कहते हैं कि दीमक को हटाना बहुत मुश्किल है और घर की नींव को भी दीमक खोखला कर सकती है। दीमक अगर कहीं लग जाती है तो उसे हटाने के लिए एंटी-टरमाइट स्प्रे से लेकर पेस्ट कंट्रोल तक बहुत कुछ करवाना पड़ता है। पर उसके बाद भी कई बार इससे आसानी से निजात नहीं मिलती। ऐसे में सबसे सुरक्षित तरीका यही है कि दीमक को घर में घुसने और पनपने से ही रोका जाए। सबसे ज्यादा जरूरी है कि घर का फर्नीचर सुरक्षित रखा जाए और साथ ही साथ दीवारों को भी दीमक से बचाया जाए। 

दीमक की शुरुआत नम और उमस वाली जगहों पर ज्यादा होती है। इसी के साथ अगर दीमक बहुत बुरी हालात में पहुंच गई है तो आपके फर्नीचर में फंगस भी लगने लगेगी। ऐसा इसलिए होता है क्योंकि दीमक के मड ट्रेल्स यानि उसके घोसले जैसी लकीर में बहुत ज्यादा मात्रा में मॉइश्चर होता है जिससे फंगस लग सकती है। 

अगर दीमक को सही समय पर ठीक नहीं किया गया तो वो घर में बहुत समस्या पैदा कर सकती है। ये दीवारों को भी नुकसान पहुंचा सकती है और इसलिए ये जरूरी है कि इसका इलाज सही समय पर किया जाए। हम आपको आज कुछ टिप्स बताने जा रहे हैं जो दीमक को रोकने में मदद करेंगी। 

इसे जरूर पढ़ें- बारिश में दालों और अनाज को कीड़े से बचाने के लिए ये टिप्‍स अपनाएं 

1. मॉइश्चर का करें इलाज-

दीमक हमेशा मॉइश्चर से खिंचती हैं। अगर फर्नीचर ऐसी जगह है जहां मॉइश्चर है या फिर खिड़की-दरवाज़ों या दीवारों के पास मॉइश्चर इकट्ठा है तो ऐसा हो सकता है कि दीमक लगने लगे। घर में मॉइश्चर से आमतौर पर फंगस भी होती है जो स्वास्थ्य से जुड़ी परेशानियां खड़ी कर सकता है। ऐसे में ये जरूरी है कि इसे मॉइश्चर से दूर रखा जाए।  

सबसे पहले तो आप होम फर्नीचर और खिड़की-दरवाज़ों पर वुड पॉलिश लगाएं। इससे मॉइश्चर में कमी आएगी। इसके बाद फर्नीचर को साफ करने के लिए पानी में डूबा हुआ कपड़ा नहीं बल्कि सेनेटाइजर आदि का प्रयोग करें। ध्यान रखें कि घर में कहीं भी लीकेज न हो और फर्नीचर गीला न हो।  

woodpaint and termite

Recommended Video

2. सूरज की धूप- 

फर्नीचर को आप घर से बाहर थोड़ी देर धूप में भी रख सकते हैं। फर्नीचर में अगर मॉइश्चर होगा तो वो धूप से भी कम होगा। सूरज की धूप से फर्नीचर पूरी तरह से सूख सकता है। दीमक हमेशा बहुत गर्मी से दूर रहती हैं और अगर फर्नीचर के अंदर दीमक है तो सूरज की गर्मी उसे खत्म कर देगी।  

furnitre and termite

इसे जरूर पढ़ें- इन 7 असरदार घरेलू उपायों से दूर करें पेट के कीड़े 

3. दीमक का स्प्रे या फिर पेस्ट कंट्रोल- 

ये उस तरह की दीमक के लिए अच्छा है जो मिट्टी जैसे स्ट्रक्चर बनाकर अपना घर बनाती हैं। अगर दीमक कम है तो वो इस तरह से चली जाएगी। अगर दीमक नहीं भी है तो भी ये बेहतर होगा कि आप एंटी-टरमाइट स्प्रे को कुछ महीनों में एक बार अपने घर की दीवारों पर और लकड़ी के सामान पर छिड़क दें।  

अगर दीमक बहुत ज्यादा हो गया है तो आपके लिए बेहतर यही होगा कि आप पेस्ट कंट्रोल करवाएं। पेस्ट कंट्रोल करवाने के बाद आप अपने घर के सामान को और दीवारों को भी थोड़ा सुरक्षित कर सकते हैं।  

अगर आपको ये स्टोरी अच्छी लगी हो तो इसे शेयर जरूर करें। ऐसी ही अन्य स्टोरी पढ़ने के लिए जुड़े रहें हरजिंदगी से।