पति की लंबी उम्र के लिए हर सुहागिन करवा चौथ के दिन व्रत रखती है। करवा चौथ विवाहित महिलाओं के लिए सबसे बड़े दिनों में से एक है और पूरे भारत में यह दिन हर्षोउल्‍लास के साथ मनाया जाता है। इस साल करवा चौथ 4 नवंबर को मनाया जाएगा। पूरा दिन भूखा-प्‍यासा रहकर शाम को सोलह श्रृंगार करके महिलाएं चांद को अर्घ्‍य देती है और फिर चांद को छलनी में देखने के बाद पति के दर्शन करती हैं और अपना व्रत खोलती हैं। जी हां हमने अपनी मां और बहनों को एक छलनी के माध्यम से देखते हुए चंद्रमा की पूजा अर्चना करते देखा है। करवा चौथ की पूजा में इस्‍तेमाल होने वाली हर चीज का अपना एक अलग महत्‍व है। लेकिन मुझे आज तक यह बात समझ में नहीं आई कि छलनी से चांद को क्‍यों देखा जाता है। क्‍या आपके मन में भी ऐसा ही कोई सवाल हैं तो इस आर्टिकल को जरूर पढ़ें।

karwa chauth chalni inside

करवा चौथ के दिन छलनी का महत्व

करवा चौथ के दिन छलनी का काफी महत्व होता है। पूजा की थाली में सभी चीजों की तरह छलनी की भी अपनी खास जगह है। जी हां करवा चौथ की रात महिलाएं अपना व्रत पति को इसी छलनी से देखकर पूरा करती हैं। इस छलनी में महिलाएं दीपक रखकर चांद को देखती हैं और फिर अपने पति का चेहरा देखती हैंं। जिसके बाद पति उन्हें पानी पिलाकर व्रत पूरा कराते हैं।

इसे जरूर पढ़ेें: Skin Care Tips: ये चारकोल फेस स्‍क्रब लगाएंगी तो त्‍वचा पर आएगा अलग सा ग्‍लो 

Recommended Video

हिंदू मान्यताओं के अनुसार

ऐसा इसलिए क्‍योंकि हिंदू मान्यताओं के अनुसार, चंद्रमा को भगवान ब्रह्मा का रूप माना जाता है और लंबी उम्र का वरदान भी हासिल है। साथ ही चांद में सुंदरता, शीतलता, प्रेम और लंबी उम्र जैसे गुण भी होते हैं। इसी कारण से ही शादीशुदा महिलाएं चांद को देखकर इन सभी गुणों की कामना अपने पति के लिए करती हैं। 

karwa chauth chalni inside

उत्तर भारत में एक मजबूत धारणा के अनुसार, करवा चौथ पर चंद्रमा कार्तिक का चंद्रमा है और भगवान शिव और उनके पुत्र भगवान गणेश का एक रूप है। इसके अलावा, उत्तर भारत में महिलाएं बड़ों के सम्मान के प्रतीक के रूप में घूंघट पहनती हैं। इसलिए, छलनी उनके चेहरे को कवर करती है जो चंद्रमा का सम्मान करने वाली विवाहित महिलाओं के प्रतीक के रूप में है।

इसे जरूर पढ़ेें: करवा चौथ पर शाम को पूजा की थाली में जरूर रखें ये चीजें

अन्य मान्यता

एक अन्य मान्यता यह भी है कि महिलाएं करवा चौथ की चांद की किरणों से अपने आशीर्वाद के लिए प्रार्थना करती हैं। फ़िल्टर की गई किरणें जीवन में केवल खुशी और अच्छे होने का आशीर्वाद देती हैं।

हिंदू परंपरा में हर छोटी चीज का अपना एक अलग महत्‍व है। इस तरह छलनी से देखकर पूजा करने से खुद को खुशी मिलती है। अपने परिवार के साथ दिन का मजा लें! इस तरह की और जानकारी पाने के लिए हरजिंदगी से जुड़ी रहें।