आज भी गांव में दांत साफ करने के लिए दातुन का इस्तेमाल किया जाता है। दांतों को साफ करने का यह नेचुरल तरीका काफी पुराना है। ज्यादातर लोग दातुन के लिए नीम के पेड़ की लकडि़यों का इस्तेमाल करते हैं। नीम अपने औषधीय गुणों के लिए जाना जाता है इसकी लकड़ियां ही नहीं बल्कि पत्ते, छाल, और फल आदि भी औषधी के रूप में इस्तेमाल किए जाते हैं, क्योंकि यह एंटीसेप्टिक होते हैं। 

हालांकि जब आप दातुन से अपने दांतों को साफ करें तो इसे ब्रश की तरह इस्तेमाल ना करें, ऐसा करने से आपके मसूड़ों में चोट भी लग सकती है। इसलिए जब भी दातुन का इस्तेमाल करें, इसके ऊपर वाले हिस्से को अच्छी तरह चबाने के बाद ऊपर नीचे कर के दांतों को साफ करें। दातुन करते वक्त लकड़ियों से निकलने वाले रस को पी जाएं, यह नैचुरल होता है जो सेहत के लिए काफी फायदेमंद माना जाता है। वहीं नीम के अलावा कई पेड़ हैं, जिनकी लकड़ियों से दातुन किया जा सकता है।

अमरूद के पेड़ की लकड़ी

guava wood

अमरूद के अलावा उसके पेड़ के पत्ते और लकड़ियां भी बेहद फायदेमंद होती हैं। आप चाहें तो दातुन के तौर पर अमरूद के पेड़ की लकड़ी इस्तेमाल कर सकती हैं। यही नहीं उसके पत्तों को पीस कर पेस्ट की तरह इस्तेमाल किया जाता है। दातुन करने से दांतों की अच्छी एक्सरसाइज हो जाती है, जिससे वह मजबूत बने रहते हैं। इसके अलावा लकड़ियों का रस शरीर को कई तरह की बीमारियों से भी बचाता है और मसूड़ों को भी स्वस्थ रखता है।

आम के पेड़ की लकड़ी

healthy teeth benefits

व्रत में अक्सर महिलाएं आम के पेड़ की लकड़ियां दांतों की सफाई करती हैं। आम को शुद्ध माना गया है, लेकिन इसके अलावा यह औषधीय गुणों से भी भरपूर है। मसुड़ों से खून निकलने की समस्या है तो आम के पेड़ की लकड़ियों से दातुन करना फायदेमंद हो सकता है। लकड़ियों से निकलने वाला जूस में एंटी इंफ्लामेटरी, वजन बढ़ने की समस्या, हेल्दी स्किन आदि जैसी चीजों के लिए बेहतर माना जाता है।

इसे भी पढ़ें: कहीं आपको होने वाला दर्द लिगामेंट की चोट या फ्रैक्चर तो नहीं? फिजियोथेरेपिस्ट से जानें पहचानने का तरीका

जामुन के पेड़ की लकड़ी

jamun leaves

जामुन के पत्ते और फल दोनों ही डायबिटीज के मरीजों को खाने की सलाह दी जाती है, लेकिन इसकी लकड़ियों का इस्तेमाल दातुन के तौर पर किया जा सकता है। दातुन करते वक्त इसके रस को पिएं और फिर ब्रश करें। शुगर को कंट्रोल करने के लिए जामुन के पेड़ की लकड़ियों से दातुन करना फायदेमंद रहेगा। नीम के पेड़ की लकड़ी और जामुन के पेड़ की लकड़ी दोनों एक समान ही फायदा पहुंचाती हैं।

Recommended Video

नींबू के पेड़ की लकड़ी

दातुन के लिए नींबू के पेड़ की लकड़ियां अधिक मोटी नहीं होती हैं, लेकिन इससे दांतों की सफाई अच्छी होती है। कील मुंहासे से राहत पाने के लिए नींबू के पेड़ की लकड़ियों से दातुन करना फायदेमंद हो सकता है। दातुन करते वक्त इसमें रस निकलता है, जिसे पीने से पेट साफ रहता है और कील मुंहांसे की समस्या भी खत्म होती है। नींबू ही नहीं बल्कि उसके पेड़ भी औषधीय गुणों से भरपूर होते हैं।

इसे भी पढ़ें: बारिश के मौसम में कान में चला जाए कीड़ा, तो ये घरेलू नुस्खे आएंगे काम

बेर के पेड़ की लकड़ी

strong and healthy teeth

बेर नियमित फल देने वाला पेड़ है, और इसे कई अलग-अलग चीजों के लिए इस्तेमाल किया जाता है। यही नहीं इसके पेड़ की लकड़ियों को आप दातुन करने के लिए इस्तेमाल कर सकते हैं। ग्रामीण इलाके में यह पेड़ आसानी से मिल जाता है। खास बात है कि दातुन करने का कोई नियमित समय नहीं होता। सेहतमंद दांतों के लिए आप दातुन सर्दी हो या गर्मी किसी भी मौसम में आसानी से किया जा सकता है।

अगर आपको यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे शेयर जरूर करें व इसी तरह के अन्य लेख पढ़ने के लिए जुड़ी रहें आपकी अपनी वेबसाइट हरजिन्दगी के साथ।