आपके आसपास न जाने ऐसी कितनी चीज़ें होती हैं जो आप देखकर नज़रअंदाज़ कर देते हैं, या फिर यूं कहा जाए कि उन चीज़ों को देखकर उसके बारे में थोड़ी देर सोचते हैं और आगे बढ़ जाते हैं। ऐसे ही कुछ सवालों में से एक है ट्रेन के पीछे " x " निशान का होना। दरअसल ये निशान हममें से कई लोगों ने देखा होगा और इसके बारे में शायद सोचा भी होगा। तो चलिए इसकी सच्चाई और इसके होने के कारण के बारे में बताते हैं। 

क्या दिखाता है  'X'  का निशान 

x symbal train

 'X' ट्रेन के सबसे आखिरी डिब्बे के पीछे 'X' के साथ LV' भी लिखा होता है। इसका मतलब है लास्ट वेहिकल। दरअसल ये निशान इस बात को दिखाता है कि यही ट्रेन का आखिरी डिब्बा है और इसके बाद और कोई बोगी नहीं है। यह निशान हमेशा ट्रेन के आखिरी कोच या वाहन पर मौजूद रहता है ताकि यह सुनिश्चित हो सके कि आप ट्रेन की पूरी बोगियों को क्रॉस कर चुके हैं। 

Recommended Video

दुर्घटना से बचाता है 

यदि कभी किसी ट्रैन के लास्ट डिब्बे में ये निशाँ नहीं मौजूद होता है तो इसका मतलब ये हुआ की ट्रेन का कोई डिब्बा ट्रेन से अलग हो चूका है और इसके बिना स्टेशन स्टाफ अलग की गई ट्रेन की सुरक्षा सुनिश्चित करने और टक्कर से बचने के लिए सभी आपातकालीन उपाय करता है। रात के समय दायीं ओर जलते हुए लाल लैंप के साथ लगातार लाल बत्ती जलाई जाती है। यह अक्सर एक दुर्घटना को रोकने के लिए एक ड्राइवर को उसके सामने खड़ी ट्रेन के प्रति सचेत करता है। 

इसे जरूर पढ़ें:Vastu Tips: घर में दीवार घड़ी की दिशा ही नहीं बल्कि आकार भी बदल सकता है आपकी किस्मत, जानें कैसे

 'X' निशान को चुनने का कारण 

train x symbol

यदि आप सोच रहे हैं कि भारतीय रेलवे ट्रेनों के पीछे अक्षर X ही क्यों चुनता है, तो इसका सरल उत्तर है। X को चुनने का कोई विशेष कारण नहीं है। यह केवल एक क्रॉस-चिह्न है, अल्फाबेटिक अक्षर X नहीं। अन्य अंग्रेजी अक्षरों की तुलना में 'X' चिह्न अधिक दूरी से देखा जा सकता है। X हमेशा यह दर्शाया है कि यहां कुछ समाप्त होता है, तो यही कारण है कि X रेलवे के लिए  किसी अन्य चिह्न से बेहतर उपयोग करता है।

इसे जरूर पढ़ें:बाथरूम के नल से आ रहा है कम पानी तो इन हैक्स से बिना प्लंबर के करें उसे साफ

X के साथ लाल बत्ती 

X" अक्षर का प्रयोग सुबह के समय किया जाता है जबकि इसके नीचे लाल बत्ती का उपयोग रात के दौरान इंगित करने के लिए किया जाता है।यदि ट्रेन के अंतिम वैगन में यह प्रतीक नहीं है, तो यह इंगित करता है कि ट्रेन संकट में है और यह भी जाना जा सकता है कि ट्रेन कुछ बोगियों के बिना चल रही है। यह रेलवे अधिकारियों को आसानी से सचेत कर सकता है ताकि वे दुर्घटना से बच सकें। इसके अलावा, 'एलवी' (पीले पर काला) वाला एक छोटा बोर्ड अक्सर वाहन के पिछले हिस्से से जुड़ा होता है। 

अगली बार जब भी आप ट्रेन में यात्रा करें तो आखिरी बोगी  पर इस x के निशान को देखना न भूलें। अगर आपको यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे शेयर जरूर करें व इसी तरह के अन्य लेख पढ़ने के लिए जुड़ी रहें आपकी अपनी वेबसाइट हरजिन्दगी के साथ।

Image Credit: freepik