घर बड़ा हो या छोटा, हम उसमें एक गार्डन बनाना जरूर पसंद करते हैं, ताकि जब हमें सुकून से बैठने का मन करें तो हम अपने फूल-पौधों के बीच बैठ सकें। हम ऐसे सुंदर गार्डन्स को प्लान करते हैं, जिसे देखकर हमारा मन खुश हो सके। एक लंबे और थके हुए दिन के बाद, हर कोई घर के ऐसे कोने में बैठना चाहता है, जहां वह अपने साथ वक्त बिता सके। हालांकि आज खुले और बड़े गार्डन बनाने का चलन गायब सा हो जा रहा है, लेकिन अगर आपके पास अच्छी स्पेस है और आप एक सुंदर और परफेक्ट गार्डन बनाना चाहें, तो फिर मून गार्डन बना सकते हैं। कई सारे गार्डनर को मून गार्डन की समझ नहीं है। कुछ लोग इसके बारे में और इसकी खासियत जानते हैं, मगर कुछ लोग इससे एकदम अनजान हैं। यह मून गार्डन है क्या? आइए पहले जानें मून गार्डन के बारे में।

डेकोर एक्सपर्ट मुस्कान गौर बताती हैं, 'एक अच्छी तरह से डिजाइन किया गया मून गार्डन अच्छा लगता है और आकर्षक दिखता है। डे-टाइम वाले गार्डन आपको वह सुकून नहीं पहुंचा सकते, जो यह गार्डन पहुंचाता है। फूल और पौधों में दिखती हुई चांद की रोशनी और फूलों से आती खुशबू आपकी इंद्रियों को शांत करती है।'

मून गार्डन क्या है?

about moon garden

मून गार्डन एक सिंपल, सुंदर व्हाइट और रंग-बिरंगे फूलों का गार्डन होता है। इसमें ऐसे फूल और पौधों को शामिल किया जाता है, जो रात को एक अच्छी खुशबू रिलीज करते हैं और रात को खुलते हैं। गार्डन में ऐसे फूल चांद की रोशनी को प्रतिबिंबित करते हैं और अंधेरे में रोशनी बनाए रखते हैं।

मून गार्डन में क्या लगाएं?

आपको ऐसे गार्डन में इस तरह के फूल लगाने चाहिए, जो दिन की धूप में एकदम वाइब्रेंट दिखें। लाल और पर्पल रंग फूल ऐसे में ज्यादा सुंदर लगेंगे। इसके अलावा आप व्हाइट, येलो, पिंक और लेवेंडर रंग के फूलों को चुन सकती हैं। इसके अलावा कोई भी गार्डन मून फ्लावर के बिना एकदम अधूरा है।

कैसा होता है मून फ्लावर?

मून फ्लावर छह इंच के सफेद फूलों की एक बेल होती है, जो शाम होते ही खुल जाती है। इस फूल से लेमनी फ्रेगनेंस आती है और इसकी खुशबू कई दूर तक कीड़ों को खींचती है। अगर आपके गार्डन एरिया में फेंस है, तो आप कोबेया स्कैंडंस या कप और सॉसर वाइन एक बढ़िया विकल्प है। वहीं अगर आप एग्जोटिक खुशबू चाहते हैं, तो नाइट-ब्लूमिंग जैस्मीन एकदम सही रहेगा। इसे खरीदते वक्त यह ध्यान रखें कि इसे ज्यादा न खरीदें, क्योंकि इसके एक पौधे की ही काफी खुशबू होती है।

इसे भी पढ़ें :टैरेस गार्डन या रूफटॉप गार्डन बनाने के बारे में सोच रही हैं तो जानें इन 5 टिप्स को

कैसे लगाएं मून गार्डन?

flowers in moon garden

मून गार्डन डिजाइन करते समय, सबसे पहले उपयुक्त साइट का चयन करें। मून गार्डन का लेआउट बड़ा भी हो सकता है और छोटा सा फ्लावर बेड भी बन सकता है। लेकिन ऐसी साइट को चुनें, जहां रात में आसानी से आप जा सकें। अक्सर, यह गार्डन पैटियो, आपके घर की बड़ी खिड़की के सामने या फिर आंगन में बनाया जाता है। साथ ही ध्यान रखें कि यह गार्डन ऐसी जगह हो, जहां पौधे मूनलाइट या आर्टिफिशियल लाइट में एक्सपोज हो सके।

इसे भी पढ़ें :गार्डन को स्मार्टली डेकोर करने के लिए इस तरह लें वेस्ट मैटीरियल की मदद

मून गार्डन में साउंड भी जरूरी

जी हां, आपका मून गार्डन ऐसा होना चाहिए, जिसकी खुशबू, फूल, रोशनी की छाया और साउंड आपके मन को सुकून पहुंचाए। इसके लिए जरूरी है आप अपने गार्डन में छोटा टेबल टॉप फाउंटेन लगा सकती हैं। ऐसा करने से पानी में चांद की रोशनी और सुंदर लगेगी। आप अपने गार्डन में विंड चाइम्स भी जोड़ सकती हैं। सजावटी घास, स्टेम्स जैसी चीजें मून गार्डन में एक अलग फीचर जोड़ेगी।

अब आप जान ही गई हैं कि मून गार्डन कैसे बनाया जाता है, तो आप भी ऐसे ही अपने घर में मून गार्डन बनाएं। आपको यह आर्टिकल पसंद आया हो तो इसे लाइक और शेयर करें। ऐसे अन्य आर्टिकल पढ़ने के लिए जुड़े रहें हरजिंदगी के साथ।

Image Credit: housebeautiful & freepik