अगर आपने नया घर बनवाया है तो जाहिर सी बात है आप अपने घर का कोई नाम रखने और नेम प्लेट बनावाने के सोच रही होंगी। जब भी आपके घर कोई मेहमान और अन्य व्यक्ति आता है, तो सबसे पहले उसकी नजर आपके नेम प्लेट पर ही पड़ती है। नेम प्लेट ही वह पहली चीज होती है जिसके जरिए घर के इंटिरियर का पता लगाया जा सकता है। नेम प्लेट आपके व्यक्तित्व के बारे में भी काफी कुछ बता देती है, इसलिए इसका चुनाव बहुत सोच-समझकर करना चाहिए। तो आइए जानें घर की नाम प्लेट बनवाते समय आपको किन-किन बातों का ध्यान रखना होगा।

tips for making name plates for home inside

इसे जरूर पढ़ें: टैरेस गार्डन या रूफटॉप गार्डन बनाने के बारे में सोच रही हैं तो जानें इन 5 टिप्स को

  • घर के मेनगेट के डिजाइन और साइज के हिसाब से ही नेम प्लेट का डिजाइन और साइज चुनें। इस बात का ध्‍यान रखें कि दरवाजे और जिस दीवार पर नेम प्लेट लगवा रही हैं, वहां वह बहुत ज्यादा छोटा या बड़ा ना दिखें।
  • घर के लिए नेम प्लेट बनवाते समय इस बात का ध्‍यान रखें कि हमेशा अच्छी क्वालिटी का ही चुनाव करें, क्योंकि दरवाजे और बाहर लगे मेनगेट को बार-बार खोलना और बंद करना पड़ता हैं। ऐसे में अगर नेम प्लेट मजबूत नहीं होगा तो जल्द ही टूट जाएगा।

making name plates for home inside

 

  • आजकल बाजार में तरह-तरह के नेम प्लेट उपलब्‍ध हैंं। आप अपने घर (घर को सजाने के आइडियाज) को जैसा लुक देना चाहती हैं उसी हिसाब से नेम प्लेट का चुनाव करें, जैसे अगर ट्रडिशनल लुक रखना चाहती हैं तो वुडन या स्लेट का बना नेम प्लेट आपके लिए सही रहेगा। वहीं, अगर क्‍लासी लुक देना चाहती हैं तो एल्युमिनियम, ब्रास, सिरेमिक, एक्रेलिक, स्टील, ग्रेनाइट में से किसी का भी चुनाव कर सकती हैं।

Recommended Video

  • दरवाजे की डिजाइन और शेप को भी ध्यान में रखते हुए नेम प्लेट की शेप का चुनाव करें, जैसे- ओवल, रैक्टेंगल इत्‍यादि। इस बात का भी ध्‍यान रखें कि नेम प्लेट के फॉन्ट्स औए कलर ऐसा होना चाहिए, जिन्हें आसानी से किसी भी उम्र का व्यक्ति पढ़ सके।
  • नेम प्लेट पर जब अपना नाम लिखवाएं तो उस पर भी ध्यान दें। नेम प्लेट बहुत ज्यादा भरा हुआ और ना ही बहुत ज्‍यादा खाली लगे। अगर आपका नाम छोटा है तो फॉन्ट साइज को हमेशा बड़ा रखें।

keep these things in mind when making name plates inside

  • नेम प्लेट को इतना बड़ा जरूर रखें कि उस पर नाम, सरनेम और हाऊस नंबर आदि सब लिखा जा सके और कम से कम एक या दो फुट की दूरी से कोई भी इसे पढ़ सके।
  • कोशिश करें कि मेन गेट और नेम प्लेट चमकीला हो। ताकि यह आपके घर आने वाले मेहमानों को आकर्षित कर सके।
  • नेम प्लेट हमेशा स्टाइलिश बनवाएं लेकिन बहुत ज्‍यादा भड़कीला ना बनवाएं बल्कि सिंपल रखें। इसे कई तरह के डिजाइन्स, देवी-देवताओं की प्रतिमाओं, कैलीग्राफी या नक्काशी के साथ मिक्स ना करें।
  • नेम प्लेट पर धूल न चढ़ने दें और नियमित रूप से इसकी साफई करें।
  • घर के मेनगेट को गणेश जी की प्रतिमा, तस्वीरों, ॐ और स्वास्तिक जैसे पवित्र चिंहों से सजाएं। यह दिखने में सुंदर लगते हैं और इनसे घर (इन इंटीरियर डिजाइन को जरूर करें शामिल) में सकारात्मक ऊर्जा भी आती है।

name plates for home inside

वास्तु के हिसाब से नेम प्लेट-

  • वास्तु के हिसाब से घर के बाहर हमेशा नेम प्लेट लगाना चाहिए, ये माथे पर टीके के समान होता है। वास्तु के हिसाब से घर का मेनगेट सिर्फ घर के अंदर आने की जगह ही नहीं होती बल्कि यहीं से ऊर्जा का प्रवाह होता है।

some tips for making name plates for home inside

इसे जरूर पढ़ें: इन छोटे-छोटे टिप्स की मदद से घर की छोटी सीढ़ियों को दें एक यूनिक लुक

  • सकारात्मकता ऊर्जा पाने के लिए नेम प्लेट के लिए हमेशा सही मटीरियल का चुनाव करें। अगर मेनगेट नॉर्थ या वेस्ट दिशा में है तो धातु की नेम प्लेट चुनें। अगर मेनगेट साऊथ या ईस्ट की ओर है तो लकड़ी की नेम प्लेट लगवाएं। अगर आपको ये जानकारी अच्छी लगी तो जुड़ी रहिए हमारे साथ। इस तरह की और जानकारी पाने के लिए पढ़ती रहिए हरजिंदगी।

Photo courtesy- (amazon.com, hitchki.in, n4.sdlcdn.com, cdn.shopify.com, i.pinimg.com, cdn.shopify.com)