एक समय था जब जोड़ों के दर्द को बुजुर्गों की समस्‍या माना जाता है, लेकिन आजकल युवा पीढ़ी भी इसकी शिकार हैं। खासतौर पर महिलाओं को तो जोड़ों के दर्द की समस्‍या बहुत ज्‍यादा परेशान करती है। जोड़ों का दर्द बहुत तकलीफदेह होता है और यह तकलीफ सर्दियों के मौसम में और भी ज्‍यादा बढ़ जाती है। फरवरी के महीने में जो ठंडी हवाएं चलती हैं, उससे तो दर्द इतना बढ़ जाता है कि कुछ भी समझ में नहीं आता है। ऐसे में दर्द से बचने के लिए लोग पेनकिलर का सहारा लेने लगते हैं। लेकिन और करें भी तो क्‍या? किसी जोड़ों के दर्द से परेशान महिला से पूछिए कि यह दर्द कैसा होता है। दर्द से किसी भी तरह राहत नहीं मिलती हैं।  लेकिन क्‍या आप जानती हैं कि पेनकिलर लेने से भविष्‍य में आपकी किडनी और लिवर पर बुरा असर पड़ सकता है।

यह दर्द सर्दियों के दौरान और भी बढ़ जाता है। डॉक्टरों के अनुसार, तापमान में उतार चढ़ाव होने पर जोड़ों के आस-पास की नसों में सूजन आने से दर्द बढ़ता है। इस वजह से जोड़ों में अकड़न भी हो जाती है। यूं तो बाजार में कई तरह के दर्द निवारक तेल मिलते हैं, लेकिन यह जोड़ों के दर्द को दूर करने में बहुत ज्‍यादा असरदार नहीं होते है। लेकिन अब आपको परेशान होने की जरूरत नहीं क्‍योंकि आप घर में ही खुद से एक अच्‍छा पेनकिलर तेल बना सकती हैं। और तेल के बारे में हमें नेचुरोपैथी एक्‍सपर्ट प्रमोद बाजपाई बता रहे हैं। 

इसे जरूर पढ़ें: इस जादुई घरेलू नुस्‍खे से कुछ ही दिनों में आपका जोड़ों का दर्द होगा छूमंतर

joint pain homemade oil inside

यह परेशानी हमारे बड़ों की ही नहीं होती है बल्कि आज इस समस्‍या से मैं भी बहुत परेशान थीं। मेरी उम्र 42 साल है और इस समस्‍या के चलते मैं पिछले 2 साल से बेहद परेशान थीं। सुबह के समय उठने के बाद मुझे जोड़ों में दर्द और सूजन महसूस होता था। खासतौर पर फरवरी के महीने में जो यह ठंडी हवाएं चलती हैं, इसमें मेरा दर्द कई गुणा बढ़ जाता था। बहुत सारे टिप्‍स अपनाने के बावजूद भी मुझे दर्द से राहत नहीं मिल रही थी। लेकिन नेचुरोपैथी एक्‍सपर्ट प्रमोद बाजपाई द्वारा बताए इस तेल को आजमाने के बाद जैसे मेरी जान में जान आईं। जी हां इस तेल को लगाने से मुझे दर्द से राहत मिलती हैं। अगर आप भी जोड़ों के दर्द से परेशान हैं तो 1 बार इस तेल को जरूर ट्राई करें।   

तेल के लिए सामग्री

  • उड़द की दाल- 10 ग्राम
  • अदरक- 4 ग्राम
  • कपूर- 2 ग्राम
  • सरसों या तिल का तेल- 50 मिली
 

Recommended Video

तेल बनाने का तरीका

  • इस तेल को बनाने के लिए सबसे पहले उड़द की दाल, अदरक और कपूर को अच्‍छे से पीस लें। 
  • फिर खाने के तेल यानि सरसों या तिल के तेल में इन सभी चीजों को मिक्‍स करके 5 मिनट तक गर्म करें। 
  • इसे छानकर तेल अलग करके रख लें। 
  • रोजाना इस तेल को हल्‍का गुनगुना करके दर्द वाले हिस्‍सों या जोड़ों में मालिश करें।  
  • इससे दर्द में तेजी से आराम मिलता है। 
  • इस तेल को दिन में कम से कम 2 बार इस्‍तेमाल करें। 
  • यह जोड़ों में दर्द के साथ-साथ आर्थराइटिस जैसे दर्दनाक रोगों में भी गजब काम करता है।
joint pain remedy inside

उड़द की दाल को दालों की महारानी कहा जाता हैं। क्योंकि यह अन्य दालों की तुलना में बहुत ही लाभकारी और पौष्टिक होती है। इसके साथ ही इसमें विटामिन, मिनरल बहुत अधिक मात्रा में पाए जाते हैं। जोड़ों के दर्द के लिए आप काली उड़द की दाल का भी इस्तेमाल कर सकती हैं। साथ ही अदरक भी जोड़ों के दर्द से राहत देती है। ऐसा इसलिए क्‍योंकि अदरक में भरपूर मात्रा में एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण मौजूद होते है।

इसे जरूर पढ़ें: Expert Tips: सर्दियों में इस 1 कारण से बढ़ता है जोड़ों का दर्द, ये 3 उपाय दिलाएंगे छुटकारा

इसके अलावा कपूर में एंटी-अर्थराइटिक, एंटी-रुमेटिस, एंटी-फ्लोजिस्टिक गुण होते हैं जो कि जोड़ों के दर्द से राहत दिलाते हैं। साथ ही तिल का तेल तो जोड़ों के दर्द को दूर भगाने के लिए रामबाण की तरह काम करता है। इस तेल से मालिश करने से ब्‍लड सर्कुलेशन बढ़ता है, जिससे दर्द से राहत मिलती हैं। 

तो देर किस बात की अगर आप भी जोड़ों के दर्द से परेशान हैं तो इस दर्द से बचने के लिए इस तेल को जरूर आजमाएं।