• ENG
  • Login
  • Search
  • Close
    चाहिए कुछ ख़ास?
    Search
author-profile

Vastu Tips: घर के मुख्य द्वार के लिए फॉलो करें वास्तु के ये टिप्स, घर में होगी धन की वर्षा

घर में सुख समृद्धि के लिए आप मुख्य द्वार के लिए वास्तु से जुड़ी कुछ बातें जरूर ध्यान में रखें। इन वास्तु टिप्स से आपके घर की आर्थिक स्थिति ठीक हो सकती है।
author-profile
Published -07 Apr 2022, 18:14 ISTUpdated -07 Apr 2022, 18:30 IST
Next
Article
main gate vastu tips

घर में मुख्य रूप से प्रवेश द्वार के लिए वास्तु शास्त्र का बहुत महत्व है, क्योंकि यह वह स्थान होता है जहां से सकारात्मक या नकारात्मक ऊर्जाएं एक ही घर में प्रवेश करती हैं और बाहर निकलती हैं। ऐसा भी कहा जा सकता है कि यदि घर के मुख्य द्वार से अधिक अनिष्ट शक्तियां प्रवेश कर रही हैं तो घर के लोगों का कभी भी भला नहीं हो सकता है। वहीं दूसरी ओर यदि घर में अधिक सकारात्मक ऊर्जाएं प्रवेश कर रही हैं तो घर के निवासी समृद्ध हो जाते हैं।

जब हम घर के मुख्य द्वार के बारे में बात करते हैं तो वास्तु से जुड़ी कई बातें मायने रखती हैं, जिन्हें फॉलो करके आप घर के मुख्य द्वार से सकारात्मक ऊर्जा का प्रवेश करा सकते हैं। घर के प्रवेश द्वार के संबंध में सबसे महत्वपूर्ण हिस्सा दिशा है, इसलिए मुख्य द्वार के लिए अन्य वास्तु टिप्स को जाने के साथ इसकी दिशा का ध्यान भी रखना जरूरी है। आइए Life Coach, Vastu Expert और Astrologer, Sheetal Shaparia से जानें कि घर के मुख्य द्वार के लिए वास्तु के किन नियमों को फॉलो करना जरूरी है।

मुख्य द्वार के लिए वास्तु की सही दिशा

vastu tips main gate

वास्तु शास्त्र के अनुसार, घर का मुख्य द्वार न केवल परिवार के लिए बल्कि ऊर्जा के लिए भी प्रवेश बिंदु होता है। वास्तु के अनुसार प्रवेश द्वार के लिए सबसे अच्छी दिशा उत्तर, उत्तर-पूर्व, पूर्व या पश्चिम दिशा है जो घर और घर के लोगों के लिए शुभ मानी जाती है और घर में सकारात्मक ऊर्जा के प्रवाह को बढ़ाती है। मुख्य द्वार दक्षिण, दक्षिण-पश्चिम, उत्तर-पश्चिम या दक्षिण-पूर्व दिशाओं में नहीं होना चाहिए। लेकिन यदि घर का मुख्य द्वार दक्षिण दिशा की तरफ खुलता है तो इसे भी वास्तु के कुछ नियमों से ठीक किया जा सकता है। जैसे दक्षिण की ओर प्रवेश द्वार होने पर घर के बाहर एक बगीचा जरूर बनाएं।

इसे जरूर पढ़ें: Vastu Tips: घर के मुख्य द्वार पर भूलकर भी न रखें ये 7 चीज़ें, हो सकती है धन हानि

मुख्य द्वार अन्य दरवाजों से बड़ा हो

घर का मुख्य दरवाजा घर के अन्य दरवाजों की तुलना में ज्यादा बड़ा होना चाहिए और यह हमेशा घड़ी की दिशा में खुलना चाहिए। कभी भी मुख्य द्वार के समानांतर एक ही पंक्ति में तीन दरवाजे लगाने से बचें क्योंकि यह एक गंभीर वास्तु दोष माना जाता है और घर में खुशियों को प्रभावित कर सकता है। एक ही पंक्ति में तीन दरवाजे घर में नकारात्मक ऊर्जा के प्रवेश को बढ़ावा देते हैं और घर के मुखिया के लिए समस्याओं का कारण बनते हैं। मुख्य द्वार अन्य दरवाजों से बड़ा होने के साथ लकड़ी से बना होना चाहिए।

main gate vastu by sheetal shaparia

मुख्य द्वार क्षतिग्रस्त नहीं होना चाहिए

शीतल जी बताती हैं कि वास्तु के अनुसार कभी भी मुख्य द्वार क्षतिग्रस्त यानी कि टूटा हुआ नहीं होना चाहिए। यदि कोई भी ऐसा दरवाजा है तो उसे तुरंत बदल लेना चाहिए नहीं तो धन की हानि होती है। घर का मुख्य द्वार क्षतिग्रस्त होने पर वास्तु दोष होगा और आपके धन पर नकारात्मकता आएगी। अगर आपके मुख्य दरवाजे में कांच (कांच का टूटना शुभ होता है या अशुभ) है और टूटा हुआ है तो इसे तुरंत बदल देना चाहिए।

Recommended Video

नेम प्लेट का रखें ध्यान

नेम प्लेट एक ऐसी चीज है जिसे आपके घर के मुख्य द्वार में ही कोई व्यक्ति सबसे पहले देखता है। इसलिए वास्तु के अनुसार यह आकर्षक होनी चाहिए और आपके घर आने वालों को एक अच्छी वाइब देनी चाहिए। इसलिए नेमप्लेट बनवाते समय और मुख्य द्वार पर लगाते समय हमेशा वास्तु का ध्यान देना चाहिए।

इसे जरूर पढ़ें: Vastu Tips: दक्षिण मुखी घर के लिए आप भी फॉलो करें ये वास्तु टिप्स, घर में आएगी खुशहाली

पौधे और सजावट है जरूरी

plants in main gate

मुख्य द्वार के पास मनी प्लांट और पीली रोशनी शुभ और बहुत महत्वपूर्ण है। मनी प्लांट (मनी प्लांट के लिए वास्तु) समृद्धि को आमंत्रित करता है और पीली रोशनी सूर्य के प्रकाश से जुड़ी होती है। जिसका उपयोग आपके घर के प्रवेश द्वार पर किया जा सकता है। इसलिए मुख्य द्वार पर पौधे जरूर रखें।

वास्तु के अनुसार मुख्य द्वार का कलर

घर के प्रवेश द्वार के लिए आकर्षक रंगों का उपयोग आपके मेहमानों पर पहली छाप बनाते हुए एक शानदार माहौल तैयार कर सकता है। अधिकांश लोग सकारात्मक ऊर्जा को आमंत्रित करने के लिए घर के प्रवेश द्वार को विशेष रूप से डिजाइन करने के लिए वास्तु दिशानिर्देशों का पालन करना पसंद करते हैं। इसलिए, यदि आप सकारात्मकता का सही मिश्रण चाहते हैं, तो घर के मुख्य गेट के रंग को वास्तु के अनुसार ही रखें।

मुख्य द्वार के लिए वास्तु के नियमों का पालन करना आवश्यक है जिससे घर में समृद्धि आ सके। अगर आपको यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे शेयर जरूर करें व इसी तरह के अन्य लेख पढ़ने के लिए जुड़ी रहें आपकी अपनी वेबसाइट हरजिन्दगी के साथ।

Image Credit: freepik

Disclaimer

आपकी स्किन और शरीर आपकी ही तरह अलग है। आप तक अपने आर्टिकल्स और सोशल मीडिया हैंडल्स के माध्यम से सही, सुरक्षित और विशेषज्ञ द्वारा वेरिफाइड जानकारी लाना हमारा प्रयास है, लेकिन फिर भी किसी भी होम रेमेडी, हैक या फिटनेस टिप को ट्राई करने से पहले आप अपने डॉक्टर की सलाह जरूर लें। किसी भी प्रतिक्रिया या शिकायत के लिए, compliant_gro@jagrannewmedia.com पर हमसे संपर्क करें।