आज के समय के बदलते लाइफस्टाइल, प्रेग्नेंसी और हेल्थ इशुज की वजह से महिलाएं वेट गेन कर लेती हैं, लेकिन इस वजह को घटाने के लिए उन्हें काफी ज्यादा मेहनत करनी पड़ती है। अगर आप भी पिछले कुछ समय से बढ़ते वजन से परेशान हैं और वेट लॉस के लिए काफी कोशिशें करने के बावजूद वजन कम नहीं कर पा रही हैं तो आपको अपने रोजमर्रा के रूटीन पर ध्यान देने की जरूरत है। कई बार कुछ छोटी-छोटी गलतियों की वजह से हमारा मेटाबॉलिज्म धीमा हो जाता है, जिससे वेट लॉस करना मुश्किल हो जाता है। मेटाबॉलिज्म वह प्रक्रिया है, जिसके जरिए फूड एनर्जी में बदल जाता है। अगर आपका मेटाबॉलिज्म धीमा हो जाता है तो आपकी डाइट और एक्सरसाइज का भी उतना प्रभावी नतीजा नजर नहीं आता। 

अच्छा नहीं है बहुत कम खाना खाना 

बहुत सी महिलाएं वेट लॉस के लिए पर्याप्त डाइट नहीं लेतीं। उन्हें लगता है कि ज्यादा खाना उनके मोटापे की वजह है। अगर आप लंबे समय तक ऐसा करती हैं तो इससे आपका मेटाबॉलिज्म रेट भी धीमा हो जाता है, जिससे एक सीमा के बाद वजन कम करना और भी ज्यादा मुश्किल हो जाता है। बेहतर होगा कि आप सीमित मात्रा में फूड आइटम्स लें लेकिन अपने कैलोरी इनटेक को बहुत ज्यादा कम ना करें। वेट लॉस एक धीमी प्रक्रिया है और इसे समझते हुए धीरे-धीरे अपने वजन को काबू में करने की दिशा में कदम बढ़ाएं। 

इसे जरूर पढ़ें: बेहद ग्लेमरस दिखने वाली नीता अंबानी का फिटनेस सीक्रेट जानिए

पर्याप्त मात्रा में प्रोटीन ना लेना

avoid these weight loss mistakes not having enough protein inside

प्रोटीन रिच फूड खाने से वेट लॉस की प्रक्रिया को आसान बनाया जा सकता है। लेकिन जो महिलाएं इस बारे में जागरूक नहीं होतीं, वे अपनी रोजाना की डाइट में प्रोटीन की पर्याप्त मात्रा नहीं लेतीं। हालांकि आदर्श रूप में डाइट में कार्बोहाइड्रेट्स, फैट, फाइबर, ओमेगा 3 फैटी एसिड्स जैसी सभी चीजें होनी चाहिए, लेकिन प्रोटीन अगर डाइट में बढ़ता है, तो उससे मेटाबॉलिज्म रेट भी तेज होता है, जिससे वजन काबू में रखना आसान हो जाता है।

इसे जरूर पढ़ें: इन 5 आसान डाइट ट्रिक्स को अपनाएं और हेल्दी लाइफ बिताएं

बहुत आरामतलबी वाले लाइफस्टाइल में रहना

पहले के समय में घर के जिन छोटे-बड़े कामों के लिए अच्छी-खासी भागदौड़ हुआ करती थी, आज उनमें से ज्यादातर ऑनलाइन हो जाते हैं। ये सुविधाएं हो जाने से महिलाओं की फिजिकल एक्टिविटी भी पहले की तुलना में कम हो गई है। ऐसे में जो महिलाएं एक्सरसाइज नहीं कर पातीं, या फिर अपने कामों के चलते उन्हें फिजिकल एक्टिविटी के लिए समय नही मिल पाता, उनकी कैलोरीज पर्याप्त मात्रा में बर्न नहीं हो पातीं और नतीजा ये होता है कि फैट पेट और कम के आसपास के हिस्से पर जमा होने लगता है। 

पर्याप्त नींद नहीं लेना

avoid these weight loss mistakes less sleep inside

दिनभर व्यस्तता के बाद महिलाएं रात में समय पर सोने नहीं जा पातीं। आज के दौर में सोशल मीडिया पर पुरुषों के साथ-साथ महिलाओं की सक्रियता भी काफी ज्यादा बढ़ गई है। ऐसे में देर रात तक जागना बहुत आम बात हो गई है। देर रात तक स्मार्टफोन पर सर्फिंग का नतीजा ये होता है कि सुबह जल्दी उठने पर नींद पूरी नहीं हो पाती। इससे दिनभर थकान और आलस महसूस होता है। 7-8 घंटों की नींद लेने वाली महिलाओं का मेटाबॉलिज्म रेट अच्छा रहता है और उन्हें वेट गेन की बहुत ज्यादा समस्या नहीं होती।  

डाइट और ड्रिंक्स में ज्यादा चीनी सही नहीं

अक्सर महिलाएं हलवे, शर्बत, डेटर्ट्स आदि में चीनी की मात्रा ज्यादा रखती हैं, लेकिन इस बात पर ध्यान देने की जरूरत है कि एक तय सीमा से ज्यादा चीनी लेने पर आपके शरीर में कैलोरी इनटेक बढ़ जाता है और यह भी आपकी वेट लॉस की मेहनत पर पानी फेर देता है। 

हेल्दी मेटाबॉलिज्म से वेट लॉस में होगी आसानी

balance diet main

वेटलॉस एक ऐसी प्रक्रिया है, जिसके जरिए हमारे शरीर में जाने वाले फूड आइटम और ड्रिंक्स ऑक्सीजन के साथ घुल जाते हैं और शरीर की सभी प्रक्रियाओं को सुचारु रूप से चलने में मदद करते हैं। अगर आपका मेटाबॉलिज्म अच्छा है तो फिजिकल एक्टिविटी कम करने पर भी आपका वजन बहुत ज्यादा नहीं बढ़ेगा। इससे आपके हार्मोन्स में संतुलन बना रहता है, खून का दौरान नियमित रहता है और शरीर सेहतमंद रहता है।