आज देश अपना 71वां गणतंत्र दिवस मना रहा है। भारत में वर्ष 1950 में संविधान लागू किया गया था और उसके बाद से ही हर साल 26 जनवरी को गणतंत्र दिवस के रूम में मनाया जानें लगा। Republic Day का मुख्‍य आकर्षण हमेशा से ही इस दिन राजधानी दिल्‍ली के राजपथ पर निकलने वाली परेड रही है। हर वर्ष इस दिन परेड देखने के लिए देश भर से लोग दिल्‍ली आते हैं। 

important  days in

देश के ही नहीं भारत की परेड विश्‍व प्रसिद्ध है और इसे देखने के लिए विदेश के लोग भी आते हैं। इस बार भी दिल्‍ली में परेड देखने के लिए लाखों के तदात में लोग राजपथ में आए थे। कोहरे में सूर्य की चुका छुपी के बीच 90 मिनट की शानदार परेड का नजारा बेहद खूबसूरत था। 

इसे जरूर पढ़ें: 26 जनवरी की परेड में पहली बार CRPF की महिला बाइकर्स करेंगी कुछ ऐसा जो पहले कभी नहीं हुआ

parade stunts picture

9 बजे शुरू हुई इस परेड में सबसे पहले राष्‍ट्रपति रामनाथ कोविंद ने ध्‍वजारोहण किया उसके बाद शुरुआत में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इंडिया गेट पर अमर जवान ज्योति और राष्ट्रीय युद्ध स्मारक पर माल्यार्पण कर शहीदों को श्रद्धांजलि अर्पित की। इसके बाद शुरू हुई परेड।  परेड में सबसे पहले आर्मी ने अपने हथियारों का प्रदर्शन किया और उसके बाद पहले से ही चर्चा में रहीं कैप्‍टन तान्‍या शेरगिल अपने दस्‍ते के साथ राष्‍ट्रपति को सलामी देती नजर आईं। 

about  republic day  speech

26 जनवरी की परेड का मुख्‍य आकर्षण हमेशा से ही इसमें निकलने वाली झांकियां भी रही हैं। इस बार 90 मिनट की परेड में केवल 22 झांकियां ही नकली थीं। वैसे तो सभी राज्‍यों की झाकियां बेहद खूबसूरत थी मगर सबसे ज्‍यादा कलरफुल गुजरात की झांकी थी जिसमें ‘रानी की बावड़ी’ को दर्शाया गया।

आपको बता दें कि इसे यूनेस्‍को में संरक्षित किया गया है। प्रधानमंत्री मोदी भी इस झांकी को देख काफी खुश नजर आए। वहीं मिनिस्‍टर टैक्‍सटाइल स्‍मृति ईरानी सभी झांकियों को स्‍टैंडिंग ओरिएशन देती दिखीं। परेड में गुजरात के कई स्‍कूलों की 150 छात्राओं ने बेहद खूबसूरत गरबा डांस भी प्रस्‍तुत किया। जिसे देख परेड देखने आए दर्शक झूम उठे। वहीं दिल्‍ली के डीएवी सेन्‍टनरी स्‍कूलर के बच्‍चों ने योगा पर डांस प्रस्‍तुत किया।

parade stunts pic

इसे जरूर पढ़ें: इस वीकेंड दिल्ली के इन बेहतरीन प्रोग्राम्स में होंगी बहुत सारी मौज-मस्ती, आप भी पहुचें

इस डांस को देख पीएम नरेंद्र मोदी काफी संतुष्‍ट दिखे। गौरतलब है की पीएम मोदी योगा को बहुत प्रोत्‍साहित करते हैं। परेड में एनसीसी की सीनियर डिवीजन की 148 छात्राओं की कमान सुष्‍मा हेगड़े करती नजर आईं। वह अपने दस्‍ते के साथ जब राजपथ में आईं तो दर्शकदीर्घा में बैठे बच्‍चे भी जोश से उन्‍हें सलामी देते नजर आए। 

इसके अलावा Republic Day 2020 की परेड में पहली बार सीआरपीएफ की महिला बाइकर्स का स्‍टंट देखने को मिला। परेड में सबसे पहले इस दस्‍ते की कमान संभाल रहीं सीमा नाग मूविंग बाइक में सलामी देती नजर आईं। इसके बाद टीम की विरांगनाओं ने अपनी-अपनी बाइक पर हैरत अंगेज स्‍टंट प्रस्‍तुत किए। गौरतलब है, देश के इतिहास में ऐसा पहली बार देखने को मिलेगा जब सीआरपीएफ की महिला बाइकर्स Republic Day 2020 की परेड के दौरान राजपथ पर अपने हुनर और कलाबाजी पेश की है।

stunt pictures

आजादी के बाद पहली बार गणतंत्र दिवस की परेड में सीआरपीएफ की 65 सदस्‍यीय महिला बाइकर्स की टीम ने अपने कलाबाजी दिखाई। इन स्‍टंट में लैडर क्‍लाम्बिंग, बाइक मार्च, राइफल एक्‍ट, पिरामिड एक्‍ट मुख्‍य रहे। आपको बता दें कि इस टीम की सभी सदस्‍या 25 से 30 वर्ष की आयु की हैं। यह महिलाएं 350 सीसी रॉयल एनफील्‍ड बुलेट मोटरसाइकिल पर हैरत अंगेज स्‍टंट करती नजर आईं। इन के 9 एक्‍ट्स दिल की धड़कनों को रोक देने वाले थे। 

parade stunts pictures

देखा जाए तो इस बार की परेड महिलाओं के लिए बेहद खास रही है। परेड में महिलाओं को इस तरह कमान संभालते देख हर महिला आज खुद को सश्‍क्‍त महसूस कर रही होगी। आपको बता दें कि गणतंत्र दिवस की यह परेड परेड का रिहर्सल बीते 11 महिनों से चल रहा था। परेड की शुरुआत राष्‍ट्रपति भवन के नजदीक रायसीना हिल से हुई और राजपथ से होते हुए इंडिया गेट पर खत्‍म हुई। यह परेड 8 किलोमीटर की थी।

  

कौन है तान्या शेरगिल 

26 जनवरी कें दिन गणतंत्र दिवस की परेड का तो हमेशा से ही क्रेज रहा है मगर इस बार ह क्रेज और भी बढ़ा हुआ है। दरअसल, इस बार आर्मी के कार्प्स ऑफ सिग्नल्स की कैप्टन तान्या शेरगिल गणतंत्र दिवस की कमान संभाल रही हैं। अगर तान्या के फैमिली बैकग्राउंड की बात करें तो भारत की यह बहादुर लड़की पंजाब के होशियारपुर से हैं। तान्या सिग्नल कोर में कैप्टन हैं। 

तान्या इस बार परेड एडज्यूटेंट के तोर पर नजर आएंगी। इससे पहले 15 जनवरी को हुए सेना दिवस पर वह भारत की पहली महिला अधिकारी बनी हैं जिन्होंने परेड में एडज्यूटेंट का जिम्मा संभाला था। तान्या फौजी फैमिली बैकग्राउंड से हैं। उनके पिता, दादा और परदादा तीनों ही सेना में अपनी सेवा दे चुके हैं। तान्या के पिता तोपखाने, दादा बख्तरबंद और परदादा सिख रेजिमेंट में पैदल सैनिक थे। 

तान्या ने इंजीनियरिंग की पढ़ाई की इसके बाद चेन्नई स्थित ऑफिसर ट्रेनिंग अकेडमी से उन्हें मार्च 2017 में सेना में शामिल किया गया। आपको बता दें कि तान्या से पहले कैप्टन भावना कस्तूरी भी गणतंत्र दिवस परेड पर पुरुषों की टुकडि़यों की कमान संभाल चुकी हैं।