Close
चाहिए कुछ ख़ास?
Search

    साधना के लिए इन स्थानों को माना जाता है सर्वश्रेष्ठ

    आज हम आपको उन स्थानों के बारे में बताने जा रहे हैं जहां साधना करना सफल और पूर्ण फलदायी माना जाता है।   
    author-profile
    • Gaveshna Sharma
    • Editorial
    Updated at - 2023-01-02,13:47 IST
    Next
    Article
    how to do sadhna

    Places For Meditation: हिन्दू धर्म में साधना या ध्यान को बेहद महत्वपूर्ण माना जाता है। सांसारिक सुखों से लेकर मोक्ष प्राप्त करने तक साधना का मार्ग अपनाना सर्वश्रेष्ठ माना जाता है। 

    हालांकि साधना करना जितना सारल दिखता है उतना है नहीं क्योंकि साधना से जुड़े कुछ कड़े नियम भी होते हैं जिनका पालन आवश्यक माना गया है। इन्हीं नियमों में से एक है शुद्ध स्थान। 

    हमारे ज्योतिष एक्सपर्ट डॉ राधाकांत वत्स द्वारा दी गई जानकारी के आधार पर आज हम आपको कुछ ऐसे स्थानों के बारे में बताने जा रहे हैं जहां साधना करना सफल और सिद्ध माना जाता है। 

    पर्वत या गुफा

    पर्वत या गुफा में प्रकृति का साथ और उसकी स्वच्छता एवं शुद्धता महसूस होती है। जहां पर्वत की ऊंचाई साधना के उच्चतम स्तर पर सफल होने का प्रतीक बनती है तो वहीं, गुफा का गुप्त वातावरण साधना को और गहराई में ले जाता है।

    इसे जरूर पढ़ें: बुधवार के दिन करें गणेश जी की ये आरती, मनवांछित कामनाओं की होगी पूर्ती

    दो नदियों का संगम 

    Places For Meditation

    नदियों को पवित्र माना जाता है। ऐसे में नदी किनारे बहती हवा नदी के स्पर्श से शुद्ध हो जाती है और जब वही हवा व्यक्ति के शरीर को स्पर्श करती है उस व्यक्ति की भी शुद्धि हो जाती है। व्यक्ति का मन शांत (मन की शांति के लिए मंत्र) रहता है। इसी कारण से नदियों के तट पर या संगम पर साधना करनी चाहिए। 

    तीर्थ स्थान

    Sadhna Ke Liye Jagah

    यूं तो आजकल के आडम्बर के कारण तीर्थ स्थानों में शोरगुल ज्यादा रहता है लेकिन अब भी कुछ ऐसे तीर्थ स्थान हैं जहां साधना करने से न सिर्फ भगवान (भगवन की मूर्ति के वास्तु नियम) का आशीर्वाद प्राप्त होता है बल्कि भक्तिमय वातावरण के कारण साधना का ताप भी बढ़ता है। 

    वाटिका, जंगल या वन 

    when to do sadhna

    किसी वाटिका या जंगल में साधना करना मानव शरीर में मौजूद पृथ्वी तत्व को जागृत करता है जिससे साधना करने के लिए व्यक्ति को शारीरिक बल प्राप्त होता है। बिना शारीरिक बल के साधना करना संभव नहीं। इसी कारण से वन में साधना करने के लिए कह गया है। 

    इसे जरूर पढ़ें: अश्विन कुमार के इस मंत्र जाप से दूर हो सकती हैं आपकी ये गंभीर बीमारियां

    पूजनीय वृक्ष के नीचे

    हिन्दू धर्म में पीपल, आंवला, बरगद, तुलसी, बेल आदि वृक्षों या पौधों को पवित्र एवं पूजनीय माना गया है। ऐसे में अगर किसी पूजनीय वृक्ष के नीचे साधना की जाए या किसी ऐसे स्थान पर साधना की जाए जहां तुलसी या शमी जैसे पौधे लगे हों तो यह उत्तम माना जाता है। 

    तो ये थे साधना करने के लिए सर्वश्रेष्ठ स्थान। अगर आपको यह स्टोरी अच्छी लगी हो तो इसे फेसबुक पर जरूर शेयर करें और इसी तरह के अन्य लेख पढ़ने के लिए जुड़ी रहें आपकी अपनी वेबसाइट हरजिन्दगी के साथ। आपका इस बारे में क्या ख्याल है? हमें कमेंट बॉक्स में जरूर बताएं।

    Image Credit: Shutterstock, Pexels 

    बेहतर अनुभव करने के लिए HerZindagi मोबाइल ऐप डाउनलोड करें

    Her Zindagi
    Disclaimer

    आपकी स्किन और शरीर आपकी ही तरह अलग है। आप तक अपने आर्टिकल्स और सोशल मीडिया हैंडल्स के माध्यम से सही, सुरक्षित और विशेषज्ञ द्वारा वेरिफाइड जानकारी लाना हमारा प्रयास है, लेकिन फिर भी किसी भी होम रेमेडी, हैक या फिटनेस टिप को ट्राई करने से पहले आप अपने डॉक्टर की सलाह जरूर लें। किसी भी प्रतिक्रिया या शिकायत के लिए, compliant_gro@jagrannewmedia.com पर हमसे संपर्क करें।