प्रियंका गांधी के बारे में कौन नहीं जानता। उनकी शख्सियत में कुछ खास है जिसे हम अक्सर राजनीतिक गलियारों में देखा करते हैं। पहले जहां प्रियंका गांधी राजनीति से दूर रहती थीं वहीं 2019 जनवरी से वो स्थाई तौर पर राजनीति का हिस्सा बन चुकी हैं और उन्हें उत्तर प्रदेश की ऑल इंडिया कांग्रेस कमेटी की जनरल सेक्रेटरी बना दिया गया था। प्रियंका गांधी का जन्मदिन 12 जनवरी को होता है और इस मौके पर हम आपको प्रियंका गांधी के बारे में कुछ ऐसे फैक्ट्स बताने जा रहे हैं जिनके बारे में शायद आपको मालूम न हो।  

प्रियंका गांधी को हमेशा से ही उनके माता-पिता के नाम से जाना जाता है, लेकिन प्रियंका ने कई मायनों में ये साबित किया है कि उनकी खुद की भी एक पहचान है। तो चलिए आपको कुछ खास बातें बताते हैं प्रियंका गांधी के बारे में- 

1. 16 साल की उम्र में दी थी पहली स्पीच- 

प्रियंका गांधी ने अपनी पहली पब्लिक स्पीच 16 साल की उम्र में ही दे दी थी। बचपन से ही उन्हें लोगों के बीच बोलने और अपनी बात रखने की ट्रेनिंग मिली थी। हालांकि, पहली स्पीच के बाद वो सामने कम ही दिखीं और एक्टिव पॉलिटिक्स में उन्होंने हिस्सा नहीं लिया, लेकिन फिर भी लोग उनमें शुरुआत से ही इंदिरा गांधी की छवि देखने लगे।

priyanaka and rajiv gandhi   

प्रियंका गांधी की सूरत, रहन-सहन, बाल और बोलने का तरीका सब कुछ इंदिरा गांधी की तरह ही है और इसलिए शुरुआत से ही उनके राजनीति में सक्रीय होने की बातें की जाती थीं।  

इसे जरूर पढ़ें- प्रियंका गांधी: बालों के स्‍टाइल से लेकर बातचीत के लहजे तक में दिखती हैं दादी ‘इंदिरा गांधी’ की झलक  

2. 2004 से ही हैं राजनीति का हिस्सा- 

भले ही प्रियंका की आधिकारिक राजनीतिक एंट्री बहुत बाद में हुई हो, लेकिन 2004 के जनरल इलेक्शन में प्रियंका गांधी ने अपनी मां सोनिया गांधी के लिए कई स्पीच लिखी थीं और साथ ही साथ उनकी कैम्पेन का बहुत सारा काम संभाला था। इतना ही नहीं 2007 के चुनावों में उन्होंने कांग्रेस को जितवाने के लिए बहुत अहम रोल निभाया था। प्रियंका ने रायबरेली और अमेठी दोनों ही सीटों के लिए कैम्पेनिंग का काम भी संभाला था और ये बताता है कि फ्रंट लाइन पॉलिटिक्स पर न होते हुए भी प्रियंका गांधी ने किस तरह से अपना काम बखूबी निभाया है।  

3. कन्फ्यूजन के समय 10 दिनों के लिए गईं थीं विपस्सना मेडिटेशन कैंप- 

ऐसा नहीं है कि उम्र का हर मोड़ एक जैसा होता है और कई बार अपना दिमाग साफ करने के लिए हमें किसी अन्य जगह पर जाने की कोशिश भी करनी चाहिए। ऐसा ही प्रियंका गांधी ने किया। 1999 में उनके सामने एक ऐसा मोड़ आया था जब वो बहुत कन्फ्यूज रहती थीं और उस समय वो 10 दिनों के लिए विपस्सना मेडिटेशन कैंप में चली गई थीं।  

priyanka gandhi birthday

4. 13 साल की उम्र में मिलीं थी रॉबर्ट वाड्रा से- 

प्रियंका गांधी उन कुछ खुशकिस्मत लोगों में से एक हैं जिन्हें अपना पहला प्यार ही जीवनसाथी के तौर पर मिलता है। 13 साल की उम्र में प्रियंका पहली बार रॉबर्ट वाड्रा से मिली थीं जो बहुत ही सादगी भरी थी। इसी बीच मुलाकातों का सिलसिला बढ़ता गया और दोनों की दोस्ती प्यार में बदल गई। रॉबर्ट वाड्रा ने एक इंटरव्यू में कहा था कि प्रियंका और वो एक दूसरे के साथ बराबरी का हिस्सा रखते हैं और उन्होंने घुटने पर बैठकर नहीं बल्कि एक साथ बराबर बैठकर दोनों ने शादी और रिश्ते के बारे में बात की थी। दोनों ने जब अपने परिवार वालों को इसके बारे में बताया तो रॉबर्ट के पिता इससे खुश नहीं थे, लेकिन बाद में वो भी मान गए। 1997 में दोनों की शादी हो गई।  

इसे जरूर पढ़ें- गांधी परिवार के साथ प्रियंका गांधी की ये अनदेखी तस्वीरें देखिए 

5. बौद्ध धर्म में दिलचस्पी रखती हैं प्रियंका- 

प्रियंका गांधी को लेकर न जाने कितनी बातें कही जाती हैं, लेकिन कम ही लोगों को पता होगा कि प्रियंका ने 2010 में MA किया था वो भी बौद्ध धर्म की शिक्षा में। प्रियंका इस धर्म के काफी करीब हैं और इसका पालन भी करती हैं।  

अब तो आप प्रियंका गांधी के बारे में काफी सारी बातें जान गए हैं और उम्मीद है कि उनके बारे में कुछ नई जानकारी हमने आपको बताई होगी। प्रियंका गांधी को हमारी तरफ से जन्मदिन की बधाई। अगर आपको ये स्टोरी अच्छी लगी तो इसे शेयर जरूर करें और ऐसी ही अन्य स्टोरी पढ़ने के लिए जुड़े रहें हरजिंदगी से।