देश के सबसे युवा प्रधानमंत्री रहे राजीव गांधी का आज जन्मदिन है। 20 अगस्त 1944 को जन्मे राजीव गांधी देश के सबसे चर्चित नेताओं में से एक हैं जो न सिर्फ भारत में बल्कि पूरे विश्व में प्रसिद्ध रहे हैं। 31 अक्टूबर 1984 को इंदिरा गांधी की हत्या वाले दिन ही राजीव गांधी को पीएम बना दिया गया था। राजीव गांधी ने लंदन से पढ़ाई तो की, लेकिन डिग्री नहीं ली। वो पढ़ाई में उतने अच्छे नहीं थे।  

राजीव गांधी को लंदन में ही 1956 की एक शाम सोनिया गांधी दिखीं और वो कहते हैं न, 'Rest is History', राजीव गांधी और सोनिया गांधी की शादी 23 साल चली और उसके बाद राजीव गांधी के अंत से इस प्रेम कहानी का दुखद अंजाम हुआ।  

rajiv and sonia gandhi moments

इसे जरूर पढ़ें- प्रियंका गांधी के बारे में ये 5 बातें नहीं जानती होंगी आप   

वो पहली मुलाकात जिसमें सोनिया को दिल दे बैठे थे राजीव- 

लंदन में पढ़ाई के दौरान राजीव गांधी अक्सर अपने दोस्तों के साथ बाहर जाया करते थे। राजीव गांधी 1956 की ऐसी ही एक शाम को दोस्तों के साथ लंदन के वरसिटी रेस्त्रां में बैठे थे और वहीं उनके सामने आईं खूबसूरत सोनिया माइनो (Sonia Maino), राजीव गांधी को सोनिया गांधी से उसी वक्त प्यार हो गया। उस समय सोनिया कैम्ब्रिज में पढ़ रही थीं और साथ ही साथ पार्ट-टाइम वेट्रेस की तरह उसी होटल में काम कर रही थीं।  

rajiv and sonia gandhi

रिश्वत देकर हुई थी सोनिया से पहली मुलाकात- 

राजीव गांधी ने अपने दोस्त और रेस्त्रां के मालिक चार्ल्स एंटोनी से कहा की कुछ ऐसा इंतज़ाम किया जाए कि सोनिया राजीव के थोड़ा करीब रह सकें। इसके लिए राजीव ने उन्हें रिश्वत भी दी। इसके बाद सोनिया के लिए राजीव ने पेपर नैपकिन में एक कविता लिखी और बेस्ट वाइन भेजी जो चार्ल्स के जरिए सोनिया तक पहुंची। इसके बाद शुरू हुआ दोनों की मुलाकातों का दौर। 

rajiv and sonia gandhi marriage photo

दिल्ली से लंदन सोनिया से मिलने आईं थी इंदिरा- 

राजीव गांधी और सोनिया गांधी एक दूसरे के इतने प्यार में थे कि राजीव गांधी ने इसके बारे में अपनी मां को बता दिया। ये बात थी 1965 की। इंदिरा गांधी उस समय भी काफी खुले विचारों की थीं और वो सोनिया से मिलने लंदन पहुंच गईं। वैसे तो राजीव के परिवार में इस रिश्ते की सहमति थी, लेकिन सोनिया के पिता को इससे थोड़ी दिक्कत थी। उनका मानना था कि उनकी बेटी राजनीतिक परिवार में जाएगी तो ये गलत होगा।  

शादी से पहले तेजी बच्चन के घर रही थीं सोनिया- 

राजीव गांधी 1967 में भारत वापस आए और उन्होंने 1968 को सोनिया गांधी को भी भारत बुलवा लिया गया। उन्हें तेजी बच्चन के घर रखा गया। राजीव गांधी परिवार और बच्चन परिवार की बहुत गहरी दोस्ती थी। हरिवंश राय बच्चन ने ही राजीव के पिता की भूमिका निभाई और दोनों की शादी 25 फरवरी 1968 को हो गई। 1970 जून में राहुल गांधी का जन्म हुआ और 1972 जनवरी में प्रियंका गांधी का।

rajiv gandhi sonia and kids

इसे जरूर पढ़ें- सादगी से भरी सोनिया की इंदिरा गांधी से कैसी थी पहली और आखिरी मुलाकात 

पारिवारिक जिम्मेदारियों के कारण राजीव जुड़े राजनीति से-

राजीव गांधी कभी राजनीति में नहीं आना चाहते थे। सोनिया गांधी के परिवार ने यही शर्त भी रखी थी। लेकिन पारिवारिक मजबूरियों के चलते उन्हें आना पड़ा। 1980 जनवरी में संजय गांधी की एक प्लेन हादसे में मौत हो गई। इसके बाद 1984 में इंदिरा गांधी की हत्या। इसके बाद राजीव गांधी को मजबूरन प्रधानमंत्री बनना पड़ा। राजीव गांधी ने अपनी भूमिका बखूबी निभाई, लेकिन 1991 में उनकी भी हत्या कर दी गई। इसके बाद सोनिया गांधी ने राजनीति की कमान संभाली जो वो कभी करना नहीं चाहती थीं।