घर बनाना किसी पहाड़ तोड़ने जैसा ही काम होता है जहां एक-एक ईंट की कीमत चुकानी पड़ती है। घर बनाने में सालों लग जाते हैं और अगर आपने लोन लिया हो तब तो आने वाले कई साल तक आपको उसकी किश्तें चुकानी होती हैं। जहां तक होम लोन का सवाल है तो लगभग हर इंसान के मन में इसे लेने से पहले संशय होता है कि क्या वो सही कदम उठाने जा रहा है? क्या लोन लेना सही होगा? किस बैंक से लोन लेना सही होगा? 

ये सारे सवाल एक मिडिल क्लास इंसान के लिए बहुत जरूरी हैं, आखिर एक गलत फैसला जिंदगी भर के कर्ज से लाद सकता है। ऐसे में क्यों न हम होम लोन और उसके प्रोसेस को लेकर कुछ बातें एक्सपर्ट से जान लें। होम लोन के बारे में जानने के लिए हमने इन्वेस्टमेंट, इंश्योरेंस, टैक्सेशन और फाइनेंशियल सर्विसेज की फील्ड में काम करने वाले जिगर शाह से बात की। 

जिगर शाह के अनुसार होम लोन लेने से पहले किसी भी इंसान को ये बात ध्यान रखनी चाहिए कि वो सिर्फ टैक्स बचाने के लिए होम लोन न ले। ऐसे में होम लोन पर पड़ने वाला इंटरेस्ट टैक्स से ज्यादा हो जाएगा। जिगर जी ने हमें कुछ बातें बताईं जिनका ध्यान होम लोन लेने से पहले सभी को रखना चाहिए। 

home load expert

इसे जरूर पढ़ें- कहीं आपके फोन के जरिए आप पर नजर तो नहीं रखी जा रही? ऐसे पता करें

सबसे पहले अपने पैसे का ध्यान रखें-

लोन लेने से पहले आपको ये ध्यान होना चाहिए कि आपके पैसे की आवक और खर्च कैसा है। कई लोगों को लगता है कि अगर वो ईएमआई दे सकते हैं तो उन्हें होम लोन ले लेना चाहिए, लेकिन ऐसा नहीं है। अपने मनी इनफ्लो (बड़ी मात्रा में धन का अन्तर्वाह) का चार्ट जरूर बनाएं और ये ध्यान रखें कि हर स्थिति में थोड़े से रिजर्व फंड्स हमारे पास होने चाहिए। 

home loan effects

EMI का अमाउंट जरूर ध्यान रखें-

आपको ये बात ध्यान रखनी चाहिए कि आपकी EMI आपकी मासिक सैलरी/आय के 30% अमाउंट से ज्यादा नहीं होनी चाहिए। यानी अगर 100 रुपए आवक है तो किसी भी हाल में 30 रुपए से ज्यादा EMI नहीं होनी चाहिए। 

टैक्स बचाने के लिए होम लोन लेना सही नहीं है-

ये वो जमाना नहीं है जहां एक घर आपको 10 साल में कीमत से ज्यादा कमा कर दे देगा। वो समय बीत गया है और अब रियल एस्टेट में रिस्क के साथ-साथ इंटरेस्ट भी बहुत ज्यादा होता है। तो अगर आप सिर्फ टैक्स बचाने के लिए होम लोन लेने के बारे में सोच रहे हैं तो ऐसा न करें क्योंकि कई मामलों में आपके लोन का इंटरेस्ट उस अमाउंट से ज्यादा होगा जितना टैक्स आपने बचाया है।

home loan tips

OD फैसिलिटी के साथ लें होम लोन-

जिन्हें इसके बारे में नहीं पता उन्हें मैं बता दूं कि ओडी का मतलब ओवरड्राफ्ट है। इसमें बैंक में ही एक होम लोन अकाउंट खोला जा सकता है और आप उसमें एक्स्ट्रा पैसा जमा कर सकते हैं। ये एक्स्ट्रा पैसा होम लोन ओवरड्राफ्ट अकाउंट में आपके लोन की प्री-पेमेंट के तौर पर जाएगा। आपके लोन के अमाउंट से ये अपने आप ही कम हो जाएगा। होम लोन लेने से पहले आपको अपने बैंक से इस बारे में जानकारी ले लेनी चाहिए कि क्या वो OD फैसिलिटी दे सकता है। फेडरल बैंक और एसबीआई बैंक ये सुविधा देते हैं।  

सिर्फ बैंक से ही लें होम लोन- 

भले ही आपको कितना भी अच्छा ऑफर दिख रहा हो NBFC (Non-banking financial institution) से होम लोन लेना आपके लिए अच्छा नहीं होगा। बैंक होम लोन रेट ज्यादा सस्ते और किफायती होते हैं।  

जितना लंबा हो सके उतना लंबा होम लोन लें-

यकीनन हर कोई ये चाहता है कि उसका लोन जल्दी निपट जाए और वो कर्ज से मुक्त हो जाए, लेकिन ये हमेशा प्लानिंग से होना चाहिए। अगर आप ज्यादा लंबे वक्त के लिए लोन लेंगे तो इससे आपकी EMI कम हो जाएगी। अगर आप प्लानिंग से चलते हैं तो आप 7 साल में भी अपना पूरा लोन चुका सकते हैं, लेकिन अपने ऊपर एक्स्ट्रा बोझ लेना सही नहीं है। इसलिए ईएमआई को कम रखा जाए वही सही होता है।  

इसे जरूर पढ़ें- ऑनलाइन धोखाधड़ी होने के बाद सबसे पहले करें ये काम  

किस बैंक से मिलता है कितना इंटरेस्ट? 

हाल ही में कोटक महिंद्रा बैंक और स्टेट बैंक ऑफ इंडिया ने अपने होम लोन इंटरेस्ट को कम किया है। कोटक महिंद्रा बैंक इस वक्त सबसे सस्ते इंटरेस्ट पर लोन दे रहा है। कुछ अहम बैंकों के इंटरेस्ट रेट इस प्रकार हैं- 

  • कोटक महिंद्रा बैंक- 6.65%
  • स्टेट बैंक ऑफ इंडिया- 6.70%
  • एचडीएफसी बैंक-  6.75%
  • सिटी बैंक- 6.75%
  • यूनियन बैंक- 6.80%
  • पंजाब नेशनल बैंक- 6.80%
  • बैंक ऑफ बड़ौदा- 6.85%
  • सेंट्रल बैंक- 6.85%
  • बैंक ऑफ इंडिया- 6.85%
  • ICICI बैंक-  6.90%
  • IDBI बैंक-  6.90% 

Recommended Video

इन बैंकों के अलावा भी कई बैंक्स हैं जो होम लोन की सुविधा देते हैं। आप होम लोन के लिए बैंक चुनें उससे पहले उस बैंक की प्रोसेसिंग फीस के बारे में भी पता कर लें। ये लोन के ऊपर लगने वाली फीस होती है और कई बैंक्स लोन की रकम के हिसाब से इसे चुनते हैं।  

अपने किसी भी फाइनेंशियल निवेश को ध्यान पूर्वक करें और किसी भी तरह की उलझन होने पर एक्सपर्ट से सलाह जरूर लें। अगर आपको ये स्टोरी अच्छी लगी है तो इसे शेयर जरूर करें। ऐसी ही अन्य स्टोरीज पढ़ने के लिए जुड़े रहें हरजिंदगी से।