फंगल इंफेक्शन लोगों में काफी कॉमन समस्या है, लेकिन समय पर ठीक न होने की वजह से यह समस्या बढ़ जाती है। बता दें कि मानव शरीर में लाखो माइक्रोऑर्गेनिज्म होते हैं। उनकी संख्या में असंतुलन से त्वचा पर प्रतिकूल प्रभाव पड़ सकता है। वहीं फंगल इंफेक्शन भी कई तरीके के होते हैं, उन्हीं में से एक है जौक खुजली, जो गु्प्तांग, जाँघों के अंदर वाले हिस्से पर होता है। इन स्थानों पर खुजली होने से असुविधा अधिक बढ़ जाती है। 

आमतौर पर इस तरह के संक्रमण हाइजीन का ध्यान नहीं रखने की वजह से होते हैं। इसलिए यह जरूरी है कि नहाते वक्त या फिर कपड़े पहनते वक्त हाइजीन का खास ख्याल रखा जाए। शुरुआत में यह समस्या लोगों को बहुत सामान्य लगती है, लेकिन उपचार नहीं किए जाने पर यह फैलना शुरू हो जाती है। इसके कई लक्षण हैं, जिसे जानने के बाद आप आसानी से इलाज कर सकते हैं। आप चाहें तो शुरुआत में कुछ घरेलू तरीके आजमा सकती हैं।

क्या है जॉक खुजली

हमारी स्किन पर एक फंगी ग्रुप रहता है, जिसे डर्मेटोफाइट्स के रूप में भी जाना जाता है। इसमें अपनी सुविधा के अनुसार गर्म या फिर नमी वाले क्षेत्र में बढ़ने के गुण होते हैं। वहीं जॉक खुजली एक प्रकार का संक्रमण है जो कवक के इस समूह के कारण होता है। आमतौर पर यह जांघ, नाभि, कमर, आंतरिक हिस्सों या फिर अन्य स्थानों पर भी हो होता रहता है। माना जाता है कि पुरुषों की तुलना में महिलाओं को यह समस्या कम होती है, लेकिन हाइजीन का ख्याल नहीं रखने पर महिलाएं भी इसके संपर्क में जल्दी आ जाती हैं। 

जॉक खुजली के लक्षण

itching problem

  • खुजली के साथ जलन होने की समस्या होती है। 
  • त्वचा पर चकत्ते हो सकते हैं जिसका कलर सामान्य स्किन से अलग होता है।
  • प्रभावित क्षेत्र की त्वचा बदल सकती है।
  • इचिंग की वजह से लगातार खुजली करने का मन करता है।
  • प्रभावित क्षेत्र की त्वचा में दरार पड़ सकती है या फिर यह छिल सकती है।

नारियल तेल

coconut oil uses iching

खुजली की वजह से स्किन से नमी गायब हो जाती है, जिसकी वजह से इचिंग होने लगती है, ऐसे में आप चाहें तो नारियल तेल का उपयोग कर सकती हैं। कॉटन बॉल की मदद से नारियल तेल को प्रभावित स्थान में टैब कर के लगाएं। तेल के सूखने के लिए लगभग 20 मिनट तक इंतजार करें और इसे रोजाना दो बार दोहराएं।

इसे भी पढ़ें: ऑयली हो या ड्राई, स्किन की रेडनेस खत्म करने के लिए अपनाएं ये एक्सपर्ट टिप्स 

लिस्टरीन

Listerine

इसमें एंटीसेप्टिक, एंटीफंगल, और एंटीबैक्टीरियल गुण हैं, जो जॉक खुजली को ठीक करने में मदद करते हैं। एक कॉटन बॉल की मदद से माउथवॉश को टैप करें और प्रभावित स्थान पर लगाएं। हालांकि शुरुआत में यह काफी जलता है, लेकिन धीरे-धीरे आपको आराम मिलेगा। आप चाहें तो दिनभर में तीन से चार बार कर सकती हैं। हालांकि इस ट्रिक को हमने आजमाया है, लेकिन आपको इससे किसी तरह की समस्याएं होती हैं तो इसे करने से बचें और डॉक्टर से परामर्श लें।

Recommended Video

कॉर्न स्टार्च

corn starch use

यह एक ड्राई एजेंट के रूप में काम करता है और प्रभावित क्षेत्र के आसपास मॉइस्चराइजर बनाए रखने में मदद करता है। इसके अलावा यह त्वचा को ठंडक का एहसास दिलाता है, जिससे खुजली या फिर जलन जैसी समस्या कुछ देर के लिए शांत हो जाती है। हर तीन घंटे या फिर जब भी यह ड्राई होने लगे तब प्रभावित स्थान पर पाउडर लगाएं।

इसे भी पढें: आलू के छिलके बेकार समझकर फेंके नहीं, करें अपनी ये 3 समस्‍याएं दूर

ओटमील

oatmeal

यह सूजन और खुजली को कम करने में मदद करता है। ठंडे पानी से भरे अपने बाथटब में दो कप ओटमील पाउडर मिलाएं। इसमें भिगोते समय, प्रभावित क्षेत्र पर पानी से मालिश करें। आप रात में नहाते वक्त ऐसा करें। वहीं ये घरेलू उपचार करने के बावजूद अगर जौक खुजली ठीक नहीं हो रही है तो डॉक्टर से जरूर संपर्क करें। चार या फिर पांच दिन से अधिक होने पर डॉक्टर को एक बार जरूर दिखाएं।

अगर आप भी इन बातों से सहमत हैं और यह आर्टिकल आपको पसंद आया हो तो इसे शेयर और लाइक जरूर करें और साथ ही बिग बॉस से जुड़ी हर अपडेट जानने के लिए पढ़ती रहें हरजिंदगी।