हमारे शास्त्रों और पुराणों में शंख का हमेशा से ही बहुत महत्व रहा है। कहा जाता है किसी भी शुभ कार्य की शुरुआत शंख बजाकर ही की जाती थी। यही नहीं शास्त्रों के अनुसार शंख में देवताओं का वास होता है इसलिए इसे अपने घर में खासतौर पर पूजा के स्थान पर रखना अत्यंत शुभ माना जाता है। मान्यता है कि शंख के बीच के हिस्से में वरुण देव, पीछे के हिस्से में ब्रह्मा जी और सामने गंगा और सरस्वती का वास है।

शंख रखना वास्तु के हिसाब से भी शुभ माना जाता है और जिस घर में नियमित रूप से शंख नाद होता है उस घर में लक्ष्मी जी का वास होने के साथ सभी वास्तु दोषों से मुक्ति भी मिलती है। आमतौर पर सभी के घरों में शंख जरूर रखा होता है। कुछ घरों में इसका इस्तेमाल विष्णु जी को स्नान कराने में तो कुछ जगह जल आचमन करने के लिए किया जाता है। लेकिन यदि आप घर में शंख रखते हैं तो आपको कुछ नियमों का पालन भी अवश्य करना चाहिए जिससे घर की शांति बनी रहे। आइए नई दिल्ली के पंडित एस्ट्रोलॉजी और वास्तु विशेषज्ञ, प्रशांत मिश्रा जी से जानें घर में शंख रखने के कुछ नियमों के बारे में जिन्हें आपको भी जरूर जानना चाहिए।

घर में रखें दो शंख

two shankh

जब भी आप घर में शंख रखें आपको दो शंख रखने चाहिए। ऐसा माना जाता है कि एक शंख को पूजा में इस्तेमाल किया जाना चाहिए और दूसरे शंख को बजाने के लिए इस्तेमाल में लाना चाहिए। हमेशा पूजा करने के लिए दक्षिणा वर्ति शंख का इस्तेमाल करना चाहिए। इस शंख को पूजा पाठ के लिए अत्यंत शुभ माना जाता है। पूजा के लिए जिस शंख का इस्तेमाल कर रहे हैं उस शंख को भूलकर भी न बजाएं। हमेशा इस शंख में रात में पानी भरकर रखना चाहिए और सुबह इस पानी को पूरे घर में छिड़क देना चाहिए। ऐसा करने से घर के सभी वास्तु दोषों से मुक्ति मिलती है।

इसे जरूर पढ़ें:Astro Tips: घर में किस शंख को रखने से क्‍या होता है लाभ,पंडित जी से जानें

सफ़ेद कपड़े में ढककर रखें शंख

ऐसी मान्यता है कि शंख को हमेशा इस्तेमाल के बाद ढककर रखना चाहिए। घर में जिस शंख की पूजा होती है उस पर कभी किसी बाहरी की नज़र न पड़े। शंख को हमेशा इस्तेमाल के बाद पानी से धोकर साफ़ सफ़ेद कपड़े में ढककर रखने से माता लक्ष्मी प्रसन्न होती हैं और घर को धन धान्य से भर देती हैं।

शंख की करें नियमित पूजा

shankh puja

पंडित प्रशांत मिश्रा जी बताते हैं कि शंख में भगवान का वास होता है। इसलिए नियमित रूप से शंख की पूजा भी करनी चाहिए। यदि आप सभी भगवानों की पूजा करती हैं तो शंख और घंटी की पूजा करना भी अनिवार्य है जिससे घर की सुख शांति बनी रहे।

shankh placing rules

जमीन पर न रखें शंख

यदि आप घर में शंख रखती हैं तो ध्यान में रखें कि कभी भी शंख को जमीन में न रखें। कहा जाता है कि शंख लक्ष्मी जी और विष्णु जी दोनों को अत्यंत प्रिय है इसलिए इसे जमीन में रखने से दोनों का अपमान होता है। इसलिए जमीन में शंख रखने की जगह इसे किसी स्टैंड या किसी पाटे पर रखें।

Recommended Video

शिव पूजा में न करें शंख का इस्तेमाल

कभी भी शिव जी की पूजा में शंख का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए। मान्यता है कि शिव जी ने शंखचूर्ण राक्षस का वध किया था तभी से शिव जी के लिए इसका इस्तेमाल वर्जित माना जाता है। वहीँ शंख भी 14 रत्नों के साथ समुद्र मंथन में निकला है इसलिए इसे लक्ष्मी जी का भाई माना जाता है। यही वजह है कि विष्णु जी की पूजा में शंख का विशेष रूप से इस्तेमाल करें।

इसे जरूर पढ़ें:Sawan Special: क्या आप जानती हैं शिव जी को क्यों नहीं चढ़ाना चाहिए तुलसी दल

पूजा घर में शंख रखने की सही जगह

right place shankh

यदि आप पूजा घर में शंख रख रही हैं तो इसे भगवान विष्णु, लक्ष्मी या लड्डू गोपाल की मूर्ति के दाहिनी ओर रखा जाना चाहिए। पूजा घर में एक से आशिक शंख रखने से बचना चाहिए और इसे भगवान शिव की मूर्ति या शिवलिंग के पास नहीं रखना चाहिए। शंख रखते समय इसका खुला हुआ भाग हमेशा ऊपर की तरफ होना चाहिए।

घर में शंख रखते समय आपको यहां बताए गए सभी नियमों को जरूर मानना चाहिए जिससे माता लक्ष्मी प्रसन्न होती हैं और घर में सुख समृद्धि आती है।

अगर आपको यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे शेयर जरूर करें व इसी तरह के अन्य लेख पढ़ने के लिए जुड़ी रहें आपकी अपनी वेबसाइट हरजिन्दगी के साथ।

Image Credit: freepik,unsplash, shutterstock