• ENG
  • Login
  • Search
  • Close
    चाहिए कुछ ख़ास?
    Search

क्या सच में मुगल बादशाह अपनी बेटियों की नहीं करते थे शादी? जानिए क्या है सच

आज आप मुगल साम्राज्य में शहजादियों की शादी से जुड़े रोचक तथ्यों के बारे में जानेंगे। 
author-profile
Published -01 Aug 2022, 19:22 ISTUpdated -04 Aug 2022, 13:31 IST
Next
Article
truth of banning mughal princess

हिंदुस्तान में कई सालों तक मुगल बादशाहों का राज रहा है। लेकिन इस दौरान कई बादशाह ऐसे रहे हैं, जिनकी न हुकूमत याद की जाती है बल्कि उनके बनाए गए रूल भी याद किए जाते हैं जैसे- मुगल साम्राज्य का बेगमों के लिए कई सारे रूल बनाए गए थे।  वैसे तो मुगल साम्राज्य कई बहुत सारे रूल बनाए गए थे, जिनके बारे में विस्तार से बात कर पाना मुश्किल है। 

लेकिन कहा जाता है कि हिंदुस्तान पर मुगलों का शासन लगभग सन 1526 से 1707 तक रहा है, जिसकी स्थापना बाबर ने पानीपत की पहली लड़ाई में इब्राहिम लोदी को हराकर की थी।इसके बाद कई बहादुर बादशाहों ने मुगल साम्राज्य का शासन बढ़ाने का काम किया था जैसे- हुमायूं, अकबर, जहांगीर, शाहजहां और औरंगजेब प्रमुख बादशाह हैं। 

लेकिन आज हम आपको मुगल शहजादियों की शादी से जुड़े रोचक तथ्यों के बारे में जानेंगे। क्योंकि कहा जाता है कि मुगल बादशाह अपनी बेटियों की शादी नहीं करते थे, लेकिन क्या वाकई में ऐसा होता था। इसलिए आज हम आपको मुगल रानियों की शादी और इससे जुड़े कुछ रोचक तथ्यों के बारे में जानकारी दे रहे हैं।

क्या नहीं होती थी राजकुमारी की शादी? 

mughal marriages

कई लोगों को यह लगता है कि मुगल राजकुमारी (बेटियों, पोती, परपोती आदि) के विवाह पर प्रतिबंध लगा दिया था और इसका जिम्मेदार अकबर था। लेकिन बता दें कि यह अफवाह है।क्योंकि अकबरनामा, जहांगीरनामा, शाहजहांनामा या औरंगजेबके शाही दरबार के इतिहास में कभी भी अकबर या मुगल राजकुमारी विवाह पर प्रतिबंध लगाने वाले किसी सम्राट का उल्लेख नहीं मिलता है। 

इसे ज़रूर पढ़ें- क्या था मुगल हरम? जहां काम करने के लिए नियुक्त किए जाते थे किन्नर

क्या थी प्रथा? 

mughal princess marriages rule truth

कहा जाता है कि मुगल बादशाहशादी होती थी, लेकिन मुगलों की एक प्रथा थी कि वे सभी अपने करीबी रिश्तेदारों के साथ ही शादी करते हैं। हालांकि, इसकी सही वजह का उल्लेख नहीं मिलता, लेकिन कहा जाता है कि बादशाह सत्ता किसी अपने को ही देना चाहते थे। इसलिए वो अपने रिश्तेदार में ही अपनी बेटियों की शादी होती थी। 

किन मुगल बादशाह ने की रिश्तेदारों में शादी

mughal princess marriages

अकबर ने रुकैया और सलीमा से अपनी चचेरी बहन से शादी की, पहले किसी बाहरी राजकुमारी से नहीं की थी। अकबर की सभी बेटियों की शादी अराम बानो बेगम को छोड़कर रिश्तेदारों में हुई थी। जहांगीर ने खुद अपनी पहली तीन शादियां उनकी राजपूत चचेरी बहन मनवती, जोध बाई आदि से हुई थी। 

ये थी रिश्तेदारों में शादी करने की वजह

कहा जाता है कि मुगल नहीं चाहते थे कि उनके दामाद मुगल सिंहासन के लिए प्रतिस्पर्धा करें।  इसलिए आमतौर पर वो भाइयों और बहनों के बच्चों के साथ विवाह करते थे। तो दामाद भले ही बादशाह बन जाए तो वह बादशाह का खून का रिश्तेदार होगा।

इसे ज़रूर पढ़ें- मुगल बादशाह अकबर की इन बेगमों के बारे में कितना जानते हैं आप? 

उम्मीद है यह जानकारी पसंद आई होगी। आपको लेख पसंद आया हो तो इसे शेयर और लाइक ज़रूर करें, साथ ही, ऐसी अन्य जानकारी पाने के लिए जुड़े रहें हरजिन्दगी के साथ।

Image Credit- (@Wikipedia and Google) 

 

 

Disclaimer

आपकी स्किन और शरीर आपकी ही तरह अलग है। आप तक अपने आर्टिकल्स और सोशल मीडिया हैंडल्स के माध्यम से सही, सुरक्षित और विशेषज्ञ द्वारा वेरिफाइड जानकारी लाना हमारा प्रयास है, लेकिन फिर भी किसी भी होम रेमेडी, हैक या फिटनेस टिप को ट्राई करने से पहले आप अपने डॉक्टर की सलाह जरूर लें। किसी भी प्रतिक्रिया या शिकायत के लिए, compliant_gro@jagrannewmedia.com पर हमसे संपर्क करें।