दुनिया के कई देश अपनी सुरक्षा का जिम्मा खुफिया एजेंसी को देते हैं। ये खुफिया एजेंसी अपने देश की सुरक्षा के लिए किसी भी हद तक जा सकती हैं। ये एजेंसियां देश और दुनिया में रह रहे हर नागरिक के विषय में जानकारी रखती हैं, ये बड़े ही शातिर तरीकों से अपना काम करती हैं। 

इनमें काम कर रहे लोगों कि कोई पहचान नहीं होती, इतना ही नहीं इनके काम के तरीकों के बारे में आम जनता को कुछ भी पता नहीं होता है। कई बार देश की सुरक्षा के लिए इन एजेंसियों के लोग अपनी पहचान बदलकर किसी भी देश में सालों बस जाते हैं और वहां से जुड़ी जानकारियां सेना और सरकार तक पहुंचाते हैं। 

आज के आर्टिकल में हम आपको दुनिया की उन खुफिया एजेंसियों के बारे में बताएंगे जो दुनियाभर में सबसे ज्यादा ताकतवर मानी जाती हैं। दुश्मन इन एजेंसियों के नाम से डरते हैं, इतना ही नहीं इन एजेंसियों में काम कर रहे अफसरों की जान पर हमेशा खतरा बना हुआ होता है। तो चलिए जानते हैं कौन सी हैं वो एजेंसियां जो हैं सबसे ज्यादा शक्तिशाली।

सीआईए

intelligence agencies

सेंट्रल इंटेलिजेंस एजेंसी दुनिया की सबसे मजबूत एजेंसियों में गिनी जाती है। यह अमेरिका की खुफीया एजेंसी है, जिसकी स्थापना साल 1947 में की गई थी। आपको बता दें कि इस एजेंसी का मुख्यालय फेयरफैक्स वर्जीनिया में स्थित है। यह एजेंसी अपने मजबूत नेटवर्क और अच्छी तकनीक के लिए जानी जाती है। अमेरिका देश को महाशक्ति के रूप में स्थापित करने का श्रेय इस एजेंसी को भी जाता है, जो कई सालों से अमेरिका में सुरक्षा बनाए हुए है। 

मोसाद

most powerfull agencies

मोसाद इजराइल देश की खुफिया एजेंसी है, जिसकी स्थापना 13 दिसंबर 1949 में की गई थी। इस एजेंसी का मुख्यालय इजराइल शहर के तेल अवीव में स्थित है। यह एजेंसी अपने काम करने के यूनिक तरीकों के लिए दुनिया भर में जानी जाती है। क्योंकि इजाराइल एक यहूदी देश है, यह एजेंसी भी यहूदियों की सुरक्षा के लिए काम करती है। इसके अलावा मोसाद आतंक विरोधी संगठनों के खिलाफ भी कई ऑपरेशन को अंजाम देती है।

सन 1972 के म्यूनिख ओलंपिक में जब आतंकवादियों ने 11 इजराइली खिलाड़ियों की हत्या कर दी थी, जिसके बाद मोसाद एजेंसी ने करीब 20 साल का ऑपरेशन चला कर एक-एक आतंकी को चुन-चुनकर मारा था। 

इसे भी पढ़ें- मुगल बादशाह अकबर की इन बेगमों के बारे में कितना जानते हैं आप? 

रॉ

indian intelligence agencies

यह भारत की खूफिया एजेंसी है, जिसके बारे में हम सभी जानते हैं। इस एजेंसी की स्थापना साल 1968 में की गई थी और इस एजेंसी का मुख्यालय दिल्ली में स्थित है। आपको बता दें कि ये एजेंसी विदेश सुरक्षा से जुड़े हुए मामलों को देखती है। रॉ ने आतंक के खिलाफ अब तक कई ऑपरेशन किए हैं। कहा जाता है कि 1971 मेंबांग्लादेश के निर्माण में भी इस एजेंसी ने बड़ी भूमिका निभाई थी। इसके अलावा पोखरण परमाणु परीक्षण के दौरान भी रॉ के काम की खूब तारीफ की गई।

इसे भी पढ़ें- जानें कितने बेरहम थे भारत के सबसे क्रूर शासक

आईएसआई 

powerful agencies

भारत के पड़ोसी देश पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी भी दुनिया भर में बहुत फेमस है। इस एजेंसी की स्थापना साल 1948 में की गई थी। आपको बता दें कि इस एजेंसी की शुरुआत एक ब्रिटिश आर्मी अफसर ने की थी। इसे पाकिस्तान के लिए सबसे महत्वपूर्ण एजेंसी भी माना जाता है। कई सालों से यह एजेंसी पाकिस्तान सरकार के लिए बहुत मजबूती से काम करती आ रही है, यहां तक कि अफगानिस्तान में युएसएसआर की हार का कारण भी इसी एजेंसी को माना जाता है।

Recommended Video

एमआई-6-

most powerfull agency

यह यूनाइटेड किंगडम की खुफिया एजेंसी है। जिसकी स्थापना 1909 में की गई थी। इस एजेंसी का मुख्यालय लंदन में स्थित है। एमआई- 6 एजेंसी को प्रथम विश्व युद्ध से पहले बनाया गया था, जिसने ब्रिटेन को युद्ध जीतने में बड़ी मदद की थी। इस एजेंसी की वजह से ही हिटलर ब्रिटेन में शासन नहीं फैला सका, बाद में इस एजेंसी ने हिटलर की हार में भी बड़ी भूमिका निभाई थी। 1994 तक इस एजेंसी का नाम भी नहीं सुना गया था, तब तक इस एजेंसी की कोई सार्वजनिक पहचान भी नहीं थी। 

तो ये थीं दुनिया की सबसे मजबूत खुफिया एजेंसियां, जिनके बारे आपको जरूर जानना चाहिए। हमारा आज का आर्टिकल अगर आपको पसंद आया हो तो इसे लाइक और शेयर करें, साथ ही ऐसी जानकारियों के लिए जुड़े रहें हर जिंदगी के साथ।

image credit- pyxis.nymag.com, defencelover.com, jagranjosh.com, worldatlas, dw.com, newsdin, duupdates.in, nocookie.net