देशभर में कोरोना की लहर कहर बरपा रही है, इसकी वजह से अधिकतर लोग एंग्जाइटी और घबराहट जैसी समस्या का सामना कर रहे हैं। कई राज्यों में लॉकडाउन की स्थिति बन गई है, वहीं कई जगहों पर लॉकडाउन भी लागू कर दिया गया है। पिछले साल लगातार घरों में रहने की वजह से अधिकतर लोगों को एंग्जाइटी और डिप्रेशन का सामना करना पड़ा था, ऐसी स्थिति दोबारा ना पैदा हो, इसके लिए आप मंत्रों का जाप कर सकती हैं।

आपको बता दें कि इन मंत्रों में इतनी शक्ति होती है कि यह आपके मन को ना सिर्फ़ शांत रखेंगे बल्कि आप एंग्जाइटी और डिप्रेशन जैसी समस्याओं से भी दूर रहेंगी। आजकल तनाव भरे जीवन में एंग्जाइटी, बैचेनी, और घबराहट जैसी चीजें हर किसी को हो रही हैं। नई दिल्ली के जाने माने पंडित, एस्ट्रोलॉजी, कर्मकांड, पितृदोष और वास्तु विशेषज्ञ प्रशांत मिश्रा के अनुसार इन मंत्रों का जाप करने से कई फ़ायदे हो सकते हैं।

शिव मंत्र का करें जाप

shiv mantra

कुछ ऐसे मंत्र होते हैं जो आपके मन को शांति प्रदान करने के साथ-साथ आपका कल्याण भी करते हैं। उन्हीं में से एक है शिव मंत्र ''ऊँ नमः शिवाय'', यह मंत्र भगवान शिव का बहुत ही सरल व प्रभावी मंत्र है। इसे रुद्राक्ष की माला से जपने से भगवान शिव बहुत प्रसन्न होते हैं। रुद्राक्ष की माला लेकर 108 बार इस मंत्र का जाप करें। वहीं आप सुबह या शाम कभी भी इस मंत्र का जाप कर सकती हैं। भगवान शिव में ध्यान लगाने से आपको न सिर्फ़ शांति मिलेगी बल्कि सारे कष्ट भी दूर हो जाएंगे। मन को शांत करने के लिए ध्यान या जाप विश्वभर में अपनाया जा रहा है। तनाव से निपटने के लिए यह एक कारगर तरीक़ा माना जाता है।

इसे भी पढ़ें: नवरात्रि में क्यों करते हैं कन्या पूजन? आचार्य सचिन शिरोमणि जी से जानिए

भगवान विष्णु का आमोघ मंत्र

vishnu mantra

मन को शांत और तनाव को दूर करने के लिए आप ''ऊँ नमो भगवते वासुदेवाय'' मंत्र का जाप कर सकती हैं। यह द्वादश अक्षर मंत्र भगवान विष्णु का अमोघ मंत्र है। इस मंत्र के जाप से सभी पापों का नाश होता है, तथा मोक्ष की प्राप्ति होती है। गस मंत्र का जाप करने से पित्र दोष से भी राहत मिलती है। इस मंत्र का जाप रुद्राक्ष की माला से करें। हालांकि इस मंत्र का जाप सूर्यास्त से पहले ही करें। धर्मशास्त्रों के अनुसार भगवान विष्णु जगत पालन करने वाले देवता माने गए हैं। भगवान विष्णु का स्वरूप शांत और आंनदमयी है। इसलिए जब सुबह या शाम में सूर्यास्त होने से पहले इस मंत्र का जाप करना फलदायी हो सकता है।

इसे भी पढ़ें: क्या आप जानते हैं सपने में गणपति को देखने का मतलब

Recommended Video

गणेश गायत्री मंत्र का जाप

ganesh mantra

मन की शांति के लिए रोजाना 108 बार ''ॐ एकदन्ताय विद्महे वक्रतुंडाय धीमहि तन्नो बुदि्ध प्रचोदयात'' का जाप करें। भगवान गणेश के भक्त इस मंत्र का जाप हर बुधवार को करते हैं, लेकिन मन की शांति के लिए आप इस मंत्र का जाप सुबह या शाम में किसी भी समय कर सकते हैं। वहीं ऐसी मान्यता है कि 11 दिन तक शांत मन से इस मंत्र का जाप करने से भगवान गणेश मनोकामना को पूर्ण कर देते हैं। वहीं ध्यान या जाप का मतलब सिर्फ़ मंत्रों का उच्चारण करना नहीं होता। तनाव से छुटकारा पाने के लिए भी मंत्र का उच्चारण करते समय पूरा ध्यान ज़रूर लगाएं।

अगर आपको यह आर्टिकल अच्छा लगा हो तो इसे शेयर जरूर करें व इसी तरह के अन्य आर्टिकल पढ़ने के लिए जुड़ी रहें आपकी अपनी वेबसाइट हरजिन्दगी के साथ।