स्किन केयर के लिए आप तरह-तरह के प्रोडक्ट्स अपनाती होंगी, लेकिन क्या हर बार आपको बेहतर परिणाम मिलते है? डर्मेटोलोजिस्ट (Dermatologist) डॉक्टर गीतिका मित्तल गुप्ता ने अपने सोशल मीडिया पर एक पोस्ट शेयर करते हुए बताया कि ड्राई स्किन हो या दाग-धब्बे वाली, सभी के लिए कुछ इंग्रीडिएंट्स बेहद कारगर होते हैं। गीतिका मित्तल ने बताया कि 3 इंग्रीडिएंट्स ऐसे हैं, जिनके इस्तेमाल से आप रेडनेस से छुटकारा पा सकती हैं और स्किन को सॉफ्ट बना सकती हैं।

एलोवेरा, विटामिन-सी और पेप्टाइड जैसे इंग्रीडिएंट्स आपकी स्किन की रेडनेस, दाग-धब्बे और दाने हटाने में मदद कर सकते हैं। ये तीन इंग्रीडिएंट्स न सिर्फ आपकी स्किन को फ्लोलेस बनाएंगे, बल्कि उसे प्रोटीन और हाइड्रेट भी रखेंगे। तो चलिए जानते हैं उन तीन इंग्रीडिएंट्स और उनके फायदों के बारे में।

एलोवेरा

 redess reduce inside

डॉ गीतिका ने अपने इंस्टाग्राम पर बताया कि एलोवेरा एक आयुर्वेदिक औषधी है, यह स्किन पर बेहद सॉफ्ट रहता है। एलोवेरा के इस्तेमाल से आप स्किन की रेडनेस को जल्द से जल्द खत्म कर सकती हैं और एक ग्लोइंग स्किन पा सकती हैं। कई लोग एलोवेरा जेल का इस्तेमाल नियमित रूप से करते हैं, जिससे स्किन न सिर्फ ग्लोइंग बनती है बल्कि दाग-धब्बों से भी दूर रहती है। बता दें कि एलोवेरा में एंटी-ऑक्सीडेंट, विटामिन ए और सी भरपूर मात्रा में पाए जाते हैं। जो स्किन बर्न, एक्ने को ठीक करके, ड्राई स्किन को शांत करता है। अगर आप एलोवेरा स्किन पर अप्लाई करना चाहती हैं, तो घर में एलोवेरा लगा सकती हैं जिससे स्किन की रेडनेस जल्द खत्म हो जाती है। ब्रेकआउट्स से छुटकारा पाने के लिए आप ओवरनाइट फेस मास्क भी लगा सकती हैं।

इसे जरूर पढ़ें: Fitness Tips: केसर का पानी '1 महीना' पीने से इस महिला की बॉडी में आए ये 5 बदलाव

विटामिन सी

 redess reduce inside

डॉक्टर गीतिका मित्तल का कहना है कि अधिकतर लोगों को विटामिन सी इसलिए भी पसंद है, क्योंकि इसमें स्किन को ब्राइट करने की क्षमता होती है। लेकिन डॉ गीतिका ने बताया कि अगर आप विटामिन सी को थोड़ी मात्रा में इस्तेमाल करें, तो स्किन की रेडनेस भी कम हो जाती है क्योंकि इसमें एंटी-फ्लेमेटरी गुण पाए जाते हैं। विटामिन सी स्किन के दाग-धब्बे हटाकर उसके ग्लोइंग बनाने का काम करता है। ध्यान रहे कि विटामिन सी का उपयोग बहुत कम मात्रा में करना चाहिए, क्योंकि अधिक इस्तेमाल से जलन भी हो सकती है। अपने फेस को वॉश करने के बाद आप टोनर के रूप में विटामिन सी सीरम का इस्तेमाल कर सकती हैं, लेकिन ध्यान रहे कि आप इसे मॉइश्चराइजर के पहले लगाएं। पहले सीरम अपने हाथों पर लें और फिर चेहरे पर हल्का-सा लगा लें।

इसे जरूर पढ़ें: नन्हीं आंखों की हिफाजत करने के लिए मां अपने बच्‍चों को दें ये 6 फूड्स

Recommended Video

पेप्टाइड्स (Peptides)

 

 
 
 
View this post on Instagram

A post shared by Dr Geetika Mittal Gupta (@drgeetika)

पेप्टाइड एक तरह का अमीनो एसिड है, जिसे स्किन को प्रोटीन देने, शांत करने और रेडनेस हटाने के लिए इस्तेमाल किया जाता है। डॉक्टर गीतिका मित्तल ने इंस्टाग्राम पर बताया कि पेप्टाइड पिछले कुछ सालों में स्किन केयर ट्रेंड बन गया है, क्योंकि इससे बेहतर परिणाम मिलते हैं। पेप्टाइड आपकी स्किन को सॉफ्ट करता है और जलन होने वाली त्वचा को शांत करता है। पेप्टाइड का इस्तेमाल आप मॉइश्चराइजर, सीरम या फेस वॉश के तौर पर कर सकती हैं। अगर आप चाहें, तो पेप्टाइड युक्त लोशन या क्रीम भी अप्लाई कर सकती हैं। न सिर्फ स्किन को ग्लोइंग बनाने के लिए, बल्कि पेप्टाइड एंटी एजिंग क्रीम का भी काम करते हैं। स्किन को हाइ़ड्रेट, बेदाग और शांत रखने के लिए पेप्टाइड बेहतर माने जाते हैं। 

तो आप इनमें से कौन-से इंग्रीडिएंट को अपनाने वाली हैं, यह हमें जरूर बताएं। अगर आपको यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे शेयर जरूर करें और इसी तरह के अन्य लेख पढ़ने के लिए जुड़े रहें आपकी अपनी वेबसाइट हरजिन्दगी के साथ।

Image Credit: freepik