आंख की फुंसी जिसे इंग्लिश में आई स्‍टाई कहते हैं और आम बोलचाल की भाषा में इसे गुहेरी के नाम से जाना जाता है। आंख की पलकों पर बाहर या अंदर की तरफ कहीं भी होने वाले फुंसी है। इस फुंसी में दर्द और सूजन होती हे। यहां तक कि पलक झपकाना मुश्किल हो जाता है। कई बार इससे आंख में खुजली और जलन होती है और तेज रोशनी से दिक्‍कत होने लगती है। बारिश के मौसम में यह समस्‍या बहुत परेशान करती हैं। लेकिन परेशान ना हो क्‍योंकि कुछ घरेलू उपायों की मदद से आप इस समस्‍या को आसानी से दूर कर सकती हैं। आइए जानें कौन से हैं ये घरेलू उपाय।

हल्‍दी
guhari health turmeric

हर किचन में मौजूद हल्‍दी कई रोगों की दवा है। इसमें मौजूद एंटी-बैक्‍टीरियल और एंटी-इंफ्लेमेटरी गुणों के कारण यह दर्द को कम करने वाले गुण होते है। आंख की गुहेरी से राहत पाने के लिए पैन में 2 कप पानी और 1 चम्मच हल्दी डाल कर इसे अच्छी तरह से उबाल लें। फिर इसे ठंडा करके आंख पर सूखे और साफ कपड़े से लगाएं। इससे बहुत जल्दी आराम मिलेगा। इस प्रक्रिया को दिन में कई बार दोहराएं। इससे गुहेरी का प्रभाव कम होगा और इसकी वजह से दर्द भी कम होगा।

Read more: हल्दी आपकी सेहत के लिए है हेल्दी जानिए इसके फायदे

कैस्‍टर ऑयल

कैस्टर ऑयल में मौजूद तत्व जलन और दर्द को कम करने में सहायक होता है। यह ऑयल गुहेरी के इलाज और उन्हें जल्दी ठीक करने के लिए उपयोगी है। आंखों को अच्छी तरह से धो लें और उन पर गर्म पानी में कॉटन को भिगो कर सेंक लें। सिंकाई के बाद थोड़ी मात्रा में कैस्टर ऑयल लेकर उसे गुहेरी पर लगा लें। दिन में इस प्रयोग को 2 बार करना बेहतर होता है।

ग्रीन टी
guhari health green tea

ग्रीन टी अपने एंटीबैक्टीरियल गुणों की वजह जाना जाता है। इसमें बैक्टीरिया को खत्म करने के गुण होते है। यह गुहेरी की रोकथाम के लिए भी बहुत फायदेमंद है। ग्रीन टी पैक में मौजूद टैनिन इंफेक्‍शन बढ़ने से रोकता है। इसके अलावा इससे आंखों से सूजन और दर्द से राहत मिलती है। ग्रीन टी के टी बैग को गरम पानी में डुबोकर आंखों या उस स्थान पर रखें जहां गुहेरी का प्रभाव हो। जब टी बैग ठंडे हो जाएं तो दोबारा इसे गरम पानी में डुबोकर प्रयोग करें, 5-7 मिनट तक इस प्रयोग को अपनाएं।

एलोवेरा जैल

एलोवेरा को त्वचा संबंधी कई तरह के रोगों को दूर करने के लिए उपयोगी माना जाता है। यह त्वचा में होने वाली जलन को कम करता है और स्किन इंफेक्‍शन से होने वाले रोगों को भी दूर रखता है। आंख की गुहेरी से राहत पाने के लिए एलोवेरा काफी कारगार उपाय है। इसके लिए एलोवेरा जैल को निकालकर आंख पर लगाएं और 20 मिनट बाद साफ पानी से धो लें। एलोवेरा में मौजूद तत्व बैक्टीरिया को खत्म करने और इंफेक्‍शन को रोकने में मदद करते हैं।

अमरूद के पत्ते
guhari health guava leave

अमरूद के पत्ते भी गुहेरी को खत्म करने में हेल्‍प करते हैं। इस उपाय को करने के लिए पैन में कुछ मात्रा में पानी लें और फिर अमरूद के 4 पत्तों को साफ कपड़े में बांध कर पानी में डुबो कर उबालें। फिर पत्तियों के ठंडा होने पर इससे आंखों की गुहेरी से सिकाई करें। आपको जल्द ही इस समस्या से राहत मिलेगी।

गर्म पानी से सिंकाई

गुहेरी के घरेलू इलाज में गर्म सिंकाई सबसे आसान और असरकारी उपाय है जो दर्द और सूजन को कम कर आपको राहत देता है। इससे पलकों या आंखों के किनारों पर जो दाने होते हैं वो तेजी से बढ़कर पक जाते हैं, इस तरह प्राकृतिक तरीके से पस निकल जाता है और जल्दी ही सुधार आने लगता है। गर्म पानी में साफ सूती कपड़े को भिगोकर निचोड़ लें। इससे गुहेरी की सिकाई करें। दिन में तीन चार बार इस प्रकार सिकाई करने से बहुत आराम मिलता है। सुजन और दर्द कम हो जाते है।

सावधानी

  • आंख मे गुहेरी इंफेक्‍शन से होने वाला एक रोग है। इस रोग में साफ सफाई का बहुत ध्यान रखना चाहिए।
  • गंदे हाथों से आंखों को न छूएं और दिन में बार बार साफ पानी से आंखों को धोते रहें।
  • अपने सनग्लासेस व चश्मे को नियमित रूप से साफ करना चाहिए।
  • किसी भी ऐसे कॉस्मेटिक प्रोडक्‍ट का इस्‍तेमाल ना करें जो बहुत पुराने हो चुके हो।
  • काजल और आईलाइनर जैसी चीजों का प्रयोग नहीं करना चाहिए।

 

  • Pooja Sinha
  • Her Zindagi Editorial