर आएगी आपको चैन नींद। इसलिए जब आप अगली बार तकिया खरीदने बाजार जाएं, तो तकिया खरीदते समय इन बातों का ध्यान जरूर रखें।

कुछ समय पहले तक सर्दी आने पर धुनिये घर आकर गद्दे और तकिये की धुनाई करते थे या रूई बदलते थे। लेकिन बदलते समय ने रुई की जगह पर बहुत तरह के भरावन मार्केट में आ गए है। यह भरावन मेमोरी फोम, जूट, पोलियस्टर या सिंथेटिक कॉटन, फाइबर होते है। हर प्रकार की भरावन के अपने फायदे और नुकसान हैं। इसलिए आप अपनी जरूरत के हिसाब से सही भरावन का चुनाव करें और फिर तकिया खरीदें।

मेमोरी फोम तकिया

मेमोरी फोम वाले तकिये आपकी गर्दन और सर को एक बेहतर सपोर्ट देते हैं। इसलिए मेमोरी फोम को गद्दे और तकिये के लिए सबसे अच्‍छा माना जाता है। अगर आप ज्‍यादातर साइड की ओर सर करके सोती हैं, तो इस मटिरियल के तकिये आपके लिए सबसे अच्‍छे है। अगर आप घर बैठै ऑनलाइन तकिया खरीदना चाहती हैं तो मेमोरी फोम पिलो का मार्केट प्राइस 1,999 रुपये है, लेकिन इसे आप यहां से 1,199 रुपये में खरीद सकती हैं

प्रेग्नेंसी पिलो

इस तरह का तकिया गर्भवती महिलाओं के लिए खास तौर पर बनाया जाता है। इनको ऐसे डिजाइन किया जाता है कि सोते समय गर्भवती महिलाओं को आराम मिल सकें। इस तरह का तकिया गर्भवती महिलाओं के शरीर के आकार को अच्छे से सपोर्ट करता है। अगर आप प्रेग्‍नेंट हैं और घर बैठै ऑनलाइन तकिया खरीदना चाहती हैं तो प्रेग्‍नेंसी पिलो का मार्केट प्राइस 3,199 रुपये है, लेकिन इसे आप यहां से 2,199 रुपये में खरीद सकती हैं

how to pick the perfect pillow for good health inside

कोमलता का रखें ध्‍यान

तकिया खरीदते समय अपनी शारीरिक और मानसिक अवस्था का ध्यान जरूर रखें। अगर आपको किसी प्रकार की समस्‍या है जैसे कि सर्वाइकल, नसों में तकलीफ, सर दर्द तो थोड़ा सख्त यानी रुई की भरावन वाला तकिया ही खरीदें। गर्दन और सिर को आराम देने के लिए लेटेक्स या मेमोरी फ़ोम वाला तकिया ही अच्छा होता है। इन तकियों की खास बात यह होती है कि ये शरीर के आकार के साथ अपनी शेप ले लेते हैं।

गद्दे के हिसाब से तकिया खरीदें

तकिया खरदते समय अपने गद्दे के प्रकार को जरूर ध्यान में रखें। आपके तकिये का साइज, गद्दे और पलंग के आकार के अनुसार पर होना चाहिए। जैसे की किंग साइज बेड के लिए बड़े आकार के तकिये और छोटे सिंगल बेड पर छोटे आकार के तकिये ही रखें। शिशु के सिर को गोल आकार देने के लिए जरूर लगाएं राई का तकिया

pick the perfect pillow for sound sleep and good health inside

स्लीपिंग पोजिशन के हिसाब से करें तकिये का चुनाव

अगर आपको पेट के बल सोने की आदत है तो थोड़ा सख्त लेकिन पतला जैसे रुई वाला तकिया ही खरीदे। लेकिन अगर आपको साइड की तरफ करवट लेकर सोने की आदत है तो थोड़ा मोटा और मध्यम सख्त, कोमल वाला तकिया आपके लिए सही रहेगा। पेट के बल सोती हैं तो आज से ही बंद कर दें, आपकी सेहत को हो सकता है नुकसान

how to pick the perfect pillow inside

इसे जरूर पढ़ें: क्‍या आप बाईं करवट लेकर सोती हैं? अगर नहीं! तो ये 5 फायदे जानकर बाईं करवट सोने को हो जाएंगी मजबूर

तकिये के कवर का चुनाव

तकिये का कवर ऐसा होना चाहिए जिससे तकिये के मूल आकार में किसी प्रकार का परिवर्तन न आए। यह कवर न तो अधिक ढीला हो और न ही छोटा या कसा हुआ हो। इसके अलावा इस बात का भी ध्‍यान रखें कि तकिये के कवर का कपड़ा भी स्किन फ्रेंडली होना चाहिए और आरामदायक होना चाहिए। कवर खरीदते समय इस बात का ध्‍यान रखें कि कवर का कलर कमरे के इंटीरियर से मैच करता हुआ हो। ऐसा नहीं होने पर भी इसका सीधा प्रभाव आपकी नींद पर पड़ता है। तकिया लेकर सोती हैं? तो आज से इस आदत को बदल दें, होंगे ये फायदे

तकिया जरूर बदलें

स्वास्थ्य की दृष्टि से यह अच्छा रहेगा कि आप अपना तकिया हर 2 साल के बाद बदल दें। इससे पहले भी अगर आपको अपना तकिया कम्फर्टेबल ना लगे तो इसे बदल दें।