महीने की हर एक तारीख को सरकार द्वारा कुछ बदलाव किए जाते हैं। जिसका सीधा असर आम आदमी की जेब पर पड़ता है। वहीं इस बार भी 1 जुलाई से कई नियम बदले जा रहे हैं, जिसमें स्टेट बैंक ऑफ इंडिया के एटीएम, इनकम टैक्स रिटर्न आदि से सम्बंधित कई नियमों में बदलाव किए जाएंगे। इसके अलावा एलपीजी सिलेंडर की कीमतों में भी संशोधन की उम्मीद है।

वहीं बैकिंग सेवाओं के अलावा इन बदलावों का असर उन लोगों पर भी पड़ेगा जिन्होंने अपना आयकर रिटर्न नहीं भरा है। जुलाई का महीना शुरू होने में सिर्फ कुछ ही दिन बाकी है, ऐसे में आइए जानते हैं वह कौन-कौन से नियम हैं जो अगले महीने की पहली तारीख से बदल रहे हैं।

SBI बैंक के नियम बदल जाएंगे

Sbi Atm rules

स्टेट बैंक ऑफ इंडिया के एटीएम से पैसे निकालने के नियमों में बदलाव किए गए हैं। स्टेट बैंक के अकाउंट होल्डर को बैंक की ब्रांच या फिर एटीएम से चार पर निकासी मुफ्त रहेगी, लेकिन उसके बाद उनसे चार्ज वसूले जाएंगे। मुफ्त की सीमा खत्म होने के बाद बैंक ग्राहकों से 15 रुपये के साथ जीएसटी जोड़कर आपसे चार्ज वसूल करेगी। फिर चाहे आप कहीं से भी पैसों की निकासी करें।

चेकबुक से संबंधित नियम

एसबीआई के सेविंग अकाउंट होल्डर के पास 1 जुलाई से सीमित मुफ्त चेक लीफ उपयोग होगा। हाल ही बैंक ने नई गाइडलाइन जारी की हैं, जिसके अनुसार एक अकाउंट होल्डर एक वित्तीय वर्ष में केवल 10 चेक लीफ का उपयोग कर सकता है। इससे अधिक इस्तेमाल किए जाने पर बैंक चार्ज वसूल करेगा। ऐसे में 10 पन्नों की चेक बुक के लिए बैंक 40 रुपये प्लस जीएसटी और 25 पन्नों की चेक बुक के लिए बैंक 75 रुपये प्लस जीएसटी वसूल करेगा। हालांकि वरिष्ठ नागरिकों के लिए ऐसे किसी शुल्क की घोषणा नहीं की गई है।

इसे भी पढ़ें: झूलन गोस्वामी ने भारत के लिए बनाया अनोखा रिकॉर्ड, जानें उनकी जिंदगी की अनसुनी कहानियां

दोगुना वसूल किया जाएगा टीडीएस 

increase TDS

अगले महीने से सरकार ने फैसला किया है कि जिन लोगों ने समय पर इनकम टैक्स रिटर्न फाइल नही किया है उनसे दोगुना टीडीएस वसूल किया जाएगा। ऐसे में अगर आपने अब तक टैक्स रिटर्न नहीं फाइल किया है तो जल्द से जल्द फाइल कर लें। वहीं यह नियम उन करदाताओं पर लागू होगा जिनका टीडीएस हर साल 50,000 रुपये से अधिक काटा जाता है। इसे वित्त अधिनियम, 2021 द्वारा आयकर नियमों में सम्मिलित किया गया है।

दो बैंकों के अकाउंट होल्डर को मिलेगी नई चेकबुक

आंध्रा बैंक और कॉर्पोरेशन बैंक को यूनियन बैंक ऑफ इंडिया में मिला दिया गया है। ऐसे में 1 जुलाई से दोनों बैंकों के उपयोगकर्ताओं को सुरक्षा सुविधाओं के साथ नई चेक बुक प्राप्त करने के लिए कहा है। उनकी मौजूदा चेक बुक अमान्य हो जाएगी। आंध्रा बैंक और कॉर्पोरेशन बैंक को 1 अप्रैल, 2020 को यूनियन बैंक में मिला दिया गया था।

इसे भी पढ़ें: घर से काम करने में होती है परेशानी तो जरूर खरीदें ये चीज़े

एलपीजी गैस सिलेंडर की कीमत

LPG gas price

हर महीने की पहली तारीख पर एलपीजी गैस सिलेंडर की कीमत तय की जाती है। हालांकि तेल कंपनियों द्वारा ऐसी कोई ऑफिशियल अनाउंसमेंट नहीं की गई है, लेकिन उम्मीद की जा रही है कि 1 जुलाई को एलपीजी गैस सिलेंडर की कीमतों को बढ़ाया या घटाया जा सकता है।

Recommended Video

बदला जाएगा सिंडिकेट बैंक का IFSC कोड

sbi bank new rule

सिंडिकेट बैंक के खाताधारकों को नए IFSC कोड मिलेंगे क्योंकि बैंक का केनरा बैंक में विलय हो गया है। लेनदेन सही तरीके से हो पाए इसके लिए बैंक ने सभी खाताधारकों को IFSC कोड अपडेट करने के लिए कहा है। 1 जुलाई से यह नियम प्रभावी तौर पर जारी हो जाएगा, ग्राहकों को नेफ्ट और अन्य ऑनलाइन सेवाओं का फायदा उठाने के लिए IFSC कोड को पहले अपडेट कराना होगा।

अगर आपको यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे शेयर जरूर करें, और इसी तरह के अन्य लेख पढ़ने के लिए जुड़े रहें आपकी अपनी  वेबसाइट हरजिन्दगी के साथ।