ऐसा कई बार होता है, जब बिना कारण ही अचानक से हमारी पीठ, गर्दन, पैर या हाथ में दर्द होना शुरू हो जाता है। यह दर्द थोड़ा अजीब होता है क्‍योंकि यह किसी हड्डी या त्‍वचा पर चोट लगने के कारण नहीं होता। केवल झुकने, मुड़ने, उठने, बैठने और करवट लेने पर ही महसूस होता है। शायद आप समझ गए होंगे कि हम किस दर्द की बात कर रहे हैं। 

जी हां, हम बात कर रहे हैं मांसपेशियों के दर्द की। यह दर्द कई कारणों से हो सकता है। हालांकि, इसके कारण ठोस नहीं है।  यह दर्द आपको झटका लगने, ठोकर लगने, अचानक से मुड़ने, गलत तरीके से सोने या फिर झुकने के कारण हो सकता है। दरअसल, मांसपेशियों में जब जरूरत से ज्‍यादा खिंचाव आ जाता है या वह गलत तरह से मुड़ जाती हैं तो यह दर्द उठता है। 

यह दर्द आम दर्द इसलिए भी नहीं होता है क्‍योंकि इसे ठीक करने के लिए पहले तो यही समझना मुश्किल होता है कि दर्द आखिर हो कहां रहा है। वैसे बाजार में आपको कई दवाएं मिल जाएंगी, जो 10 मिनट में ही आपको मांसपेशियों के दर्द में राहत पहुंचा सकती हैं। मगर, यह पेनकिलर हैवी होने के साथ ही आपको ड्राउजी महसूस कराएंगी और इनका असर खत्‍म होते ही दर्द दोबारा शुरू हो जाएगा। ऐसे में जिनकी मांसपेशियां कमजोर हैं और जिन्‍हें आए दिन इस दर्द का सामना करना पड़ता है , वह यदि नियमित रूप से इन पेनकिलर्स पर निर्भर हो जाए तो उसे अन्‍य शारीरिक समस्‍याओं से गुजरना पड़ सकता है। 

ऐसे में आज हम आपको कुछ घरेलू उपचार बताएंगे, जो आपको न केवल मांसपेशियों के दर्द में राहत पहुंचाएंगे बल्कि आपकी मांसपेशियों को मजबूत भी बनाएंगे- 

सही तरह से करें व्‍यायाम 

टिप्‍स- व्‍यायाम के साथ-साथ विशेषज्ञ से परामर्श कर आप 10 मिनट के लिए दर्द वाली जगह की मालिश भी कर सकते हैं। 

व्‍यायाम करना बहुत अच्‍छी आदत है। मगर यदि आप जरूरत से ज्‍यादा व्‍यायाम करते हैं या फिर गलत तरीके से व्‍यायाम करते हैं तो आपको मांसपेशियों में दर्द हो सकता है। इतना ही नहीं, आपकी मांसपेशियों में चोट भी लग सकती है। अगर आपको मांसपेशियों में दर्द है तो हैवी एक्‍सरसाइज करने की जगह आपको स्‍ट्रेचिंग एक्‍सरसाइज करनी चाहिए। हल्‍की फुल्‍की स्‍ट्रेचिंग एक्‍सरसाइज से आपको मांसपेशियों के दर्द में राहत मिल जाएगी। 

इसे जरूर पढ़ें: कमर और पीठ के दर्द में राहत पहुंचाएंगे ये घरेलू नुस्‍खे

muscle pain home treatment

गर्म पानी से नहाएं 

टिप- गर्म पानी में फिटकरी, सेंधा नमक या फिर हल्‍दी डाल कर नहाने से दर्द कम हो जाता है। 

अगर मांसपेशियों में दर्द है तो कभी भी ठंडे पानी से न नहाएं। पानी को हल्‍का गुनगुना कर लें और फिर उसी से नहाएं। अगर मौसम ठंड का है तो आप गर्म पानी से नहा सकते हैं। इससे दर्द में राहत मिलती है। पानी में आपको एप्‍सम सॉल्‍ट भी मिला लेना चाहिए क्‍योंकि यह दर्द को खींच लेता है। अगर दर्द अधिक है तो गर्म पानी की थैली से आप उस स्‍थान की सिकाई भी कर सकते हैं। 

अदरक का पानी पीएं 

टिप- अदरक का पानी पीने के साथ ही आप अदरक के तेल से मांसपेशियों की हल्‍की मसाज भी कर सकती हैं। 

अदरक एंटीइंफ्लेमेटरी होती है। शरीर में कहीं भी दर्द या सूजन की समस्‍या होती है तो अदरक का पानी जरूरी पीना चाहिए। अदरक का पाीन तैयार करने के लिए आपको अदरक को कद्दूकस करके पानी में मिक्‍स करके एक रात पहले ही ढांक कर रख देना चाहिए और फिर दूसरे दिन सुबह उस पानी को छान कर पी जाना चाहिए। 

इसे जरूर पढ़ें: पैरों में होता है अक्‍सर दर्द तो अपनाएं ये घरेलू नुस्‍खे

exercises for muscle pain

हल्‍दी का इस तरह प्रयोग करने से दूर होता है दर्द 

टिप- हल्‍दी एंटी-इंफ्लेमेटरी होने के साथ ही एंटीऑक्‍सीडेंट्स से भरपूर होती है। इसके सेवन से दर्द में राहत मिलती है। 

मांसपेशियों के दर्द में हल्‍दी भी राहत पहुंचा सकती है। आप इसे लगा भी सकते हैं और खा भी सकते हैं। जिस स्‍थान पर आपको दर्द हो रहा है, वहां अगर आप हल्‍दी लगाना चाहती हैं तो आपको हल्‍दी, चूना, प्‍याज का पेस्‍ट और सरसों का तेल मिक्‍स करके लगा लेना चाहिए और उस स्‍थान को कपड़े से इस तरह बांध लेना चाहिए कि हवा न लगे। वहीं अगर आप हल्‍दी का सेवन करना चाहते हैं तो रात में सोने से पहले एक कप दूध में चुटकीभर हल्‍दी और चुटकीभर कालीमिर्च मिला कर उसका सेवन करें। ऐसा करने भी आपको दर्द में राहत मिलेगी। 

सोने के तरीके को बदलें 

टिप- तकिया के साथ-साथ अपने मैट्रेस को भी बदलें और मुलायम की जगह सख्‍त मैट्रेस में सोने की आदत डालें। इसके लिए आप डॉक्‍टर से भी परामर्श कर सकते हैं। 

अगर आपको गर्दन और पीठ में अक्‍सर ही दर्द रहता है तो आपको अपने सोने का तरीका जरूर बदल लेना चाहिए। सबसे पहले तो आपको मोटी तकिया के स्‍थान पर सख्‍त और पतली तकिया का प्रयोग करना चाहिए। अगर आपकी आदत गर्दन के नीचे हाथ लगा कर सोने की है या फिर हाथों से गर्दन को दबा कर सोने की है तो इसे बदलने की कोशिश करें। 

इस खास तरह की चाय का सेवन करें। 

remedies for muscle pain

खास तरह की चाय से दूर होगा दर्द 

टिप- एंटी-इंफ्लेमेटरी गुणों वाली चाय मांसपेशियों के दर्द में आपको राहत पहुंचा सकती है। 

आपने ब्‍लैक टी, व्‍हाइट टी और ग्रीन टी के बारे में सुना होगा। मगर मांसपेशियों का दर्द अक्‍सर रहता है तो आपको कैमोमाइल टी का सेवन करना चाहिए। यह एक तरह के फूल की चाय होती है। बाजार में आपको बेहद आसानी से कैमोमाइल टी मिल जाएगी। यह आपकी त्‍वचा और बालों के लिए भी बहुत अच्‍छी होती है। 

 

अगर मांसपेशियों का दर्द आपको लगातार बना रहता है तो आप पहले किसी विशेषज्ञ से बातचीत करें। यह घरेलू उपाय आपको पसंद आए हों तो इस आर्टिकल को शेयर और लाइक जरूर करें। 

Image Credit: freepik