कोरोना संकट और लॉकडाउन के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज एक बार फिर देश को संबोधित किया। ऐसा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मुख्यमंत्रियों के साथ अपनी छह घंटे की बैठक के ठीक एक दिन बाद राष्ट्र को संबोधित करने का फैसला लिया था, जब राष्ट्रव्यापी कोरोनोवायरस लॉकडाउन समाप्त होने वाला है। मार्च के अंत में अत्यधिक संक्रामक COVID-19 के प्रसार को धीमा करने की घोषणा के बाद से यह उनका पांचवा ऐसा संबोधन है। इससे पहले प्रधानमंत्री लॉकडाउन को लेकर पिछले महीने देश को संबोधित किया था। उस समय पीएम ने लॉकडाउन को बढ़ाए जाने का ऐलान किया था।  

प्रधानमंत्री मोदी ने पिछले संबोधन में देशव्यापी लॉकडाउन को 3 मई तक बढ़ाने का ऐलान किया था। कोरोना वायरस लॉकडाउन के 21वें दिन सुबह 10 बजे पीएम मोदी ने कहा था कि कोरोना वायरस के खतरे को देखते हुए देश में 3 मई तक लॉकडाउन रहेगा। इससे पहले प्रधानमंत्री ने कोरोना वायरस को फैलने से रोकने के लिए 25 मार्च को 21 दिन के देशव्यापी लॉकडाउन की घोषणा की थी।

शुरू में, लॉकडाउन को 21 दिन की अवधि पूरी करने के बाद 14 अप्रैल को समाप्त होना था। हालांकि, जैसे-जैसे कोरोनोवायरस के मामले बढ़ते रहे, इसे 3 मई तक और बाद में 17 मई तक बढ़ाया गया। जी हां कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों के कारण 25 मार्च से लॉकडाउन जारी है। 54 दिन का लॉकडाउन 17 मई को समाप्त होने वाला है। कोरोना वायरस को फैलने से रोकने के लिए यह लगाया गया था।

इसे जरूर पढ़ें: PM Modi ने Coronavirus को लेकर लिया बड़ा फैसला, इस दिन लगाया 'जनता कर्फ्यू'  

4 महीने से कोरोनावायरस से लड़ रही हैं दुनिया

आज देश को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, ''पूरी दुनिया चार महीने से कोरोनावायरस से लड़ रही हैं। एक वायरस ने दुनिया को तहस-नहस कर दिया है। सारी दुनिया जिंदगी बचाने के जंग में जुटी है। हमने ऐसा संकट न देखा है ना सुना है। निश्चित तौर पर मानव जाति के लिए अकल्‍पनिय है। लेकिन थकान, हारना, टूटना और बिखरना मानव को मंजूर नहीं है। हमें बचना भी है और आगे बढ़ना भी है।  

pm modi INSIDE

आगे मोदी जी ने कहा, ''सभी नियमों को पालन करते हुए बचना है और हराना भी है। आज दुनिया संकट में हैं तो हमें अपना संकल्‍प बढ़ाना होगा। अब सिर्फ एक रास्‍ता है आत्‍मनिर्भर भारत। आत्‍मनिर्भर भारत से हारेगा कोरोना। हमें बचना भी है आगे बढ़ना भी है। जब भारत में कोरोना युद्ध शुरू हुआ तब एक भी पीपीई नहीं बना था। लेकिन आज भारत में 2 लाख पीपीई और 2 लाख N-95 मास्‍क बनते हैं। भारत का जय जगत की संस्‍कृति में यकीन है। भारत का असर विश्‍व कल्‍याण पर पड़ता है। दुनिया को विश्‍वास होने लगा है कि भारत बहुत अच्‍छा करेगा। भारत विश्‍व कल्‍याण ही राय पर अटल है।''   

20 लाख करोड़ के स्‍पेशल पैकेज का ऐलान

आगे मोदी जी ने कहा, ''आत्‍मनिर्भर भारत 5 पिलर पर खड़ा होगा। पहला पिलर अर्थव्‍यवस्‍था, दूसरा इंफ्रास्ट्रक्चर, तीसरा पिलर सिस्‍टम, चौथा भौगोलिक विविधता और पांचवा पिलर डिमांड है। देश में डिमांड और सप्‍लाई में बैंलेस बनाएंगे। पीएममोदी ने विशेष पैकेज की घोषणा की। 2020 में 20 लाख करोड़ पैकेज का ऐलान किया। मोदी ने आत्‍मनिर्भर भारत अभिमान की घोषणा की। छोटे कारोबारियों के लिए बहुत बड़े पैकेज का ऐलान किया। आत्‍मनिर्भर भारत पैकेज से किसानों को बहुत मदद मिलेगी। 20 लाख करोड़ के खर्च की डिटेल कल से मिलेगी। कोरोना काल में बहुत बड़ा आर्थिक सुधार होगा। मिडिल क्‍लास को टैक्‍स से भी छूट मिल सकती हैं। देश में टैक्‍स सिस्‍टम और आसान बनेगा। छोटे करोबारी, किसान और मिडिल क्‍लास के लिए बड़ा पैकेज। ईमानदारी से टैक्‍स देने वाले मिडिल क्‍लास के लिए आर्थिक पैकेज। ग्‍लोबल सप्‍लाई चेन में आत्‍मनिर्भर भारत बड़ी भूमिका निभाएगा''

 

लोकल के लिए बनना है वोकल

''समय ने सिखाया है लोकल को ही जीवनमंत्र बनाना होगा। कोरोना संकट ने लोकल ने ही डिमांड पूरी की है और लोकल ने ही बचाया है। संकट के समय लोकल ही बचाएगा। हर देशवासी को लोकल के लिए वोकल बनना है। स्‍वदेशी अपनाओ और स्‍वदेशी का प्रचार भी करो। कोरोना वायरस लंबे समय तक हमारे जीवन का हिस्‍सा बना रहेगा। हम मास्‍क पहनेंगे और 2 फीट की दूरी बनाकर रखेंगे।'' 

इसे जरूर पढ़ें: पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा 21 दिन का Total Lockdown है कोरोना वायरस को रोकने का एकमात्र रास्ता

लॉकडाउन 4 का ऐलान

''17 मई के बाद भी देश का लॉकडाउन चलेगा। प्रधानमंत्री ने लॉकडाउन 4 का ऐलान किया। 18 मई से नया लॉकडाउन शुरू होगा। लेकिन लॉकडाउन 4 बिल्‍कुल नया होगा, इसमें नई शर्तें लागू होगी। 18 मई से पहले लॉकडाउन के नए नियम का ऐलान होगा। लॉकडाउन नए रंग रूप लाने वाला होगा।''