हमारे देश में शादी एक बहुत ही सीरियस टॉपिक है और इसके लिए लोग काफी मेहनत भी करते हैं। माता-पिता और लड़का-लड़की ही नहीं बल्कि रिश्तेदार, आस-पड़ोस वाले और मेट्रिमोनियल साइट और एजेंसी भी सही पार्टनर चुनने की दौड़ में लगी रहती हैं। ऐसे में अगर कहीं से निराशा हाथ लगे तो यकीनन लोगों को बहुत ज्यादा चिंता होती है। पर अक्सर लोग इसे किस्मत मानकर भूल जाते हैं। पर क्या वाकई ऐसा होना चाहिए? मेट्रिमोनियल वेबसाइट या एजेंसी को इसके लिए बाकायदा पैसा लेती हैं और ऐसे में अगर वो भी अपना काम न कर पाएं तो क्या कस्टमर बुरा महसूस न करे? 

चंडीगढ़ में एक ऐसा मामला सामने आया है जहां एक मेट्रिमोनियल एजेंसी ने एक लड़की के लिए सही वर नहीं ढूंढकर दिया तो उसे अपने क्लाइंट को पैसे वापस करने पड़े। चंडीगढ़ की एक डॉक्टर लड़की के माता-पिता कंज्यूमर कोर्ट गए जहां मेट्रिमोनियल एजेंसी के खिलाफ पैसे रिफंड न करने के एवज में शिकायत दर्ज करवाई गई।  

क्या है पूरा मामला? 

चंडीगढ़ में रहने वाले सुरेंद्र पाल सिंह चहल और उनकी पत्नी नरेंद्र कौर चहल कंज्यूमर फोरम गए एक मेट्रिमोनियल एजेंसी Wedding Wish Private Limited से इन्होंने सर्विस ली। उनकी बेटी हरियाणा सरकार में मेडिकल ऑफिसर के पद पर काम करती है। उनके मुताबिक उन्होंने एजेंसी को पूरी बात बताई थी कि लड़की मांगलिक है, जाट है और एजेंसी को उन्होंने ऐसे ही रिश्ते दिखाने को कहा जो जाट, मांगलिक और डॉक्टर हो।  

 matrimonial sites in india

इसे जरूर पढ़ें- 3000 रुपए से कम में रज़ाई से जैकेट तक, ऐसे कीजिए सर्दियों की तैयारी 

एजेंसी से आश्वासन मिला कि ऐसा ही होगा और कम से कम 18 सही रिश्ते बताए जाएंगे। जो अगले 9 महीने में बताए जाएंगे। सर्विस एग्रीमेंट भी हो गया और एजेंसी को 50 हज़ार रुपए की मेंबरशिप फीस भी दे दी गई। पर इसके बाद एजेंसी का वादा झूठा साबित हुआ।  

चहल परिवार का आरोप है कि उन्हें जो रिश्ते दिखाए गए वो उनकी उम्मीद के हिसाब से नहीं थे। कुछ डॉक्टर नहीं थे, कुछ जाट नहीं थे और समय बर्बाद किया गया। अपनी शिकायत में चहल परिवार ने कहा कि लड़की के लिए रिश्ता सही नहीं आया और एजेंसी ने उनसे धोखा किया। उन्होंने सही लड़का नहीं ढूंढा ताकि उनकी बेटी की शादी हो सके।  

Recommended Video

एजेंसी को परिवार ने भेजा लीगल नोटिस- 

बहुत समय बर्बाद करने के बाद 22 अक्टूबर 2018 को परिवार ने एजेंसी को लीगल नोटिस भेजा। अपने लिए रिफंड की मांग की। लेकिन एजेंसी का कोई जवाब नहीं आया। ऐसे में थक-हारकर चहल परिवार ने 6 दिसंबर 2019 को एजेंसी के खिलाफ कंज्यूमर फोरम में शिकायत दर्ज करवा दी। 

consumer rights in india

इसे जरूर पढ़ें- मनीष मल्होत्रा की दिवाली पार्टी में शिल्पा से लेकर वाणी तक कुछ ऐसा था सेलेब्स का अंदाज़

अब कंज्यूमर फोरम का फैसला आया है कि मेंबरशिप फीस, सर्विस चार्ज और इंट्रेस्ट सब कुछ लौटाने को कहा गया है और ये आंकड़ा 62000 रुपए हो रहा है। इसमें 50 हज़ार सर्विस चार्ज जो चहल परिवार ने उन्हें दिया था, 7000 इंट्रेस्ट जो उस सर्विस चार्ज पर लगा था और 5000 शिकायत की कॉस्ट शामिल है।  

शादी के लिए शॉपिंग, तैयारी और अन्य काम से ज्यादा जरूरी है सही लड़का चुनना। ऐसे में अगर कोई एजेंसी पैसे ठग ले तो बुरा जरूर लगता है। ऐसे में कंज्यूमर फोरम का ये फैसला काफी सही लग रहा है। 

अब अगर आपके आस-पास भी ऐसा कुछ हो रहा हो तो कंज्यूमर फोरम जरूर जाएं।