• ENG
  • Login
  • Search
  • Close
    चाहिए कुछ ख़ास?
    Search

शालिग्राम की पूजा के दौरान भूलकर भी न करें ये 5 गलतियां, रूठ सकती हैं माता लक्ष्मी

सनातन धर्म में शालिग्राम की पूजा के कई लाभ बताए जाते हैं, लेकिन पूजन के दौरान आपके द्वारा की गई कुछ गलतियां आपके जीवन में दुखों का कारण बन सकता है।   
author-profile
Published -08 Aug 2022, 13:47 ISTUpdated -08 Aug 2022, 14:10 IST
Next
Article
do not make these mistakes in shaligram puja

हिन्दू धर्म में शालिग्राम की पूजा का विशेष महत्व बताया गया है। ऐसी मान्यता है कि जिस घर में शालिग्राम का वास होता है वहां माता लक्ष्मी की कृपा सदैव बनी रहती है। दरअसल शालिग्राम को भगवान विष्णु का प्रतीक माना जाता है इसलिए उनकी उपस्थिति लक्ष्मी जी को आकर्षित करती है।

ऐसा माना जाता है कि उनकी पूजा बड़ी ही श्रद्धा और नियम से करनी चाहिए जिससे घर में सदैव ही खुशहाली बनी रहे। जो लोग शालिग्राम को घर में रखते हैं वो उनकी पूजा नियमित रूप से करते हैं।

ऐसा माना जाता है कि शालिग्राम के पूजन के दौरान की गई कुछ गलतियां माता लक्ष्मी के रूठने का कारण भी बन सकती हैं। आइए ज्योतिर्विद पं रमेश भोजराज द्विवेदी जी से जानें पूजन के दौरान की गई कुछ गलतियों के बारे में जिनसे आपको बचना चाहिए। 

घर में साफ सफाई न रखना 

ऐसा माना जाता है कि जिस घर में शालिग्राम की शिला रखी होती है वहां यदि साफ सफाई न राखी गई तो आपको आर्थिक हानि हो सकती है। ऐसा माना जाता है कि जो घर में सफाई न रखते हुए शालिग्राम जी को रखता है उसके घर से बहुत जल्द ही माता लक्ष्मी रूठ जाती हैं। 

शालिग्राम को तुलसी के पास न रखना 

put tulsi leaves near shaligram

शालिग्राम की शिलाएं मुख्य रूप से नेपाल में बहने वाली गंडकी नदी में पाई जाती हैं। मान्यता अनुसार गंडक नदी को तुलसी का ही रूप माना जाता है। यही वजह है कि गंडकी नदी में भगवान विष्णु यानी शालिग्राम का वास होता है। यही वजह है कि यदि आप घर में शालिग्राम की शिला रख रहे हैं तो आपको इसे तुलसी के पास ही रखना चाहिए। यदि आप शालिग्राम को कुछ भोग लगाते हैं तो हमेशा ध्यान रखें कि भोग में तुलसी दल जरूर रखा हो। ऐसा न करने से भगवान विष्णु के साथ माता लक्ष्मी भी नाराज हो जाती हैं। 

इसे जरूर पढ़ें: Expert Tips: घर की सुख शांति के लिए भूलकर भी न रखें माता लक्ष्मी की ऐसी मूर्ति

शालिग्राम के पूजन में अक्षत का इस्तेमाल करना 

मान्यता अनुसार शालिग्राम जी के पूजन के दौरान अक्षत का इस्तेमालकरना शुभ नहीं माना जाता है। यदि आप पूजन में अक्षत का इस्तेमाल करती हैं तो ये घर की समृद्धि को कम कर सकता है। लेकिन यदि आप किसी वजह से अक्षत इस्तेमाल में ला रही हैं तो इस बात का ध्यान रखना चाहिए कि वो टूटे हुए न हों और हल्दी से रंगे हुए हों। 

घर में एक से अधिक शालिग्राम की शिला रखना 

LSL Design - Google Sheetsshaligram shila puja rules

कई बार लोग अज्ञानतावश शालिग्राम की एक से अधिक शिलाएं रखते हैं जो कि शुभ नहीं मानी जाती हैं। ऐसा माना जाता है कि यदि एक से अधिक शिलाएं रखी होती हैं तो आपके घर में कलह हो सकती है और धन की हानि भी हो सकती है। हमेशा शालिग्राम की एक ही शिला रखें और उसी की पूजा विधि विधान के साथ करें। 

इसे जरूर पढ़ें: Janmashtami 2022: कान्हा के जन्म का उत्सव जन्माष्टमी कब मनाया जाएगा, पूजा का शुभ मुहूर्त और महत्व जानें

घर में मांस मदिरा का सेवन करना 

ऐसी मान्यता है कि जिस घर में शालिग्राम की शिला रखी होती है उस घर में कभी भी मांस मदिरा का सेवन नहीं करना चाहिए। यदि आप ऐसा करते हैं तो ये भगवान विष्णु का अपमान करना है और इससे माता लक्ष्मी अवश्य ही नाराज हो जाती हैं। साथ ही, ऐसे घर में कभी भी समृद्धि का वास नहीं होता है। 

इस प्रकार यदि आप शालिग्राम की पूजा घर में करती हैं तो आपको यहां बताई कुछ गलतियों से बचने की सलाह दी जाती है। अगर आपको यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे शेयर जरूर करें। इसी तरह के अन्य रोचक लेख पढ़ने के लिए जुड़ी रहें आपकी अपनी वेबसाइट हरजिन्दगी के साथ। 

Image Credit:  freepik, shutterstock

बेहतर अनुभव करने के लिए HerZindagi मोबाइल ऐप डाउनलोड करें

Her Zindagi
Disclaimer

आपकी स्किन और शरीर आपकी ही तरह अलग है। आप तक अपने आर्टिकल्स और सोशल मीडिया हैंडल्स के माध्यम से सही, सुरक्षित और विशेषज्ञ द्वारा वेरिफाइड जानकारी लाना हमारा प्रयास है, लेकिन फिर भी किसी भी होम रेमेडी, हैक या फिटनेस टिप को ट्राई करने से पहले आप अपने डॉक्टर की सलाह जरूर लें। किसी भी प्रतिक्रिया या शिकायत के लिए, compliant_gro@jagrannewmedia.com पर हमसे संपर्क करें।