21 मई का दिन भारत के इतिहास में बेहद खास है। इस दिन भारत को अपनी पहली मिस यूनिवर्स मिली थी। मिस यूनिवर्स के ताज को जीतने वाली थीं सुष्मिता सेन। वैसे इस घटना को 27 बरस बीत चुके हैं, मगर इस दिन से जुड़ी कुछ विशेष यादें आज भी सुष्मिता अपने अंदर समेटे हुए हैं। 

सुष्मिता ने इस दिन को सेलिब्रेट करते हुए अपने इंस्‍टाग्राम पर एक पोस्‍ट भी शेयर की है। इस पोस्‍ट में उन्‍होंने लिखा है, ' क्‍या आपके साथ कभी ऐसा हुआ है कि नामुमकिन चीज मुमकिन हो गई हो। मेरा साथ हुआ है। आज से 27 साल पहले जब मैं देश की पहली मिस यूनिवर्स बनी थी। एक पल में मेरी जिंदगी जो मैं 18 साल से जी रही थी वह बदल गई थी। मैं उन सभी की शुक्रगुजार हूं जो इस सफर में मेरे साथ थे।'

हालांकि, सुष्मिता सेन के लिए मिस यूनिवर्स का ताज जीतने का सफर आसान नहीं था। शुरू से ही सुष्मिता को कई चुनौतियों का सामना करना पड़ा था। 

sushmita sen aishwarya rai bachchan wedding new

जब सुष्मिता ने लिया था ब्‍यूटी पैजेंट को छोड़ने का फैसला 

वर्ष 1994 में भारत को सौंदर्य के क्षेत्र में एक नहीं बल्कि दो-दो उपलब्ध्यिां हासिल हुई थीं जहां सुष्मिता सेन मिस युनिवर्स बनी थीं वहीं ऐश्‍वर्या राय मिस वर्ल्‍ड। मगर इन दोनों ब्‍यूटी पैजेंट से पहले भारत में मिस इंडिया 1994 के लिए हुए ब्‍यूटी पैजेंट में ऐश्‍वर्या, सुष्मिता के लिए किसी चुनौती से कम नहीं थीं। जहां ऐश्‍वर्या की खूबसूरती और कॉन्फिडेंस देख सभी कंटेस्‍टेंट्स  घबराती थीं वहीं सुष्मिता भी ऐश्‍वर्या को देख नर्वस हो जाती थीं। सुष्मिता सेन ने एक लीडिंग मीडिया हाउस को दिए पुराने इंटरव्‍यू में भी इस बात का जिक्र किया है। उन्‍होंने कहा , ' इस प्रतियोगिता में मैं इतना आगे निकल जाउंगी यह मैने नहीं सोचा था। मेरे साथ इस पैजेंट में जितनी भी लड़कियों ने हिस्‍सा लिया था, वह सभी बेहद खूबसूरत थीं। आखिर में ऐश्‍वर्या और मेरे बीच बरारबर की टक्‍कर थी। तब मैं थोड़ा डर गई थी। मुझे लगा था कि मैं नहीं जीत पाउंगी और मन में पैजेंट को बीच में छोड़ने का विचार भी आया था।'

इसे जरूर पढ़ें: 26 साल पहले देश की पहली 'मिस यूनिवर्स' बनी थीं सुष्मिता सेन, देखें पुरानी तस्‍वीरें और वीडियो

miss universe pageant facts

किस सवाल के जवाब ने सुष्मिता को जिताया था ताज 

मिस इंडिया पैजेंट जीतने के अंतिम चरण में जब सुष्मिता पहुंची तो उनके साथ 4 अन्‍य लड़कियां भी थीं जिनमें से एक ऐश्‍वर्या राय थीं। जज ने एक ही सवाल सभी कंटेस्‍टेंट्स से पूछा। पहला सवाल था कि 'इतिहास की किसी घटना को बदलना चाहें तो वह क्‍या होगी?' इस पर ऐश्‍वर्या ने बोला था, 'अपने जन्‍म का समय' वहीं सुष्मिता का जवाब था, ' देश की पहली महिला प्रधानमंत्री की मृत्‍यु'। 

आपको बता दें कि आखिरी राउंड में सुष्मिता और ऐश्‍वर्या के बीच टाई हो गया था और सभी को लग रहा था कि अब ऐश्‍वर्या राय ही यह पैजेंट जीतेंगी। मगर पैजेंट के जज पैनल ने ऐश्‍वर्या और सुष्मिता से एक और सवाल किया। 

सुष्मिता से जज ने सवाल किया , 'आप देश के टेक्सटाइल हेरिटेज के बारे में क्या जानती हैं? ये कब शुरू हुआ और क्या आप इन्‍हें पहनना पसंद करेंगी? ' इस पर सुष्मिता ने जवाब दिया था, 'खादी को महात्‍मा गांधी जी से जोड़ा जाता है। मुझे इंडियन एथनिक आउटफिट्स पहनना बहुत पसंद है तो मैं तो खादी जरूर पहनना पसंद करुंगी।' 

वहीं ऐश्‍वर्या से पूछा कि वह पति में कैसी खूबियां देखना चाहती ? इसके लिए जज ने उन्‍हें कुछ विदेशी एक्‍टर्स के नाम भी दिए। मगर सवाल का जवाब ऐश्‍वर्या ठीक से नहीं दे पाईं। फिर क्‍या था सुष्मिता ने हारी बाजी जीत ली और वह मिस इंडिया 1994 बन गईं। 

बहुत हैरानी की बात है कि एक ही वर्ष में मिस यूनिवर्स और मिस वर्ल्‍ड का खिताब जीतने वाली सुष्मिता और ऐश्‍वर्या के बीच कोई खास बॉन्डिंग नहीं है। वाइल्‍ड फिल्‍म्‍स इंडिया को दिए एक पुराने इंटरव्‍यू में सुष्मिता ने कहा था, 'ऐश्‍वर्या न मेरी दोस्‍त हैं और न हम दुश्‍मन हैं। हम दोनों एक दूसरे को जानते हैं, मगर हमारे बीच में दूरियां हैं। हमें केवल अपने काम से मतलब है।'

इसे जरूर पढ़ें: ऐश्‍वर्या राय बच्‍चन की वजह से सुष्मिता सेन छोड़ने वाली थीं 'Miss India' कॉन्‍टेस्‍ट, जानें वजह

miss universe sushmita sen unknown facts

मिस यूनिर्वस का ताज जीतना भी सुष्मिता के लिए था मुश्किल 

आपको बता दे कि मिस इंडिया बनने के बाद भी सुष्मिता के लिए मिस युनिर्वस का ताज जीतना आसान नहीं था। इस पैजेंट में शामिल होने से पहले ही उनका पासपोर्ट खो गया था और भारत की ओर से इस पैजेंट में सुष्मिता की जगह ऐश्‍वर्या को भेजा जा रहा था। मगर समय पर पासपोर्ट अरेंज करने के बाद सुष्मिता ने ही इस पेजेंट में हिस्‍सा लिया और डंट कर हर मुकाबले का सामना करते हुए मिस यूनिर्वस बन गईं। 

 

आपको बता दें कि सुष्मिता से पहले भारत की वर्ष 1966 में रीता फारिया को मिस वर्ल्‍ड का ताज पहनाया गया था। इस घटना के बाद सुष्मिता ने ही भारत को दूसरी बार सौंदर्य के क्षेत्र में इतना बड़ा खिताब जिताया, सुष्मिता के बाद ऐश्‍वर्या को उसी वर्ष मिस वर्ल्‍ड का ताज पहनाया गया था। 

यह आर्टिकल आपको अच्‍छा लगा हो तो इसे शेयर और लाइक जरूर करें साथ ही इसी तरह और भी आर्टिकल्‍स पढ़ने के लिए जुड़ी रहें हरजिंदगी से।