• + Install App
  • ENG
  • Search
  • Close
    चाहिए कुछ ख़ास?
    Search
author-profile

फूड क्रेविंग से बचने के लिए फॉलो करें ये आयुर्वेदिक टिप्स

अगर आप फूड क्रेविंग से बचना चाहती हैं तो आप भी इन टिप्स को फॉलो कर सकती हैं।
Published -26 May 2022, 15:57 ISTUpdated -26 May 2022, 16:16 IST
author-profile
  • Sahitya Maurya
  • Editorial
  • Published -26 May 2022, 15:57 ISTUpdated -26 May 2022, 16:16 IST
Next
Article
know ayurvedic tips for food cravings

टेस्टी भोजन करना भला किसे पसंद नहीं है। भोजन सिर्फ पेट भरने के लिए ही नहीं बल्कि शारीरिक पोषक संबंधी जरूरतों को भी पूरा करने का एक साधन है। लेकिन आपने यह ध्यान दिया होगा कि खाना खाने के कुछ देर बाद ही कई लोग फिर से खाने लिए निकल पड़ते हैं या खाने खाना के बाद भी चॉकलेट या आईसक्रीम खाने की क्रेविंग बहुत तेज होती है।

हालांकि, खाना खाने के बाद मीठा खाना कोई बड़ी बात नहीं है, लेकिन कई लोग फ़ास्ट फ़ूड खाने के लिए भी निकल जाते हैं। बार-बार इस तरह की आदत सेहत के लिए बिल्कुल ठीक नहीं होता है। ऐसे में अगर आपको भी फूड क्रेविंग्स की आदत है तो फिर आपको इस लेख को ज़रूर पढ़ना चाहिए, क्योंकि आयुर्वेद की जानकार और डॉक्टर वारा लक्ष्मी फूड क्रेविंग्स से बचने के लिए कुछ उपाय बताने जा रही हैं। आइए जानते हैं।

दिमाग को रखें शांत 

ayurvedic tips for food cravings inside

कहा जाता है कि फूड क्रेविंग होने के लिए भूखा होना ज़रूरी नहीं है, लेकिन अगर देखा जाए तो भूख वास्तव में आपकी इन्द्रियों पर एक बार नहीं बल्कि बार-बार हावी हो सकती है। इस दौरान बहुत तेज फूड क्रेविंग देखा जाता है और इंसान बिना अधिक सोचे बिना खाने लगता है। इसलिए फ़ूड क्रेविंग को हैंडल करने के लिए दिमाग को शांत रखना बहुत ज़रूरी हो जाता है। डॉक्टर वारा लक्ष्मी भी कहती हैं कि फ़ूड क्रेविंग से बचने के लिए दिमाग को शांत रखना बहुत ज़रूरी होता है।

इसे भी पढ़ें: गर्मियों में हाई ब्‍लड प्रेशर को इस 1 नुस्‍खे से कंट्रोल करें 

फ्रेश भोजन का करें सेवन 

know ayurvedic tips for food cravings inside

फूड क्रेविंग से बचने के लिए वो कहती हैं कि फ्रेश भोजन का सेवन करना बहुत ज़रूरी होता है। अगर गरमा-गरम भोजन नहीं करते हैं तो कुछ देर बाद भी कुछ अन्य चीज खाने का मन करने लगता है। ऐसे में वो कहती हैं कि फ्रेश भोजन के साथ हल्का नमक, साग, प्रोटीन युक्त फूड, सलाद, दाल आदि चीजों को नियमित आहार में शामिल करते रहे। खाना खाने के कुछ देर बाद पानी पीना भी न भूलें।

Recommended Video

सोने के समय पर ध्यान दें 

ayurvedic tips for food cravings inside

आजकल ऐसे बहुत कम लोग ही है जो समय से सोना और जागना पसंद करते हैं। ऐसे में डॉक्टर वारा लक्ष्मी कहती हैं कि समय के साथ न सोना और न जागना भी फूड क्रेविंग का कारण हो सकता है। वो कहती हैं कि 11 बजे से पहले सोने के लिए बेड पर चले जाना चाहिए और सुबह 6 बजे तक बिस्तर को छोड़ देना चाहिए। वैसे समय से सोना और बेड छोड़ना अच्छी सेहत के लिए बहुत ज़रूरी होता है।

इसे भी पढ़ें: डाइट शुरू करने से पहले जान लें आपकी थाली में रखी रोटी के बारे में

इन आदतों में करें बदलाव 

about ayurvedic tips for food cravings inside

फूड क्रेविंग से बचने के लिए खान-पान की आदतों में भी आपको बदलाव करने की ज़रूरत है। उनके अनुसार रिफाइंड कार्ब्स का सेवन करने के आपको बचना चाहिए। क्रैश डाइट्स की जगह नियमित एक्सरसाइज करते रहना चाहिए। खाना खाने के बाद लगभग 1-2 मिनट तक के लिए टहलना ज़रूरी है। भोजन को अच्छे से चबाकर खाना चाहिए। स्वीट ड्रिंक की जगह गुनगुने पानी का सेवन करते रहना चाहिए। 

अगर आपको यह स्टोरी अच्छी लगी हो तो इसे फेसबुक पर जरूर शेयर करें और इसी तरह के अन्य लेख पढ़ने के लिए जुड़ी रहें आपकी अपनी वेबसाइट हरजिन्दगी के साथ। 

Image Credit:(@freepik)

Disclaimer

आपकी स्किन और शरीर आपकी ही तरह अलग है। आप तक अपने आर्टिकल्स और सोशल मीडिया हैंडल्स के माध्यम से सही, सुरक्षित और विशेषज्ञ द्वारा वेरिफाइड जानकारी लाना हमारा प्रयास है, लेकिन फिर भी किसी भी होम रेमेडी, हैक या फिटनेस टिप को ट्राई करने से पहले आप अपने डॉक्टर की सलाह जरूर लें। किसी भी प्रतिक्रिया या शिकायत के लिए, compliant_gro@jagrannewmedia.com पर हमसे संपर्क करें।