सभी लोग इस समय वर्क फॉर्म होम कर रहें हैं। इस दौरान उन्हें कई दिक्कतों का भी सामना करना पड़ रहा है क्योंकि घर में ऑफिस जैसी सुविधाएं उपलब्‍ध नहीं होती हैं। कुछ ना कुछ टेंशन बनी रहती ही है। जैसे कभी नेट ठीक से काम नहीं कर रहा होता है तो कभी कंप्‍यूटर या लैपटॉप हैंग हो जाता है। हालांकि, इन समस्‍याओं का सामना हमें ऑफिस में भी कभी न कभी करना पड़ता है, मगर आईटी सेल की मदद से यह दिक्‍कतें चुटकियों में सॉल्‍व हो जाती हैं। लेकिन घर पर इनसे जूझना कठिन होता है। खासतौर पर बार-बार कंप्‍यूटर के हैंग होने पर काम में रुकावट आती है।

अगर आपका सिस्टम नया है तो उसमें ज़्यादा दिक्कत नहीं आती, वह बिल्कुल ठीक चलता है लेकिन जैसे ही वह पुराना होता है,  वैसे ही उसमें ढेर सारी दिक्कत आनी शुरू हो जाती हैं। तो ज़रूरी है कि आप अपने कंप्यूटर या लैपटॉप को मेंटेन करने के लिए समय-समय पर उसकी जांच करते रहें।  कंप्यूटर या लैपटॉप में सबसे ज़्यादा जो दिक्कत आती है वह है हैंग होने की। तो चलिए आज हम आपको बताते हैं इस समस्या से छुटकारा कैसे पाया जाए। साथ ही हम आपको कुछ टिप्स भी बताएंगे जिसे फॉलो करके आप अपने कंप्यूटर को मेंटेन कर सकते हैं। लेकिन इससे पहले ज़रूरी है ये जानना कि आखिर आपका सिस्टम (कंप्यूटर या लैपटॉप) हैंग क्यों होता है?

कंप्यूटर या लैपटॉप के हैंग होने के कारण?

inside  computer tips

सिस्टम हैंग होने की कोई ठोस वजह तो नहीं है क्योंकि हर सिस्टम अलग होता है उसके इस्तेमाल करने के तरीके अलग होते हैं। किसी का हार्डवेयर, तो किसी का सॉफ्टवेयर खराब हो सकता है। तो ज़रूरी है सिस्टम का वर्जन समय-समय पर अपडेट होता रहे।

  • कंप्यूटर पर काम करते समय एक साथ कई प्रोग्राम को खोलने से भी कंप्यूटर हैंग हो सकता है।
  • सिस्टम या किसी अन्य सॉफ्टवेयर का वर्जन पुराना हो जाना।
  • सबसे ज़रूरी चीज़ अगर आपके कम्प्यूटर की रैम कम है तब भी हैंग होने की दिक्कत हो सकती है।

हैंग होने की समस्या से निपटने के टिप्स

आप सिस्टम को हैंग होने की समस्या से कई तरह से निपट सकते हैं, इसके लिए हम आपको कुछ टिप्स बता रहे हैं जिन्हें आप फॉलो करके देख सकते हैं।

कंप्यूटर की सर्विस करते रहें

inside  computer service

कई बार ऐसा होता है कि गंदगी की वजह से कंप्यूटर का पॉवर सप्लाई का फैन जाम हो जाता है और वह गर्म होने लगता है। इसकी वजह से कई दिक्कत आने लगती हैं, जैसे- हैंग होना या बार-बार कंप्यूटर बंद होना आदि। तो ज़रूरी है कंप्यूटर की नियमित रूप से सर्विस होती रहे।

डिस्क स्टोरेज को करें डिलीट

inside  data storage delete

कई बार काम करते समय ये ध्यान ही नहीं रहता कि सिस्टम का डिस्क स्टोरेज फुल हो गया है। तो आप अपने डिस्क स्टोरेज को समय-समय पर क्लीन करते रहें, नहीं तो सिस्टम हैंग होता रहेगा।

रीसायकल बिन को करें क्लीन

inside  ups branded

हमारे सिस्टम में एक रीसायकल बिन होता है जिसमें वह सारी चीज़े होती हैं जो हम डिलीट कर चुके होते हैं क्योंकि आप जो डाटा डिलीट करते हैं वह रियलिटी में डिलीट नहीं होता। इसलिए ज़रूरी है अपने सिस्टम का रीसायकल बिन नियमित रूप से डिलीट किया जाए।

अच्छी ब्रांड का UPS इस्तेमाल करना

inside  recycle bin clean

कंप्यूटर ठीक से काम करें ज़रूरी है यूपीएस अच्छी कंपनी का हो। बेकार कंपनी का यूपीएस जल्दी खराब होने के साथ लैपटॉप या कंप्‍यूटर को हैंग भी कर देता है। इसलिए ज़रूरी हो तो यूपीएस को बदल दें।

इसे ज़रूर पढ़ें-Easy Hacks: इन आसान तरीकों से मिनटों में साफ़ करें घर के वाटर पंप को

बहुत सारे सॉफ्टवेयर या प्रोग्राम ना खोलें

 

inside  antivirus

ऑफिस का काम करते समय आप एक साथ बहुत सारे प्रोग्राम ओपन करते होंगे तो सिस्टम बहुत स्लो हो जाता होगा या हैंग होने लगता है। ऐसा इसलिए होता है क्योंकि जब आप एक साथ बहुत सारे सॉफ्टवेयर या प्रोग्राम खोलते हैं तो सिस्टम की रैम पर लोड पड़ता है और वह ठीक से काम नहीं कर पाता। इसलिए आप एक साथ बहुत सारे सॉफ्टवेयर ना खोलें।

Recommended Video

एंटीवायरस का इस्तेमाल ना करना

inside  software

सिस्टम के CPU या PC को हेल्दी रखना बहुत ज़रूरी है और उसे हेल्दी रखने का काम एंटीवायरस करता है। क्योंकि जब आप इंटरनेट का इस्तेमाल करते हैं तो बहुत सारी फाइल खुद ही डाउनलोड हो जाती हैं और हमारा सिस्टम हैंग होने लग जाता है। लेकिन एंटीवायरस ऐसा होने से रोकता है और सिस्टम को हैंग होने से बचाता है। इसलिए आप भी एक अच्छी क्वालिटी का एंटीवायरस अपने सिस्टम में ज़रूर इंस्‍टॉल करवाएं।

इसे ज़रूर पढ़ें-क्या आप जानते हैं ट्रेन के आखिरी डिब्बे के पीछे " X " का निशान क्यों होता है ?

अन्य टिप्स

  •  ब्राउज़र हिस्ट्री और कैशे को नियमित रूप से साफ करें।
  •  एक अच्छी या Original विंडो का इस्तेमाल करें।
  •  बहुत देर तक सिस्टम इस्तेमाल नहीं करें।
  •  चेक करें कि आपके सिस्टम की कोई चीज़ खराब तो नहीं हो गई।

आप ऊपर बताए गए टिप्स को फॉलो कर सकते हैं अगर इन चीज़ों के करने के बाद भी आपका सिस्टम हैंग होता है तो समझ लीजिए उसकी लाइफ इतनी ही है। लेख पसंद आया हो तो इसे शेयर और लाइक ज़रूर करें, साथ ही ऐसी अन्य जानकारी पाने के लिए जुड़े रहें हरजिन्दगी के साथ।

Image Credit- Freepik and Google